Wednesday, February 24, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/XtZXmzukedcनगर निगम के चुनाव पार्टी चिन्ह पर करवाए जाने का कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राठौर ने किया स्वागतशराब और भांग का नशा ऐसा छाया की साधु ने तोड़े गाड़ी के शीशे,https://youtu.be/j8Ck3V67CNAफिर लोगों ने की जमकर पिटाईसुबह सुबह अवैध रूप से बिजली का प्रयोग करते विद्युत विभाग ने एक आरोपी दबोचा बड़ी खबर :एसजेवीएन अंतर्राष्ट्रीय सौर एलाईंस में शामिल हुआहमीरपुर जिला में हर्षोल्लास से मनाया गया 72वां गणतंत्र दिवस समारोह, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने की जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता, राष्ट्रध्वज फहराकर मार्चपास्ट की सलामी लीसमीक्षा : वार्ड पंच से लेकर जिला परिषद तक पटक डाले जनता ने , हेकड़ी , घमंड व बड़े नेताओं की धौंस हुईं जमींदोज पंचायत चुनाव : भीतरघात का ऑडियो वायरल, खूब हो रही चर्चाप्रथम चरण में हमीरपुर जिला में दिग्गजों ने किया मतदान, धूमल अनुराग ने समीरपुर , राजेंद्र राणा व अभिषेक राणा ने पटलांदर में किया मतदान
-
विशेष

हमीरपुर जिला में 65,632 विद्यार्थियों को निःशुल्क वर्दी योजना, 37,402 विद्यार्थियों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें व 12,022 को मुफ्त स्कूल बैग का मिल रहा लाभ

रजनीश शर्मा | February 08, 2020 08:44 AM

हमीरपुर 

व्यक्तित्व विकास व राष्ट्र की उन्नति में शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। प्रदेश सरकार विद्यार्थियों को आरम्भिक शिक्षा से लेकर विश्वविद्यालय स्तर तक गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने की दिशा में कारगर कदम उठा रही है। इसके लिए कई नए कार्यक्रम व योजनाएं प्रारंभ की गयी हैं। प्री-प्राइमरी कक्षाओं से लेकर वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं व कॉलेजों तक स्मार्ट कक्षाएं आरंभ की गयी हैं। वहीं, स्कूली बच्चों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए उन्हें निःशुल्क पुस्तकें, वर्दी व स्कूल बैग भी उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

प्रदेश सरकार की ओर से आरंभ की गयी अटल वर्दी योजना के अंतर्गत पहली से जमा दो कक्षा के 9 लाख से अधिक विद्यार्थियों को निःशुल्क स्मार्ट वर्दी के दो-दो सेट उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त पहली, तीसरी छठी और नवम (नौंवीं) कक्षा के विद्यार्थियों को निःशुल्क स्कूल बैग भी दिए जा रहे हैं। योजना के अंतर्गत पूरे प्रदेश में लगभग दो लाख 56 हजार विद्यार्थियों को स्कूल बैग उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा गया है।

वर्तमान प्रदेश सरकार की ओर से अनुसूचित जाति/जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों के नौंवीं एवं दसवीं कक्षा के 1,65,990 विद्यार्थियों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें प्रदान की गयी। इस योजना पर लगभग 12 करोड़ 88 लाख रुपए व्यय किए गए।

हमीरपुर जिला में भी प्रदेश सरकार की इन योजनाओं को शिक्षा विभाग के माध्यम से लागू किया जा रहा है। जिला में निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें वितरित करने की योजना के अंतर्गत 37,402 छात्र-छात्राओं को लाभान्वित किया गया है। इनमें प्रारम्भिक शिक्षा में पहली से आठवीं कक्षा के 28,104 बच्चों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें वितरित की गयी हैं। इसी प्रकार उच्च शिक्षा में 9,298 पात्र स्कूली बच्चों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें वितरित की गयी हैं।

अटल वर्दी योजना के अंतर्गत हमीरपुर जिला में 65,632 पात्र छात्र-छात्राओं को निःशुल्क वर्दी प्रदान की जा रही है। इनमें प्रारम्भिक शिक्षा के पहली से आठवीं कक्षा के 25,378 बच्चों को मुफ्त वर्दी प्रदान की गयी है। इसी प्रकार उच्च शिक्षा में भी 40,254 स्कूली छात्र-छात्राओं को अटल वर्दी योजना के अंतर्गत निःशुल्क वर्दी की सुविधा प्रदान की गयी है।

इसी प्रकार जिला में 12,022 के लगभग छात्र-छात्राओं को स्कूल बैग उपलब्ध करवाए गए हैं। इनमें आरम्भिक शिक्षा में पहली, तीसरी तथा छठी कक्षा के 8,304 बच्चों को निःशुल्क स्कूल बैग वितरित किए गए हैं। इसी तर्ज पर उच्च शिक्षा में नौंवीं कक्षा के 3,718 बच्चों को निःशुल्क स्कूल बैग प्रदान किए गए हैं।

प्रदेश सरकार के इन अभिनव प्रयासों से स्कूली शिक्षा के स्तर में सुधार हुआ है, वहीं जरूरतमंद बच्चों को पाठ्य पुस्तकें, वर्दी व स्कूल बैग निःशुल्क उपलब्ध होने से अभिभावकों की आर्थिक चिंता कम होने के साथ-साथ शैक्षणिक गतिविधियों में बच्चों की रूचि भी बढ़ी है।

 

 
Have something to say? Post your comment
और विशेष खबरें
मडावग पंचायत भवन में एक दिवसीय चिकित्सा शिविर का आयोजन रोहडू क्षेत्र की महिलाओं ने सेब की चटनी से लहराया परचम भारयुक्त जीवन को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना ने किया भारमुक्त विशेष : अश्वमेध यज्ञ के समय निर्मित राम-सीता की मूर्तियाँ कुल्लू में हैं स्थापित, अयोध्या से कुल्लू का 370 साल पुराना रिश्ता कोरोना काल में मार्गदर्शक बना गोगटा लोकमित्र केंद्र मडावग ! सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल , पवन 6 महीने बाद घर लौटे बेटियों को गले तक नहीं लगाया 8 हजार फीट पर क्वारंटीन हुए हर जगह है माँ : इंदरपाल कौर चंदेल क्वारंटीन से निकलते ही कोरोना की लड़ाई में डटे आदित्य ना केवल गांव के लिए बल्कि प्रदेश के लिए मिसाल बने मनीष