Monday, February 24, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को जाता है बदला-बदली के दौर को ख़त्म करने का श्रेय : नरेंद्र ठाकुरब्रेकिंग : शिक्षा विभाग उठाएगा एसिड पीड़ित छात्राओं के इलाज का ख़र्च , जाँच के बाद निष्कासित होगा आरोपित छात्र , पीड़ित परिवार को नहीं मिली एफ़आईआर की कॉपी(ब्रेकिंग) हमीरपुर : मर्डर केस में पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी आमिर खान, गिरफ़्तारी के बाद पुलिस ने तेज़ की जाँच Breaking News : नारकंडा में कार दुर्घटनाग्रस्त एक की मौतएसिड प्रकरण : आरोपी के ख़िलाफ़ रविवार को एफ़आईआर नंबर 13/2020 दर्ज, उटपुर पीएचसी से पुलिस ने लिए एमएलसी, आई जाँच में तेज़ी।एसिड प्रकरण : राम भरोसे सरकारी स्कूलों की विज्ञान प्रयोगशालाएँ , चपड़ासी से प्रोमोट हो लैब अटेंडेंट दे रहे सेवाएँ, हाई स्कूलों में नहीं है लैब अटेंडेंट की पोस्टअपडेट: एसिड पीड़िता शिवांगी का बयान लिख वापिस लौटी पुलिस, आज स्कूल प्रशासन से होगी पूछताछ, सिर्फ़ उटपुर में ही हुआ पीड़िता का इलाज, टौणी देवी या हमीरपुर में इलाज की ख़बरें निकली झूठीसरकाघाट राजदेई वृद्धा मामला : हाई कोर्ट से राहत मिली एक आरोपी को , गाँव में घुसे 23, राजदेई भी बेटी संग बड़ा समाहल में, जान को ख़तरा
-
कर्मचारी

8 जनवरी को हड़ताल करेंगे मज़दूर--डॉ कशमीर ठाकुर

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | October 25, 2019 04:41 PM

शिमला,

मज़दूर संगठन सीटू मंडी ज़िला कमेटी की बैठक कामरेड तारा चन्द भवन मंडी में ज़िला अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह आयोजित की गई।जिसमें सीटू के राष्ट्रीय सचिव डॉ कशमीर सिंह ठाकुर औऱ राज्य महासचिव प्रेम गौतम विशेष तौर पर उपस्थित हुए।इसके अलावा ज़िला महासचिव राजेश शर्मा के अलावा रविकांत, रमेश गुलेरिया, गुरदास वर्मा, राजकुमारी, सुमित्रा, हमिन्द्री शर्मा, विमला शर्मा, सुदर्शना, सरोज, नरेश कुमार, सन्तोष कुमार, नरेंद्र कुमार, सुरेंद्र कुमार, दीपक कुमार, ललित कुमार, राजेन्द्र सिंह, सोहन लाल सहित 35 सदस्यों ने भाग लिया।बैठक में डॉ कश्मीर सिंह ठाकुर ने बताया कि आगामी 8 जनवरी 2020 को सभी मज़दूर संगठन व यूनियनें मिलकर केंद्र सरकार की सार्वजनिक क्षेत्र के निजीकरण के ख़िलाफ़,मज़दूर विरोधी नीतियों व श्रम कानूनों में किये जा रहे मज़दूर विरोधी बदलावों और नए मोटर वाहन एक्ट के खिलाफ देशव्यापी हड़ताल की जाएगी।जिसकी तैयारी के लिए 1 नवम्बर को शिमला में सयुंक्त ट्रेड यूनियनों का राज्य स्तरीय अधिवेशन आयोजित किया जाएगा।उसके बाद ज़िला औऱ यूनियन स्तर पर मजदूरों की मीटिंगे की जाएगी और 22 दिसंबर को मंडी में सीटू की विस्तारित बैठक की जाएगी।सीटू राज्य महासचिव प्रेम गौतम ने कहा कि मोदी सरकार राज्यों में बने श्रमिक कल्याण बोर्डों को खत्म करने जा रही है जिसके ख़िलाफ़ 5 दिसंबर को दिल्ली में देशव्यापी प्रदर्शन औऱ रैली की जाएगी जिसमें हिमाचल प्रदेश से एक हज़ार मजदूर भाग लेंगे।बैठक में आंगनवाड़ी औऱ मिड डे मील वर्करों को सरकारी कर्मचारी बनाने औऱ उन्हें न्यूनतम 18 हज़ार रुपये वेतन देने की मांग की गई।आंगनवाड़ी यूनियन की राज्य महासचिव राजकुमारी ने कहा कि एक तरफ़ विभाग ने वर्करों को आई फ़ोन देकर आनलाइन मॉनिटरिंग शुरू कर दी है लेकिन उन्हें न्यूनतम वेतन देने के लिए इनकार कर रही है जिसका यूनियन विरोध कर रही है और राष्ट्रीय स्तर पर इस बारे योजना बनाने के लिए आंध्रप्रदेश के सुन्दरमुंद्री ज़िला में 17-20 नवंबर से होने वाले सम्मेलन में योजना बनाएंगे। ज़िला अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार आउटसोर्सिग आधर पर भर्तियां कर रही लेकिन उनके लिए नीति बनाने के लिए मुकर गयी है जिसके चलते सीटू आने वाली 24 नवंबर को मंडी में आऊटसोर्स मज़दूरों की बैठक की जाएगी और उसके बाद आंदोलन शुरु किया जाएगा।बैठक में मिड डे मील वर्करों को स्कूलों में नियुक्त किए जा रहे एम टी एस वर्कर के रूप में समायोजित करने की मांग की गई।बैठक में राज्य श्रमिक कल्याण बोर्ड से निर्माण और मनरेगा मजदूरों को मिलने वाली सहायता सामग्री को जल्दी वितरित करने की भी मांग की गई।

Have something to say? Post your comment
 
और कर्मचारी खबरें