Monday, November 18, 2019
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
पंचायत उपचुनाव परिणाम : रणबीर ज्योली देवी तो सुरजीत बने सौर पंचायत के प्रधान, सतीश (दाँदड़ू) संजीव (बफड़ी)प्रकाश ( चमनेड) बामदेव (नौहगी) राकेश बने मण पंचायत के उपप्रधान क़ाज़ा से उठी नशीले पदार्थों के ख़िलाफ़ आवाज़, एडीएम ज्ञान सागर ने दिलाई शपथ समाज सेवा का सशक्त माध्यम है पत्रकारिता, पत्रकार स्वस्थ पत्रकारिता को अपनायें : हरिकेश मीणाब्रेकिंग : वृद्ध महिला से क्रूरता मामले में एसएचओ सरकाघाट और एक हेड कांस्टेबल लाइन हाजिरअसली डायन/ भूत कौन - 81 वर्षीय राजदेई, 71 वर्षीय कृष्णा देवी , 70 वर्षीय जयगोपाल या फिर 28 वर्षीय पुजारिन निशु असली डायन/ भूत कौन - 81 वर्षीय राजदेई, 71 वर्षीय कृष्णा देवी , 70 वर्षीय जयगोपाल या फिर 28 वर्षीय पुजारिन निशु हमीरपुर : उपायुक्त की पहल पर सज़ा साप्ताहिक बाजार, हाथों हाथ बिकी 5 क्विंटल हरी सब्जियांसराहकड़ ( हमीरपुर) : सरकार-प्रशासन से नहीं माँगी मदद, श्मशान घाट बनाने खुद उतर पड़े गांव वाले
-
राज्य

हमीरपुर : गरीबों के खोखे उजाडक़र शहर का कैसा सौंदर्यीकरण कर रही सरकार : अभिषेक राणा

रजनीश शर्मा | November 06, 2019 04:01 PM
हिमाचल प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया के चेयरमैन अभिषेक राणा


हमीरपुर , 
बस अड्डा हमीरपुर के पास लगते खोखा धारकों को नए बनाए काम्प्लेक्स में बिना किसी तैयारी के शिफ्ट करने के मामले पर हिमाचल प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया के चेयरमैन अभिषेक राणा ने कहा है कि शहर का सौंदर्यीकरण जरूरी है लेकिन गरीबों को उजाडक़र व बिना किसी प्लान के ऐसा करना सही नहीं है। जारी प्रेस विज्ञप्ति में उन्होंने कहा कि बेहतर होता कि सरकार पहले उनके लिए सालों पहले बनाए काम्प्लेक्स की खामियां दूर करती हैं। उन्होंने कहा कि सुनसान पड़े काम्प्लेक्स की दीवारें सीलन भरी हैं। दुकानें इतनी छोटी व संकरी हैं जिनमें दुकानदार सामान रखेंगे या खुद बैठेंगे। उन्होंने कहा कि अब खोखाधारकों को नोटिस निकाले जा रहे हैं कि खोखो को खाली करों, जबकि वे अपना सामान लेकर कहां रखेंगे, इसके बारे में कोई नीति स्पष्ट नहीं की है। उन्होंने कहा कि खोखाधारक बार-बार सरकार से इसी मामले को उठा रहे हैं कि उन्हें पहले वाजिब जगह मुहैया करवाई जाए। उन्होंने कहा कि सालों से काम्प्लेक्स के निर्माण के बावजूद अब तक इसके सुनसान रहने का कारण भी यही है कि दुकानें सही तरीके से बनाई ही नहीं गई हैं। उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे डिब्बों में बनाई गई दुकानें किसी भी लिहाज से ठीक नहीं है। ऐसे में दुकानदार खोखो से उठकर इन सीलन भरी दुकानों में कैसे जाएंगे। उन्होंने कहा कि नोटिस देने से पहले इस काम्प्लैक्स को ठीक किया जाना जरूरी है। इन दुकानों को लेकर दुकानदारों ने जो आपत्ति जताई है, उनका निराकरण किया जाना जरूरी है। उसके बाद दुकानदारों को वर्तमान खोखो से हटाकर उनकी राय जानकर ही नए काम्प्लेक्स में बसाया जाए तो तर्क संगत लगता है। उन्होंने कहा कि यकायक खोखो को खाली कर दुकानदार कहां जाएंगे, क्योंकि खोखो की संख्या 60 के करीब है जबकि इन खोखो से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से डेढ़ सौ से ऊपर परिवारों की रोजी-रोटी जुड़ी हुई है।

 

 

 

Have something to say? Post your comment
 
और राज्य खबरें
चौपाल पंचायत उप चुनाव में मधाना पंचायत से विजय,जावग छमरोग से संदीप बने प्रधान। गुरू नानक देव जी की शिक्षाएं समस्त मानव जाति के लिए अमृत समान- डाॅ. सैजल जिला ऊना में पंचायत उप-चुनाव में 56.88 प्रतिशत मतदानः डीसी  चौपाल की दो पंचायतों में हुए उप चुनाव में 71 प्रतिशत मतदान। वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कैदी में राज्य युवा नेतृत्व शिविर का आयोजन। थुनाग में 2 करोड़ से बनेगा रेशम बीज उत्पादन केन्द्र: जवाहर ठाकुर देश के 90 प्रतिशत जनजातीय ज़िलों में वनवासी आश्रम प्रतिबद्धता के साथ कार्यरत- अनुराग ठाकुर नशा निवारण अभियान के तहत बहुविशेषज्ञ चिकित्सा शिविर आयोजित  हिमगिरी कल्याण आश्रम जनजातीय एवं अति पिछड़े क्षेत्रों के लोगों का भविष्य संवारने के लिए प्रयत्नशील- डाॅ. बिन्दल बागवानी स्वरोजगार का एक अहम विकल्प: डॉ. धीमान