Wednesday, December 11, 2019
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
सूफी गायक विक्की बादशाह का निधनकेवल रस्मअदायगी बनकर रह गया हमीर उत्सव : दीपक शर्माराजधानी में तेंदुए का आतंकब्रेकिंग) हमीरपुर : विधवा से दुष्कर्म , छः माह की गर्भवती,महिला थाना में मामला दर्ज, आरोपी पुलिस हिरासत मेंब्रेकिंग) हमीरपुर : मायक़े में रह रही महिला रीना को वाहन ने मारी टक्कर, फुटपाथ पर अतिक्रमण के कारण सड़क किनारे चल रही थी राहगीर महिला, उपायुक्त ने लिया कड़ा एक्शनमुख्य मंत्री श्वेत पत्र जारी कर बतायें कि पिछले दो साल में हमीरपुर को क्या दिया : कुलदीप पठानिया दौरा फ्लॉप,मात्र कांग्रेस के कामों का उदघाटन कर चले गए मुख्यमंत्री : दीपक शर्मानहीं चढ़ा डंडे पर तिरंगा , लेकिन फिर भी हमीर उत्सव शुरू
-
राज्य

नशा निवारण अभियान के तहत बहुविशेषज्ञ चिकित्सा शिविर आयोजित 

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | November 17, 2019 05:40 PM
सोलन,
 

मादक द्रव्यों के सेवन एवं मदिरा व्यसन पर रोक के लिए 15 दिसंबर, 2019 तक प्रदेश सरकार द्वारा कार्यान्वित किए जा रहे विशेष अभियान के अंतर्गत आज यहां बहुविशेषज्ञ चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुर्वेद विभाग के विशेषज्ञों ने लोगों को मादक पदार्थों के विषय में जानकारी दी। शिविर में लोगों का स्वास्थ्य मानकों के अनुरूप परीक्षण भी किया गया।
शिविर में लोगों को विभिन्न मादक द्रव्यों एवं मदिरा सेवन के दुष्प्रभावों से अवगत करवाया गया।
शिविर का शुभारम्भ उपमण्डलाधिकारी सोलन रोहित राठौर ने किया।
रोहित राठौर ने इस अवसर पर कहा कि समाज में विभिन्न कारणों से नशाखोरी की बढ़ती प्रवृत्ति सभी के लिए चिन्ता का विषय है। उन्होंने कहा कि मादक द्रव्यों के सेवन एवं मदिरा व्यसन पर रोक सभी का सामूहिक उत्तरदायित्व है। उन्होंने युवाओें से आग्रह किया कि नशे से बचाव के लिए सर्वप्रथम अपने विवेक का प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि यदि युवा पहली बार नशा करने के लिए कहने पर दृढ़तापूर्वक मना कर दें तो वे नशे के चंगुल से बच सकते हैं। युवाओं को अपने साथियों को भी नशे को न कहने के लिए प्रेरित करना होगा।
उपमण्डलाधिकारी ने कहा कि नशे का सेवन व्यक्ति को व्यसनी बनाता है और इसके प्रभाव से व्यक्ति सामाजिक, आर्थिक रूप से शून्य हो जाता है। उन्होंने कहा कि नशा सदैव पतन का कारण बनता है। उन्होंने कहा कि युवा अपने परिवार के भरण-पोषण तथा देश के विकास का प्रमुख कारक हैं। इसके लिए उन्हें शारीरिक एंव मानसिक रूप से स्वस्थ रहना होगा। उन्होंने युवाओं से आग्रह किया कि वे नशामुक्ति के लिए संकल्पबद्ध हों।
शिविर में चिकित्सकों ने सभी को नियमित व्यायाम एवं योग करने के लिए प्रेरित किया। लोगों को अवगत करवाया गया कि व्यायाम एवं योग से नशे से दूर रहा जा सकता है। शिविर में युवाओं को नशे से दूर रहने के लिए परामर्श भी प्रदान किया गया।
शिविर में 181 रोगियों का स्वास्थ्य भी जांचा गया।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डाॅ. राजन उप्पल, जिला कार्यक्रम अधिकारी डाॅ. एन.के. गुप्ता, डाॅ. अजय सिंह, डाॅ. धर्मेन्द्र, डाॅ. कुशाल, डाॅ. किरण, डाॅ. सरोज, आयुर्वेद विभाग के डाॅ. राजेन्द्र शर्मा, डाॅ. अरविन्द गुप्ता, डाॅ. सीमा गुप्ता, डाॅ. मन्जेश शर्मा, डाॅ. अंजु गुप्ता सहित अन्य चिकित्सकों ने रोगियों को सेवाएं प्रदान की।

Have something to say? Post your comment
 
और राज्य खबरें
चम्बा ज़िला के प्रतिनिधिमंडल की मुख्यमंत्री से शिष्टाचार भेंट जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं समीक्षा समिति की बैठक 13 दिसम्बर को नशाखोरी केे विरूद्ध सोलन पुलिस की लाॅन टैनिस प्रतियोगिता संकल्प 13 दिसम्बर से ट्रहाई गांव की 90 वर्षीय मेंहदी की रहस्यमयी परिस्थिति में हुई मौत की गुत्थी अभी तक नहीं सुलझी । सरकार ने वार्षिक बजट 2020-21 के लिए आमंत्रित किए सुझाव मानवाधिकार दिवस पर झाड़माजरी में कार्यक्रम आयोजित एचपीपीसीएल द्वारा राजकीय माध्यमिक विद्यालय सिहण में नशा मुक्त भारत पर करवाई गई चित्रकला प्रतियोगिता आनी में चवाई-दलाश सड़क के जल्द बहुरेंगे दिन आनी को सदर पंचायत बनाने की कबायद शुरू प्याज़ पर निर्धारित लाभांश ही वसूले व्यापारी-प्रशांत देष्टा