Saturday, February 29, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने टौणी देवी में किया सामुदायिक भवन का शिलान्यास , शिव मंदिर बारीं को मिला सरांय भवनसोशल मीडिया की बदौलत 20 घंटे में मालिक तक पहुँची गाड़ी की गुमशुदा आर सीहमीरपुर : अनुराग के उपहार से बारीं गाँव दूधिया सोलर लाइट से चमकेगा, क़रीब 1 लाख 10 हज़ार रुपए से लगेंगी 6 नई सोलर लाइटजिथि अड़ा फड़ा उथि धूमल खड़ा , आख़िर हर बार धूमल ही क्यों, नाम उछाल कर खींचने वाले कौन ?? ( ब्रेकिंग) हमीरपुर : प्रधान जी कुर्सी छोड़ो या फिर तुरंत निलंबित हो देई द नौण पंचायत प्रधान, ग्रामीणों ने डीसी को ज्ञापन सौंप माँगी एसडीएम स्तर के अधिकारी से जाँचहमीरपुर : धूप में ही गिर गया बीपीएल परिवार की विधवा मीरां का मकान , मौक़े पर पहुँचे पंचायत प्रधान व उपप्रधान , विधवा की गुहार , अब मदद करे सरकार ( ब्रेकिंग ) हमीरपुर: दीवार पर पोस्टर लगाकर पूर्व सैनिक ने महिला प्रधान के ख़िलाफ़ लिखे अश्लील शब्द , दो अन्य लोगों के ख़िलाफ़ भी लिखे जातिसूचक शब्द, मैड़ के कश्मीर सिंह के ख़िलाफ़ FIR दर्ज।हिमाचल प्रदेश भाजपा ने की प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणा
-
हिमाचल

बहु आपदा भवन निर्माण पर दो दिवसीय कार्यशाला शुरू

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | January 30, 2020 03:24 PM

सोलन,

 


जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण सोलन एवं केन्द्रीय भवन अनुसंधान संस्थान रूड़की के सौजन्य से जिला में बहु आपदा भवन निर्माण प्रणाली के विषय में दो दिवसीय कार्यशाला आज यहां शुरू हुई। कार्यशाला का शुभारंभ उपायुक्त सोलन केसी चमन ने किया।
इस प्रशिक्षण कार्यशाला में लोक निर्माण विभाग, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, जिला ग्रामीण विकास प्राधिकरण तथा जेपी विश्वविद्यालय के 30 अधिकारियों व कर्मचारियों ने भाग लिया।  
इस अवसर पर उपायुक्त ने कहा कि भूकंप की दृष्टि से सोलन जिला जोन 4 व 5 में आता है। उन्होंने कहा कि भवन निर्माण कार्यों में भूकंप रोधी तकनीक अपनाकर भूकंप से होने वाले नुकसान को कम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि भूकंप आने पर सबसे ज्यादा नुकसान लोगों की अज्ञानता एवं भवनों के गिरने के कारण होता है। भूकम्प रोधी ढांचे के निर्माण के साथ-साथ लोगों को आपदा के समय बचाव के विभिन्न उपायों के बारे में भी जागरूक करना आवश्यक है।
केसी चमन ने कहा कि इस कार्यशाला के दौरान 30 विभिन्न विभागों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को मुख्य प्रशिक्षक के रूप में प्रशिक्षित किया जाएगा। मुख्य प्रशिक्षक भविष्य में प्रत्येक गांव के 05 राजमिस्त्रियों को बहु आपदा रोधी भवन निर्माण तकनीक बारे प्रशिक्षित करेंगे।
कार्यशाला में वास्तुकार डॉ. एसके नेगी ने निर्माण उद्योग के क्षेत्र में कौशल विकसित करने में केन्द्रीय भवन अनुसंधान संस्थान रूड़की के प्रयासों पर प्रकाश डाला। डॉ. अजय चौरसिया ने भूकंप के कारण भवनों को हुए नुकसान तथा भविष्य में इससे निपटने के उपायों पर चर्चा की। उन्होंने भूकम्प, तूफान तथा बर्फबारी रोधी भवन निर्माण के डिजाइन की भी जानकारी दी। इंजीनियर एचके जैन ने बहुआपदा रोधी दीवारों तथा छतों की तकनीक के विषय में विस्तृत जानकारी प्रदान की।
इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विवेक चंदेल, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की समन्वयक अपूर्वा मारिया, प्रलेखन समन्वयक गौरव मेहता सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
सभी ग्राम पंचायतों में स्थापित होंगे गर्ल एचीवर साईनबोर्ड-केसी चमन जिला लोक संपर्क अधिकारी कार्यालय कुल्लू कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने मैहतपुर में लगाया जागरूता शिविर वंदना बनी जीपीएस सारली  एसएमसी की अध्यक्ष डीसी ने जिला ऊना के निवेशकों की समस्याओं पर ली फीडबैक सुचेता बनी कन्या विद्यालय मिस फेयरवेल 2020 आनी कॉलेज में प्रदर्शनी के माध्यम से छात्रों को दी जानकारी ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर थाना कलां में नेहरू युवा विकास मंडल सासन जिला ऊना में आंका गया सर्वश्रेष्ठ जिला स्तरीय युवा सम्मेलन में डीसी ऊना ने प्रदान किया सम्मान एचडीएफसी बैंक ने इंडिगो के साथ की साझेदारी