Monday, May 25, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
राज्य

हमीरपुर : गरीबों के खोखे उजाडक़र शहर का कैसा सौंदर्यीकरण कर रही सरकार : अभिषेक राणा

रजनीश शर्मा | November 06, 2019 04:01 PM
हिमाचल प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया के चेयरमैन अभिषेक राणा


हमीरपुर , 
बस अड्डा हमीरपुर के पास लगते खोखा धारकों को नए बनाए काम्प्लेक्स में बिना किसी तैयारी के शिफ्ट करने के मामले पर हिमाचल प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया के चेयरमैन अभिषेक राणा ने कहा है कि शहर का सौंदर्यीकरण जरूरी है लेकिन गरीबों को उजाडक़र व बिना किसी प्लान के ऐसा करना सही नहीं है। जारी प्रेस विज्ञप्ति में उन्होंने कहा कि बेहतर होता कि सरकार पहले उनके लिए सालों पहले बनाए काम्प्लेक्स की खामियां दूर करती हैं। उन्होंने कहा कि सुनसान पड़े काम्प्लेक्स की दीवारें सीलन भरी हैं। दुकानें इतनी छोटी व संकरी हैं जिनमें दुकानदार सामान रखेंगे या खुद बैठेंगे। उन्होंने कहा कि अब खोखाधारकों को नोटिस निकाले जा रहे हैं कि खोखो को खाली करों, जबकि वे अपना सामान लेकर कहां रखेंगे, इसके बारे में कोई नीति स्पष्ट नहीं की है। उन्होंने कहा कि खोखाधारक बार-बार सरकार से इसी मामले को उठा रहे हैं कि उन्हें पहले वाजिब जगह मुहैया करवाई जाए। उन्होंने कहा कि सालों से काम्प्लेक्स के निर्माण के बावजूद अब तक इसके सुनसान रहने का कारण भी यही है कि दुकानें सही तरीके से बनाई ही नहीं गई हैं। उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे डिब्बों में बनाई गई दुकानें किसी भी लिहाज से ठीक नहीं है। ऐसे में दुकानदार खोखो से उठकर इन सीलन भरी दुकानों में कैसे जाएंगे। उन्होंने कहा कि नोटिस देने से पहले इस काम्प्लैक्स को ठीक किया जाना जरूरी है। इन दुकानों को लेकर दुकानदारों ने जो आपत्ति जताई है, उनका निराकरण किया जाना जरूरी है। उसके बाद दुकानदारों को वर्तमान खोखो से हटाकर उनकी राय जानकर ही नए काम्प्लेक्स में बसाया जाए तो तर्क संगत लगता है। उन्होंने कहा कि यकायक खोखो को खाली कर दुकानदार कहां जाएंगे, क्योंकि खोखो की संख्या 60 के करीब है जबकि इन खोखो से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से डेढ़ सौ से ऊपर परिवारों की रोजी-रोटी जुड़ी हुई है।

 

 

 

Have something to say? Post your comment
 
और राज्य खबरें
अप्पर पंजावर का वार्ड एक और 2 कन्टेनमेंट जोन घोषित पठानकोट से 4 बसों में लाए गए 94 लोग  मिल्कफेड अध्यक्ष ने दुग्ध उत्पादकों को कहा ‘थैंक्स’ भाजपा ने अनुसूचित जाति मोर्चा व ओ0बी0सी0 मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों व जिलाध्यक्षो की घोषणा की। जिला दण्डाधिकारी सोलन के.सी. चमन ने आवश्यक आदेश किए जारी कोरोना योद्धाओं की भूमिका में एचआरटीसी के ड्राइवर-कंडक्टर अंतर जिला आवाजाही के लिए कर्यू पास अनिवार्य बाहरी प्रदेशों के श्रमिकों के लिए आत्म निर्भर भारत योजना  लाहुल स्पीति के काजा उपमंडल में गुरुवार को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया गया अनुराग ठाकुर ने कहा केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश को 367.84 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं