Tuesday, April 07, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल प्रदेश के लिए बुरी खबर, कोरोना के 4 नए मामलेब्रेकिंग : पुलिस की बड़ी कार्यवाही , ठेका सील नेरवा के जलारा से 4 जमाती गिरफ्तारहिमाचल में एक दिन में कोरोना वायरस के सात नए मामले, 10 पहुंची मरीजों की संख्या(ब्रेकिंग ) हमीरपुर : दोस्तों संग खड्ड में नहाने गया प्रवासी युवक डूबा , मौत , मौक़े पर पहुँची पुलिसमोदी जी , केवल थाली बजाने और मोमबत्ती जलाने से महामारी का सामना नहीं हो सकता : प्रेम कौशल ब्रेकिंग : लॉक डाउन ( 14 अप्रैल ) तक निजी स्कूल नहीं कर सकते मासिक फ़ीस व एडमिसन फ़ीस जमा करने की डिमांड , होगी सख़्त कार्यवाही, शिक्षा विभाग ने जारी की नोटिफ़िकेशनलाकडाऊन का उल्लंघन, नशा कारोबारी सक्रिय
-
अंदर की बात

( ब्रेकिंग ) हमीरपुर : सैशन कोर्ट हमीरपुर ने एक साथ 18 आरोपी किए बरी, बरी होने वाले सभी ग्रामीण बुरनाड़ गाँव से संबंधित, जानलेवा हमले के आरोप ख़ारिज

रजनीश शर्मा ( हमीरपुर ) 9882751006 | February 07, 2020 09:31 PM

हमीरपुर ,

हमीरपुर जिला की माननीय सैशन जज की अदालत ने दो अलग अलग मामलों में शुक्रवार को एक ही गाँव के 18 लोगों को दोषमुक्त क़रार कर बरी कर दिया है। आरोपियों पर जानलेवा हमले के आरोप थे लेकिन सरकारी पक्ष इन आरोपों को कोर्ट में साबित न कर पाया ।
दोनों केस हमीरपुर पुलिस स्टेशन के तहत गाँव बुरनाड़ डाकघर खग्गल के थे । पुलिस चालान के मुताबिक़ नवम्बर 2017 में बुरनाड़ गाँव में छोटी सी बात से शुरू हुआ झगड़ा जानलेवा हमले में तब्दील हो गया । मौक़े पर पुलिस पहुँची तो घायलों को हमीरपुर अस्पताल पहुँचाया गया । हमले में दोनों पक्षों की तरफ़ से तेज़धार हथियारों व डंडों का प्रयोग हुआ ।

दोनों मामले सैशन ट्रायल के रूप में माननीय सैशन जज राकेश कैथला की अदालत में पहुँचे।

पहले मामले में स्टेट बनाम विपन कुमार में कुल 8 आरोपी बनाए गये। सरकारी पक्ष की तरफ़ से पैरवी जिला न्यायवादी सीएस भाटिया ने की जबकि बचाव पक्ष में पैरवी एडवोकेट किशोर शर्मा द्वारा की गयी। सरकारी पक्ष ने 15 गवाहों के बयान दर्ज करवाए जबकि डिफ़ेंस में 4 गवाह बचाव पक्ष की तरफ़ से पेश किए गये।सरकारी पक्ष द्वारा साक्ष्यों को प्रामाणिक न कर पाने के कारण माननीय सैशन जज हमीरपुर राकेश कैथला की अदालत ने विपन कुमार ,बाबू राम , प्रीतम सिंह , सीता राम, राजेश कुमार , पुरशोत्तम चंद , महेंद्र सिंह , और बबीता पर लगे धारा 341, 323, 325, 504, 506बी, 147, 149 और धारा 307 के तहत लगे सभी आरोप ख़ारिज कर दिए तथा इन्हें बरी कर दिया ।

एक अन्य मामले स्टेट बनाम अजय कुमार में शुक्रवार को माननीय सैशन जज राकेश कैंथला की अदालत ने बुरनाड़ गाँव के 10 ग्रामीणों को आरोपों से मुक्त कर बरी कर दिया। इस सैशन ट्रायल में अधिकतर आरोपी महिलायें बनाई गयी थी । इस केस में सरकारी पक्ष से पैरवी जिला न्यायवादी सीएस भाटिया ने की जबकि बचाव पक्ष के वक़ील अश्वनी कुमार शर्मा रहे। सरकारी पक्ष की तरफ़ से इस केस में 14 गवाह भुगते तो बचाव पक्ष ने भी डिफ़ेंस में 3 गवाह पेश किए । सरकारी पक्ष लगाए गये आरोपों की प्रमाणकिता कोर्ट में सिद्ध न कर पाया। इसलिए माननीय सैशन जज राकेश कैंथला की अदालत ने अजय कुमार , सुरम सिंह, विपन कुमार , सुनीता , बबीता, ज्ञानों देवी , उर्मिला देवी , काँता देवी , सलोचना देवी और संतोष कुमारी को आई॰पी॰सी॰ की धारा 341, 323, 325, 504, 147, 149 के आरोपों से मुक्त कर बरी कर दिया। ये सभी लोग गाँव बुरनाड़ डाकघर खग्गल ज़िला हमीरपुर के रहने वाले हैं । गाँव में एक साथ 18 लोगों के कोर्ट से बरी होने पर ख़ूब चर्चा है।

 

Have something to say? Post your comment
 
और अंदर की बात खबरें
आर्मी भर्ती कोरोना के चलते स्थगित मोदी जी , केवल थाली बजाने और मोमबत्ती जलाने से महामारी का सामना नहीं हो सकता : प्रेम कौशल भाजपा के ब्यानवीर संकट के समय में सकारात्मक दृष्टिकोण का परिचय दें : प्रेम कौशल ख़बर का असर : हमीरपुर जिला में सुजानपुर सहित सभी सार्वजनिक उत्सवों, मेलों इत्यादि का आयोजन स्थगित करने के आदेश पारित , डीसी ने दिए कड़े निर्देश हैडली बने एनयूजे इंडिया के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुजानपुर होली मेले में दोनों तरफ़ से टूटा सब्र का बाँध , धूमल परिवार व राणा परिवार फिर आमने सामने ( ब्रेकिंग) होर्डिंग्स मामला :सुजानपुर में लगे अनुराग ठाकुर मुर्दाबाद के नारे, राजेंद्र राणा और अभिषेक के नेतृत्व में प्रशासन की उदासीनता पर भी उठाए गये सवाल ब्रेकिंग : टूटा सब्र का बाँध , होर्डिंग फाडऩे वालों पर कार्रवाई ना होने पर भड़के विधायक राजेंद्र राणा, आज दो बजे सुजानपुर में समर्थकों सहित करेंगे विरोध प्रदर्शन हमीरपुर : महिला थाने में छेड़छाड़, पोकसो एवं जान से मारने की धमकी देने पर मामला दर्ज, एक अन्य मामला दहेज उत्पीड़न का भी हुआ दर्ज 1795 में सुजानपुर में खेली गई थी पहली बार तिलक होली, तालाब में तैयार होता था रंग, राजा और प्रजा के बीच मिटती थी दूरियाँ