Saturday, July 04, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग: कलयुगी दादा ने अपनी 9 साल की पोती को बनाया हवस का शिकारशहादत : तिरंगे में लिपटे अमर शहीद अंकुश के पार्थिव शरीर को देख बिलख उठे हमीरपुरवासी, आसमान भी रोया, राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई , सीएम कल मिलेंगे परिजनों से तिरंगे में लिपटे अमर शहीद अंकुश का पार्थिव शरीर ले आज 10 बजे लेह से चण्डीगढ़ के लिए उड़ान भरेगा विशेष विमान, क़ड़ोहता के बरसेला नाला में होगी राष्ट्रीय सम्मान के साथ अंतिम विदाईअंकुश की शहादत से हमीरपुर गमगीन, हमीरपुर जिला के कड़ोहता ( भोरंज उपमंडल)का वीर सैनिक अंकुश शहीद हुआ , कड़ोहता में बेसब्री से हो रहा शहीद के पार्थिव देह का इंतज़ार ब्रेकिंग ) हमीरपुर : मानसिक परेशानी से घर से ग़ायब युवक की सातवें दिन जंगलबेरी में मिली डेड बॉडी,ब्रेकिंग : जिला सोलन के अर्की में कोरोना का पहला मामला आने से हड़कंप ब्रेकिंग: कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति गुरुग्राम से सीधे पहुंचा अस्पताल, मेडिकल कॉलेज नेरचौक में मची अफरातफरी अनलॉक एक का मतलब है और अधिक सावधानी, एतिहात
-
धर्म संस्कृति

मुख्यमंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय मंडी शिवरात्रि मेले का शुभारम्भ किया

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | February 22, 2020 07:13 PM

देवताओं के नजराने और बजंतरियों के मानदेय में वृद्धि की घोषणा

शिमला,


मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मंडी में पगड़ी समारोह और श्री राज माधव मंदिर में पूजा कर एक सप्ताह तक चलने वाले अंतर्राष्ट्रीय मंडी शिवरात्रि मेले का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री ने मण्डी में श्री राज माधव मंदिर से पड्डल मेला ग्राउंड तक पारम्परिक ‘जलेब’ (शोभायात्रा) की अगुवाई की।

मुख्यमंत्री ने पड्डल मैदान में अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि मेले के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि अपनी परम्पराओं और संस्कृति का सम्मान करना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि  केवल वे समाज ही फलते-फूलते हैं, जो अपनी संस्कृति से प्रेम और सम्मान करते हैं। उन्होंने कहा कि मंडी शिवरात्रि न केवल अपने देवी-देवताओं के लोगों की गहरी आस्था को दर्शाती है, बल्कि इससे सामाजिक सदभाव को भी बढ़ावा मिलता है। उन्होंने कहा कि यह मेला व्यावसायिक गतिविधियों के लिए भी प्रमुख मेले के रूप में उभरा है।

 जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रतिस्पर्धा के दौर में लोगों के पास मेलों में भाग लेने के लिए आमतौर पर बहुत कम समय होता है, जो चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि राज्य को   देवभूमि के रूप में जाना जाता है, क्योंकि राज्य के लोगों के जीवन पर स्थानीय देवी-देवताओं का गहरा प्रभाव है। उन्होंने कहा कि राज्य के लगभग सभी गांवों में अपने मंदिर है और उनके अपने देवता हैं। उन्होंने कहा कि मंडी शहर को छोटी काशी के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि शहर में सौ से अधिक मंदिर हैं।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश इस वर्ष अपने पूर्ण राज्यत्व की स्वर्ण जयंती मना रहा है। उन्होंने कहा कि इन पचास वर्षों के दौरान राज्य ने सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व और अद्वितीय विकास किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने स्वर्ण जयंती वर्ष धूमधाम से मनाने का निर्णय लिया है तथा इस दौरान राज्य की पिछले 50 वर्षों की उपलब्धियों को प्रदर्शित किया जाएगा।

 उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले दो वर्षों के दौरान राज्य के लोगों के विकास के लिए कल्याणकारी और विकासोन्मुखी योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि जन मंच और मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1100 जैसी योजनाएं लोगों की शिकायतों के निवारण के लिए वरदान साबित हुई हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश इस योजना को शुरू करने वाला देश का पांचवां राज्य है। उन्होंने कहा कि हिमकेयर योजना के माध्यम से राज्य के 60 हजार से अधिक लोगों को मुफ्त इलाज की सुविधा का लाभ मिला है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सशक्त नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने कई ऐतिहासिक फैसले लिए हैं। केन्द्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने का निर्णय लिया, जिससे जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बन गया है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मंडी शहर को चौबीस घंटे पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए 72 करोड़ रुपये व्यय किए हैं। उन्होंने कहा कि पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए हेलीपोर्ट के निर्माण के अलावा मंडी शहर में शिव धाम भी विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार मंडी के बल्ह क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के निर्माण के लिए भरसक प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि मंडी शहर में एक मल्टी स्टोरी पार्किंग का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहर में आने वाले पर्यटकों की सुविधा के लिए शहर में ट्रेकर हट का भी निर्माण किया जाएगा। उन्होंने शहर में दो एम्बुलेंस सड़कों के लिए 20 लाख रुपये की घोषणा की। उन्होंने शिवरात्रि में भाग लेने वाले देवताओं के नजराने में दस प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की। उन्होंने इस अवसर पर बजंतरियों के मानदेय में दस प्रतिशत वृद्धि की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री ने शहर के लोगों की सुविधा के लिए बस स्टैंड में तीन अतिरिक्त मंजिलों के निर्माण की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर पड्डल मैदान में प्रदर्शनी और सरस मेले का उद्घाटन भी किया। इस अवसर पर जिला प्रशासन द्वारा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं’ कार्यक्रम के अन्तर्गत आरम्भ किए गए अभियान के तहत मुख्यमंत्री को बैटन (टॉर्च) भी सौंपी गई।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा स्थापित प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इसमें राज्य में रहे सभी मुख्यमंत्रियों के बारे में दर्शाया गया है।

मुख्यमंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय मंडी शिवरात्रि के रीति-रिवाजों और परम्पराओं पर आधारित शिवरात्रि मार्गदर्शिका पुस्तिका भी जारी की। उन्होंने आयोजन समिति द्वारा तैयार की गई स्मारिका का विमोचन भी किया।

उपायुक्त मंडी एवं अध्यक्ष मेला आयोजन समिति ऋग्वेद ठाकुर ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री  और अन्य गणमान्य व्यक्तिों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इस वर्ष मेले के आयोजन में 216 देवी-देवताओं को आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा कि शिवरात्रि मेले के आरम्भ होने से सात दिन तक देव समागम से मण्डी शहर भव्य आयोजन का केन्द्र बन जाता है। उन्होंने इस भव्य आयोजन में सात दिनों तक आयोजित किए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी प्रदान की।

जल शक्ति मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर, ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री वीरेंन्द्र कंवर, सांसद राम स्वरूप शर्मा, विधायक कर्नल इंद्र सिंह, विनोद कुमार, राकेश जम्वाल, हीरा लाल, इंद्र सिंह गांधी, जवाहर ठाकुर और प्रकाश राणा, महासचिव बाल कल्याण परिषद पायल वैद्य, अध्यक्ष मिल्कफेड निहाल चंद शर्मा, अध्यक्ष वफ्क बोर्ड राजबली, पूर्व विधायक रूप सिंह ठाकुर और डीडी ठाकुर, अध्यक्ष जिला परिषद सरला ठाकुर, मण्डी जिला भाजपा अध्यक्ष रणवीर ठाकुर, पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा, मुख्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव विनय सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment