Tuesday, September 22, 2020
Follow us on
-
राज्य

पीला रतुआ के लक्षण पाए जाने पर कृषि अधिकारियों से करें संपर्क: डॉ. सुरेश कपूर

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | February 13, 2020 07:59 PM
 
ऊना,
 
 
 
बीतों दिनों हुई बारिश, तापमान में वृद्धि और हवा में नमी होने के कारण जिला में गेहूं की फसल के पीला रतुआ से संक्रमित होने की आशंका है। इसके चलते कृषकों को सतर्क रहने की आवश्यकता है और यदि कहीं भी गेहूं की फसल में पीला रतुआ से संक्रमित होने के लक्षण पाए जाते हैं तो कृषक शीघ्र कृषि विभाग के अधिकारियों से संपर्क करें। 
इस बारे जानकारी देते हुए कृषि उपनिदेशक डॉ. सुरेश कपूर ने बताया कि विभागीय अधिकारियों द्वारा जिला के कई क्षेत्रों का निरीक्षण किया गया जिसमें विकास खंड बंगाणा व ऊना में कुछ किसानों की फसलों में पीला रतुआ के लक्षण पाये गये हैं।
 उन्होंने बताया कि प्रारंभिक संक्रमण में गेहंू के पत्तों पर पीले धब्बे दिखाई देतें हैं। यह धब्बे गोल होते हैं और 2-3 दिनों में पूरे खेत में फैल जाते हैं। उन्होंने कृषकों को हिदायत देते हुए कहा है कि वे अपने खेतों में प्रोपेक्रोनेजोल 0.1 प्रतिशत का घोल प्रभावित फसल और आस पास के खेतों में स्प्रे करें। उन्होंने बताया कि यह फफूंद नाशक विभाग के विक्रय केंद्रों पर उपलब्ध है जिसे 50 प्रतिशत अनुदान पर कृषकों को उपलब्ध करवाया जा रहा है।
Have something to say? Post your comment
और राज्य खबरें
त्रासदियों का दौर " - डॉक्टर अमिताभ शुक्ल के शीघ्र प्रकाश्य काव्य - संग्रह की भूमिका से :- मनोहर पटेरिया " नए कृषि विधेयकों में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद का प्रावधानः वीरेंद्र कंवर  नीम ट्रेनी के लिए 21 सितम्बर को चंबा में होगा केंपस इंटरव्यू  राज्य सरकार ने बार खोलने की अनुमति प्रदान की सिर्फ...... कान हरिहरपुरी की आत्मप्रेमाभिव्यक्ति* धार चांदना गाँव से अतर सिंह राणा भारत और चीन की सीमा पर बारूदी सुरंग के फटने से हुए शहीद ज्ञान विज्ञान समिति ने चलाया जागरूकता कार्यक्रम भारत-चीन सीमा पर हिमाचल के 26 वर्षीय फौजी जवान ने पाई शहादत भारतीय मजदूर संघ हिमाचल प्रदेश ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार की दमनकारी नीतियों का किया विरोध प्रकट