Friday, April 03, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग : लॉक डाउन ( 14 अप्रैल ) तक निजी स्कूल नहीं कर सकते मासिक फ़ीस व एडमिसन फ़ीस जमा करने की डिमांड , होगी सख़्त कार्यवाही, शिक्षा विभाग ने जारी की नोटिफ़िकेशनलाकडाऊन का उल्लंघन, नशा कारोबारी सक्रियभाजपा के ब्यानवीर संकट के समय में सकारात्मक दृष्टिकोण का परिचय दें : प्रेम कौशलब्रेकिंग : 14 कश्मीरी मज़दूर बाड़ी- फ़रनोल के पास फँसे , राशन ख़त्म , ठेकेदार नहीं कर रहा हिसाब किताब , मज़दूर घर लौटने को अड़ेभोरंज में रणजीत सिंह और मुख्तियार सिंह दुकानदारों पर एफ़आईआर दर्ज, वसूल रहे थे फलों और सब्ज़ियों के अधिक मूल्यनवाँ नौशहरा में 80 जरूरतमंदों को बांटा राशनहिमाचल प्रदेश में अब सरकारी स्कूल और सरकारी दफ्तर 14 अप्रैल तक बंदउपायुक्त ने की रेड क्रॉस को दान देने की अपील 
-
राजनैतिक

भाजपा के कार्यकाल में सबसे ज्यादा आत्महत्या कर रहे बेरोजगार : अभिषेक राणा

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | January 11, 2020 07:07 PM
 
 
कहा : आखिर कहां छूमंतर हो गया सालाना 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का फलसफा, प्रदेश भाजपा आई.टी. विभाग पर किया पलटवार
 
शिमला,
प्रदेश भाजपा आई.टी. विभाग द्वारा तथ्यों की जानकारी न होने का आरोप लगाने के बाद प्रदेश कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग के चेयरमैन अभिषेक राणा ने पलटवार करते हुए कहा है कि वह तथ्यों पर आधारित बात ही करते हैं लेकिन भाजपा आई.टी. विभाग के मित्रों को शायद आंकड़ों पर जबाव देना नहीं आता है। उन्होंने कहा कि अगर बात शुरू की ही है तो भाजप नेता नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एन.सी.आर.बी.) द्वारा आंकड़ों पर अपनी राय दें जिसमें बेरोजगारी के बारे में स्पष्ट किया है कि हर 2 घंटें में करीब 3 बेरोजगार खुदकुशी कर रहे हैं।  अभिषेक राणा ने कहा कि जब से केंद्र में भाजपा सरकार की है, तब से भूखमरी व बेरोजगारी के आंकड़ों में रिकार्डतोड़ बढ़ोतरी हुई है। वर्ष 2018 में ही 12,936 बेरोजगारों ने आत्महत्या कर ली तो इसी अवधि में खेतीबाड़ी से जुड़े 10,349 लोगों ने अपनी जान दी। गृह मंत्रालय के तहत आने वाली इस संस्था के आंकड़ें बताते हैं किवरूर्रा 2018 में खुदकुशी के मामलों में 3.6 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 के आंकड़ों में भी ऐसी ही भयावह स्थिति जगजाहिर हुई है। उन्होंने कहा कि अगर भाजपा नेता इन आंकड़ों को झुठला नहीं सकते हैं तथा इस पर अपनी स्थिति स्पष्ट करें कि ऐसे हालात देश में क्यों बने हुए हैं। वर्ष 2014 में हर साल 2 करोड़ बेरोजगारों को नौकरी देने का वायदा कर सत्ता में आने वाली मोदी सरकार बेरोजगारी को खत्म क्यों नहीं कर पाई है। ऐसी विवशता क्या है कि रोजगार देने की बजाये युवाओं से रोजगार छीना जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन तथ्यों पर भी भाजपा नेता जबाव दें क्योंकि जनता भी इन सवालों का जबाव चाहती है। उन्होंने नसीहत दी कि भाजपा नेता पहले स्वयं तथ्यों की जानकारी लें और उसके बाद ही सोच-समझकर बयानबाजी करें, ताकि जनता के बीच में उन लोगों को शर्मिंदगी न उठानी पड़े। उन्होंने कहा कि जिम्मेदार पद पर बैठकर गैर जिममेदाराना टिप्पणियां करना उन लोगों को शोभा नहीं देता है।
 
Have something to say? Post your comment
 
और राजनैतिक खबरें
राठ़ौर ने किया कुमारसेन अस्पताल और बाज़ार का दौरा, कमी होने पर सरकार से की ये मांग विधायक अपनी पीठ थपथपाने की बजाए जनता से माफी मांगे : राजेश धर्माणी इन्दु गोस्वामी ने आज यहां विधानसभा परिसर में विधानसभा सचिव के समक्ष राज्य सभा के लिए अपना नामांकन भरा। इंदु गोस्वामी ने भरा राज्यसभा का नामांकन कुमारसैन में भाजपा ने की बजट की सराहना खेल नीति पर विचार करे सरकार, राजनेताओं के कब्जे से मुक्त हों खेल संघ : राजेंद्र राणा पूर्व कांग्रेस प्रवक्ता प्रेम कौशल ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर व विधायक नरेंद्र ठाकुर को घेरा हिमाचल प्रदेश भाजपा ने की प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणा कांग्रेस पार्टी वैचारिक रूप से बैंक करप्ट : राकेश जम्वाल सस्ती शराब कर सरकार बनाना चाह रही हिमाचलियों को नशेड़ी : राणा