Monday, February 17, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
टौणी देवी स्कूल की चारदीवारी को उपायुक्त से 25 लाख रुपए मिले, प्रिंसिपल व एसएमसी ने जताया आभारसमीरपुर की दहलीज़ से मिला देशभक्ति का पाठ आज भी याद रखते हैं अनुराग ठाकुर, मिलने वालों का लगा रहा ताँता हमीरपुर : हादसे में न सीखने वाला बचा न सिखाने वाला , पहाड़ी से लुढ़की नई इनोवा गाड़ीप्रेम कौशल ने कहा : “गाली गलौज की राजनीति बंद करने पर सीएम जयराम का स्वागत, अन्य भाजपा नेता भी लें सबक़”हमीरपुर : जेबीटी कमीशन में बीएड को शामिल करने का विरोध, धरना प्रदर्शन कर उपायुक्त के माध्यम से भेजे ज्ञापन हमीरपुर के सीआईडी इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल प्रेज़िडेंट पुलिस मेडल से सम्मानित, ऊना के चुरड़ू गाँव से हैं सम्बंधितये हाथ हमको दे दे ठाकुरआसमान की बुलंदियों पर उड़ता नजर आएगा मडावग का विक्रम !
-
हेल्थ और लाइफस्टाइल

हिम केयर योजना का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण करवाएंः स्वास्थ्य मंत्री

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | January 03, 2020 06:41 PM
शिमला,

 

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री विपिन सिंह परमार ने आज यहां बताया कि प्रदेश में केन्द्र सरकार द्वारा आरम्भ की गई आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं उठा पा रहेे परिवारों को उपचार सुविधा प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार ने हिम केयर योजना को आरम्भ किया है जिसमें अब तक 5.50 लाख परिवारों को पंजीकृत किया गया है।

 

 उन्होंने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत 199 अस्पतालों को पंजीकृत किया गया है जिसमें 56 निजी अस्पताल शामिल हैं। इस योजना के अंतर्गत पिछले एक वर्ष में 55798 लाभार्थियों को 52.57 करोड़ रुपये से अधिक के निःशुल्क इलाज की सुविधा का लाभ मिला है। उन्होंने कहा कि जो परिवार पहले चरण में हिम केयर योजना के अंतर्गत कार्ड नहीं बनावा पाए थे उनके लिए पुनः 1 जनवरी, 2020 से पंजीकरण प्रक्रिया आरम्भ की जा चुकी है जो 31 मार्च, 2020 तक जारी रहेगी।

 

विपिन सिंह परमार ने कहा कि लाभार्थी वेबसाइट  www.hpsbys.in पर भी स्वयं पंजीकरण कर सकते हैं अथवा निकटतम लोक मित्र केन्द्र में अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। इन श्रेणियों में गरीबी रेखा से नीचे, मनरेगा वर्कर, पंजीकृत स्ट्रीट वैंडर जो आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत पंजीकृत नहीं है वह बिना किसी शुल्क के हिम केयर योजना में अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। जबकि आंगनवाड़ी हेल्पर, आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर, अनुबन्ध कर्मचारी, दैनिक वेतनभोगी, 40 प्रतिशत विकलांगता वाले दिव्यांगजन, एकल नारी, मिड-डे-मील वर्कर, आउटसोर्स कर्मचारी, अंशकालिक कार्यकर्ता व वरिष्ठ नागरिकों के लिए 365 रुपये पंजीकरण शुल्क निर्धारित किया गया है। इन श्रेणियों में न आने वाले अन्य लोगांेे के लिए पंजीकरण शुल्क एक हजार रुपये निर्धारित किया गया है।

 

उन्होंने कहा कि योजना के अंतर्गत पंजीकरण और नवीनीकरण करवाने के लिए सरकार द्वारा निर्धारित दस्तावेज अपलोड करवाना अनिवार्य है। श्रेणियों के आधार पर निर्धारित दस्तावेज़ों की सूची  www.hpsbys.in वेबसाइट पर दी गई है।

 

उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने पर पांच लाख रुपये तक के निःशुल्क इलाज का प्रावधान है। उन्होंने पात्र परिवारों से आग्रह किया कि वे शीघ्र योजना के अंतर्गत अपना पंजीकरण करवा लें ताकि बीमारी के समय इस योजना का लाभ उठा सकें।
Have something to say? Post your comment
 
और हेल्थ और लाइफस्टाइल खबरें
उपायुक्त ने किया तो टीबी रोग अस्पताल का औचक निरीक्षण  हिमकेयर योजना में 5 लाख तक उपचार, जनता का मुफ्त इलाज का सपना हुआ साकार जनमंच में बनाए 12 आयुष्मान तथा 6 हिमकेयर कार्ड राज्य में कोरोना वायरस से निपटने के लिए किए जा रहे हर संभव प्रयासः स्वास्थ्य मंत्री कोरोना वायरस से बचाव के संबंध में कार्यशाला आयोजित सीसीटीवी के लैस हुआ आनी का नागरिक चिकित्सालय कोरोना वायरस को लेकर ऐहतियात बरतें अधिकारी और होटलियर जिला ऊना में आयुष्मान व हिमकेयर से 3874 मरीजों का हुआ निशुल्क उपचार   स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा मनाया गया विश्व कैंसर दिवस प्रदेश में हिमकेयर योजना के अन्तर्गत जनवरी माह में 18,852 आवेदन पंजीकृत