Tuesday, February 25, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
( ब्रेकिंग ) हमीरपुर: दीवार पर पोस्टर लगाकर पूर्व सैनिक ने महिला प्रधान के ख़िलाफ़ लिखे अश्लील शब्द , दो अन्य लोगों के ख़िलाफ़ भी लिखे जातिसूचक शब्द, मैड़ के कश्मीर सिंह के ख़िलाफ़ FIR दर्ज।हिमाचल प्रदेश भाजपा ने की प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणामुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को जाता है बदला-बदली के दौर को ख़त्म करने का श्रेय : नरेंद्र ठाकुरब्रेकिंग : शिक्षा विभाग उठाएगा एसिड पीड़ित छात्राओं के इलाज का ख़र्च , जाँच के बाद निष्कासित होगा आरोपित छात्र , पीड़ित परिवार को नहीं मिली एफ़आईआर की कॉपी(ब्रेकिंग) हमीरपुर : मर्डर केस में पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी आमिर खान, गिरफ़्तारी के बाद पुलिस ने तेज़ की जाँच Breaking News : नारकंडा में कार दुर्घटनाग्रस्त एक की मौतएसिड प्रकरण : आरोपी के ख़िलाफ़ रविवार को एफ़आईआर नंबर 13/2020 दर्ज, उटपुर पीएचसी से पुलिस ने लिए एमएलसी, आई जाँच में तेज़ी।एसिड प्रकरण : राम भरोसे सरकारी स्कूलों की विज्ञान प्रयोगशालाएँ , चपड़ासी से प्रोमोट हो लैब अटेंडेंट दे रहे सेवाएँ, हाई स्कूलों में नहीं है लैब अटेंडेंट की पोस्ट
-
खेल

देवेश ठाकुर ने जी-जुत्सू के बेंगलूर ओपन टूर्नामेंट में जीते चार गोल्ड मैडल

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | December 18, 2019 03:52 PM

 कुल्लू,




   मार्शल आर्ट खेल जी-जुत्सू में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान बना चुके कुल्लू जिले के युवा देवेश ठाकुर ने एक बार फिर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। बीते दिनों हुए राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट बेंगलूर ओपन में देवेश ने जी-जुत्सू के अलग-अलग वर्गों में चार गोल्ड मैडल जीतकर हिमाचल प्रदेश का नाम रोशन किया है।
  उन्होंने ये गोल्ड मैडल गी-मिडलवेट, नो-गी मिडलवेट और गी, नो-गी एबसोल्यूट वर्गों में हासिल किए हैं। देवेश कुमार ने बताया कि इस टूर्नामेंट में देश के विभिन्न राज्यों से बड़ी संख्या में जी-जुत्सू खिलाड़ियों ने भाग लिया।
  जी-जुत्सू में ब्ल्यू बैल्ट धारक देवेश ठाकुर मूल रूप से कुल्लू जिले की लगघाटी के निवासी हैं और बेंगलूरू में जी-जुत्सू का प्रशिक्षण ले रहे हैं। वह अन्य युवाओं को भी प्रशिक्षित कर रहे हैं। उनके माता-पिता कुल्लू शहर के निकट बदाह में रहते हैं। पिता डा. बलदेव ठाकुर जाने-माने आॅरथो सर्जन हैं तथा हिमाचल प्रदेश स्वास्थ्य विभाग के निदेशक पद से सेवानिवृत्त हुए हैं, जबकि माता शशि ठाकुर भी सेवानिवृत्त एचएएस अधिकारी हैं। देवेश के दादा स्वर्गीय मौलू राम ठाकुर भाषा, कला और संस्कृति विभाग के उपनिदेशक और हिमाचल प्रदेश के जाने-माने लोक साहित्यकार थे।
  देवेश ठाकुर आईआईटी का दर्जा प्राप्त बिड़ला इंस्टीट्यूट आॅफ टैक्नोलाॅजी पिलानी से इंजीनियरिंग डिग्रीधारक हैं। वह बचपन से ही फिजिकल फिटनेस को लेकर बहुत ही सजग रहे हैं और खेलों में भाग बढ़-चढ़कर भाग लेते रहे हैं। बिड़ला इंस्टीट्यूट आॅफ टैक्नोलाॅजी जैसे प्रतिष्ठित संस्थान से इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त करने के बाद उन्हें एक बहुत बड़े पैकेज पर प्लेसमेंट मिली, लेकिन उन्होंने काॅरपोरेट सैक्टर के बजाय जी-जुत्सू को चुना और उसमें अलग पहचान बनाई।

Have something to say? Post your comment
 
और खेल खबरें
ड्राप रोबॉल खेलो की सीनियर वर्ग की बाहरवी एवं जूनियर वर्ग की दसवीं राष्ट्रिय ड्राप रोबॉल प्रतियोगिता आठ से दस मई तक ड्राप रोबॉल राष्ट्रिय प्रतियोगिता आठ से दस मई तक गोवा में की जाएगी आयोजित आनी राजकीय महाविद्यालय में एथलेटिक मीट का आयोजन ड्राप रो बाल का सीनियर नेशनल गोवा में आठ मई से 10 मई तक,महिला व पुरुष टीम लेंगे भाग महाराष्ट्र में सम्पन्न हुई राष्ट्रीय ड्राप रो बाल खेल साईलेेंत  किलर बायल टीम ने जीता सिराज कप जिला क्रिकेट संघ को प्रेस क्लब ने 3 विकटों से रौंदा प्रेस क्लब ट्रॉफी पर चामुंडा इलेवन ने जमाया कब्जा पहाड़ के युवा महाराष्ट् में चमके भारत सरकार द्वारा विकास खण्ड़ नग्गर में एक दिवसीय युवा विकास सम्मेलन का आयोजन