Saturday, February 29, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने टौणी देवी में किया सामुदायिक भवन का शिलान्यास , शिव मंदिर बारीं को मिला सरांय भवनसोशल मीडिया की बदौलत 20 घंटे में मालिक तक पहुँची गाड़ी की गुमशुदा आर सीहमीरपुर : अनुराग के उपहार से बारीं गाँव दूधिया सोलर लाइट से चमकेगा, क़रीब 1 लाख 10 हज़ार रुपए से लगेंगी 6 नई सोलर लाइटजिथि अड़ा फड़ा उथि धूमल खड़ा , आख़िर हर बार धूमल ही क्यों, नाम उछाल कर खींचने वाले कौन ?? ( ब्रेकिंग) हमीरपुर : प्रधान जी कुर्सी छोड़ो या फिर तुरंत निलंबित हो देई द नौण पंचायत प्रधान, ग्रामीणों ने डीसी को ज्ञापन सौंप माँगी एसडीएम स्तर के अधिकारी से जाँचहमीरपुर : धूप में ही गिर गया बीपीएल परिवार की विधवा मीरां का मकान , मौक़े पर पहुँचे पंचायत प्रधान व उपप्रधान , विधवा की गुहार , अब मदद करे सरकार ( ब्रेकिंग ) हमीरपुर: दीवार पर पोस्टर लगाकर पूर्व सैनिक ने महिला प्रधान के ख़िलाफ़ लिखे अश्लील शब्द , दो अन्य लोगों के ख़िलाफ़ भी लिखे जातिसूचक शब्द, मैड़ के कश्मीर सिंह के ख़िलाफ़ FIR दर्ज।हिमाचल प्रदेश भाजपा ने की प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणा
-
हेल्थ और लाइफस्टाइल

किडनी की बीमारी से जूझ रहे निरमण्ड के मुकेश को आर्थिक मदद की जरूरत

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | January 03, 2020 05:00 PM

आनी,

 

कहते हैं मुसीबत किसी को भी घेर सकती है और हंसते खेलते जीवन को दुखों से भर सकती है। ऐसी ही मुसीबत ने घेर दिया है कुल्लू जिला के आनी उपमण्डल की निरमण्ड तहसील के सतांगीधार निवासी 41 वर्षीय मुकेश और उसके हंसते खेलते परिवार को। किडनी की बीमारी से जूझ रहे मुकेश कुमार को इलाज के लिए आर्थिक सहायता की दरकार है। जिसके लिए आनी में सामाजिक सुधार पर काम कर रही गरीबों की पूर्व में मददगार बनी सचेत संस्था ने लोगों से मजबूर मुकेश कुमार की आर्थिक  मदद को आगे आने की अपील की है। 

मुकेश कुमार को  करीब एक साल पहले जनवरी 2019 में एक हल्के से बुखार के बाद दवाइयों के ओवर डोज ने मुकेश कुमार की किडनियों पर ऐसा असर डाला कि उसका परिवार बिखरता चला गया। आज मुकेश कुमार आईजीएमसी शिमला में अपना उपचार करवा रहा है। अपनी बूढ़ी विधवा माता धर्मदासी, अपनी पत्नी मंजू और मेडिकल साइंस की पढ़ाई कर रही बाहरवीं कक्षा में पढ़ने वाली बिटिया विपाशा का एकमात्र सहारा कमाई का साधन खो चुका है। घर का गुजारा बूढ़ी माँ गाय का दूध बेचकर कर रही है, जबकि पत्नी को पति का इलाज करवाने और उसकी देखभाल करने शिमला जाना पड़ता है। आये दिन डायलिसिस और अन्य खर्चों के चलते प्रदेश सरकार द्वारा मुफ्त इलाज के लिए जारी आयुष्मान कार्ड काम तो आता है, लेकिन खर्चे पूरे करने के लिए अभागे मुकेश कुमार को जमीन तक बेचनी पड़ी है। आईजीएमसी शिमला में उपचाराधीन मुकेश कुमार का जल्द किडनी ट्रांसप्लांट किया जाना है। अपने मांग के सिंदूर को नवजीवन देने के लिए किडनी दे रही है, जबकि उसकी किडनी के ट्रांसप्लांट और दवाइयों और बाद में इलाज के लिए लाखों रुपयों की अभी भी दरकार है। ऐसे में सचेत संस्था सहित परिजनों ने अपील की है कि मुकेश कुमार की जिंदगी बचाने के लिए आगे आएं और उसके खाते में आर्थिक मदद डालें। आर्थिक मदद के लिए मुकेश  कुमार के खाते की डिटेल है :

Have something to say? Post your comment
 
और हेल्थ और लाइफस्टाइल खबरें