Monday, May 25, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
राज्य

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में लाभार्थियों को दिए 7.14 करोड़

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | November 04, 2019 06:50 PM


मंडी,

 

उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि मंडी जिले में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत 18087 लाभार्थियों को 7.14 करोड़ रुपए वितरित किए गए हैं। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित इस योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को योजना से जोड़ने पर बल दिया जा रहा है ताकि वे इस योजना का लाभ ले सकें।
वे सोमवार को यहां प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत गठित जिला स्तरीय निगरानी एवं संचालन समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरेंद्र तेगटा ने योजना का विस्तृत ब्यौरा दिया।
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि इस योजना के तहत विशेष ध्यान गर्भवती महिलाओं और शिशुओं की अच्छे से देखभाल तथा मृत्यु दर में कमी लाने पर है। योजना के माध्यम से काम करने वाली महिलाओं की मजदूरी के नुकसान की भरपाई करने के लिए मुआवजा देने और उनके उचित आराम और पोषण पर ध्यान देने के अलावा गर्भवती महिलाओं और स्तनपान करवाने वाली माताओं का स्वास्थ्य सुधार सुनिश्चित किया जा रहा है।
गौरतलब है कि भारत सरकार की प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अतंर्गत सरकार द्वारा गर्भवती और स्तनपान करवाने वाली माताओं को पहले बच्चे के जन्म पर 6 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि गर्भवती महिलाओं के बैंक खाते में डाली जाती है।
योजना के तहत एक हजार रुपये की पहली किस्त गर्भावस्था के पंजीकरण के समय मिलेगी, दूसरी किस्त में छः महीने की गर्भावस्था के बाद प्रसवपूर्व जांच कर लेने पर दो हजार रुपये तथा बच्चे के जन्म पंजीकरण और बीसीजी, ओपीवी, डीपीटी और हेपेटाइटिस-बी सहित टीके का चक्र शुरू होने पर तीसरी किस्त दी जाती है।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त आशुतोष गर्ग, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पुनीत रघु, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जीवानंद चौहान, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरेंद्र तेगटा, जिले के बाल विकास परियोजना अधिकारियों सहित विभिन्न एनजीओ के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Have something to say? Post your comment
 
और राज्य खबरें
अप्पर पंजावर का वार्ड एक और 2 कन्टेनमेंट जोन घोषित पठानकोट से 4 बसों में लाए गए 94 लोग  मिल्कफेड अध्यक्ष ने दुग्ध उत्पादकों को कहा ‘थैंक्स’ भाजपा ने अनुसूचित जाति मोर्चा व ओ0बी0सी0 मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों व जिलाध्यक्षो की घोषणा की। जिला दण्डाधिकारी सोलन के.सी. चमन ने आवश्यक आदेश किए जारी कोरोना योद्धाओं की भूमिका में एचआरटीसी के ड्राइवर-कंडक्टर अंतर जिला आवाजाही के लिए कर्यू पास अनिवार्य बाहरी प्रदेशों के श्रमिकों के लिए आत्म निर्भर भारत योजना  लाहुल स्पीति के काजा उपमंडल में गुरुवार को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया गया अनुराग ठाकुर ने कहा केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश को 367.84 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं