Saturday, February 29, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने टौणी देवी में किया सामुदायिक भवन का शिलान्यास , शिव मंदिर बारीं को मिला सरांय भवनसोशल मीडिया की बदौलत 20 घंटे में मालिक तक पहुँची गाड़ी की गुमशुदा आर सीहमीरपुर : अनुराग के उपहार से बारीं गाँव दूधिया सोलर लाइट से चमकेगा, क़रीब 1 लाख 10 हज़ार रुपए से लगेंगी 6 नई सोलर लाइटजिथि अड़ा फड़ा उथि धूमल खड़ा , आख़िर हर बार धूमल ही क्यों, नाम उछाल कर खींचने वाले कौन ?? ( ब्रेकिंग) हमीरपुर : प्रधान जी कुर्सी छोड़ो या फिर तुरंत निलंबित हो देई द नौण पंचायत प्रधान, ग्रामीणों ने डीसी को ज्ञापन सौंप माँगी एसडीएम स्तर के अधिकारी से जाँचहमीरपुर : धूप में ही गिर गया बीपीएल परिवार की विधवा मीरां का मकान , मौक़े पर पहुँचे पंचायत प्रधान व उपप्रधान , विधवा की गुहार , अब मदद करे सरकार ( ब्रेकिंग ) हमीरपुर: दीवार पर पोस्टर लगाकर पूर्व सैनिक ने महिला प्रधान के ख़िलाफ़ लिखे अश्लील शब्द , दो अन्य लोगों के ख़िलाफ़ भी लिखे जातिसूचक शब्द, मैड़ के कश्मीर सिंह के ख़िलाफ़ FIR दर्ज।हिमाचल प्रदेश भाजपा ने की प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणा
-
हिमाचल

राज्यपाल ने राज्य लोक सेवा आयोग की ई-गवर्नेंस परियोजना को प्रभावी बनाने पर बल दिया

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | February 04, 2020 06:05 PM
शिमला,
 
 
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा लागू किए गए ई-गवर्नेंस पायलट प्रोजेक्ट को और अधिक प्रभावी बनाने पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट की गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाना चाहिए, क्योंकि इसे हिमाचल के बाद देश के अन्य 28 लोक सेवा आयोगों में भी लागू किया जाएगा।
 
राज्यपाल ने आज राज्य लोक सेवा आयोग के दौरे के दौरान आयोग के अध्यक्ष, सदस्यों और आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि ई-गवर्नेंस पायलट प्रोजेक्ट भारत सरकार के इलैक्ट्राॅनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मन्त्रालय ने वर्ष 2017 में हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग को मंजूर किया था। विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित इस प्रोजेक्ट को आयोग ने तीन वर्षों में पूरा करना है। यह हिमाचल प्रदेश के लिए गौरव का विषय है कि राज्य को यह प्रोजेक्ट मिला। उन्होंने कहा कि आयोग को इस प्रोजेक्ट को अधिक कारगर बनाने के लिए दूसरे राज्यांे से भी परामर्श लिया जाए। उन्होंने कहा कि इस प्रणाली के लागू होने से आयोग के सभी कार्य आॅनलाईन होंगे।
 
राज्यपाल ने आयोग द्वारा अपनाई गई आधुनिक भर्ती प्रक्रिया और पारदर्शिता के लिए आयोग की सराहना की। उन्होंने कहा कि मोबाईल आधारित आवेदन, शिकायत निवारण आवेदक चर्चा कक्ष, मई 2018 से लागू किए गए कम्प्यूटर आधारित परीक्षा, आयोग के परिसर में सर्वर आधारित निजता और मई 2018 से शुरू किए गए ‘माई एक्जामिनेशन, माई आॅनलाईन रिव्यू’ विशेष रूप से बेहतर निर्णय हैं। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा अप्रैल, 2018 में ‘वन टाईम रजिस्ट्रेशन’ लागू करना एक अच्छा कदम है, जिससे अभ्यर्थियों को अच्छी सुविधा प्राप्त होगी।
 
उन्होंने अन्य राज्यों के आयोगों की बेहतर पद्धतियों का तुलनात्मक अध्ययन करने का सुझाव दिया, ताकि इन्हें हिमाचल प्रदेश में भी लागू किया जा सके।
 
राज्यपाल ने आयोग की वर्ष 2018-19 की वार्षिक रिपोर्ट जारी की।
 
लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष मेजर जनरल डीवीएस राणा ने राज्यपाल को आयोग की कार्यप्रणाली के बारे में अवगत करवाया और आयोग की विभिन्न गतिविधियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
 
उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों के दौरान आयोग ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं, जिससे न केवल आयोग की कार्यप्रणाली सुदृढ़ होगी, बल्कि अभ्यर्थी भी लाभान्वित होंगे। आयोग की वन टाईम रजिस्ट्रेशन के अंतर्गत अब तक नौ लाख अभ्यर्थी पंजीकृत किए जा चुके हैं। इसके अतिरिक्त, पात्र उम्मीदवारों को उनके मोबाईल पर संदेश भेजा जा रहा है।
 
इससे पूर्व, आयोग के कार्यालय में पहुंचने पर सदस्य मीरा वालिया, सचिव राखिल काहलों, संयुक्त सचिव एकता काप्टा और अन्य अधिकारियों ने राज्यपाल का स्वागत किया।
 
Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
सभी ग्राम पंचायतों में स्थापित होंगे गर्ल एचीवर साईनबोर्ड-केसी चमन जिला लोक संपर्क अधिकारी कार्यालय कुल्लू कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने मैहतपुर में लगाया जागरूता शिविर वंदना बनी जीपीएस सारली  एसएमसी की अध्यक्ष डीसी ने जिला ऊना के निवेशकों की समस्याओं पर ली फीडबैक सुचेता बनी कन्या विद्यालय मिस फेयरवेल 2020 आनी कॉलेज में प्रदर्शनी के माध्यम से छात्रों को दी जानकारी ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर थाना कलां में नेहरू युवा विकास मंडल सासन जिला ऊना में आंका गया सर्वश्रेष्ठ जिला स्तरीय युवा सम्मेलन में डीसी ऊना ने प्रदान किया सम्मान एचडीएफसी बैंक ने इंडिगो के साथ की साझेदारी