Thursday, April 09, 2020
Follow us on
-
हेल्थ और लाइफस्टाइल

कोरोना वायरस से बचाव का कारगर उपाय है सोशल डिस्टेंसिंग

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | March 17, 2020 06:31 PM

मंडी,

मंडी जिला प्रशासन कोरोना वायरस से निपटने के लिए बचाव के सारे उपाय करने में जुटा है। सरकार द्वारा जारी एडवाजरी को लेकर लोगों को जागरूक करने के साथ विभिन्न एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि कोरोना के संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए सावधानी बरतने की जरूरत है ताकि इसे फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग (एक दूसरे से उपयुक्त दूरी बना कर रखना) इस वायरस से निपटने का कारगर उपाय है। सोशल डिस्टेंसिंग हमें कोरोना वायरस से बचा सकती है।

ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि कोरोना वायरस एक पीड़ित से दूसरे स्वस्थ व्यक्ति में पहुंचता है। बेहतर होगा कि जो व्यक्ति जुकाम, बुखार एवं सांस लेने की तकलीफ से पीड़ित हैं वे तुरंत डॉक्टरी सहायता लें व ठीक होने तक अपने घर पर ही रहें। जिन लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है, उन्हें हर हाल में ऐसे हालातों से दूर रखना चाहिए जहां उनके लिए वायरस की चपेट में आने का खतरा हो। कोरोना वायरस पहले से ही गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों, बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं के लिए जानलेवा साबित हो सकता है।
घर में ही रहने को दें तरजीह
कोरोनो वायरस से संबंधित आशंकाओं के बीच लोग अधिक से अधिक समय तक घर के अंदर रहें। केवल बहुत जरूरी होने पर ही सार्वजनिक स्थलों पर जाएं। यात्रा करने से बचें। कुछ समय के लिए धार्मिक स्थलों पर जाना टाल दें। होटल, रेस्टोरैंट, बार, पब, जिम जाने से परहेज करें। भीड़ भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। सामान्य अभिवादन में हाथ मिलाने अथवा गले लगने के स्थान पर नमस्ते का प्रयोग करें। लोगों से मिलते, बातचीत करते हुए कम से कम एक मीटर का फासला रखें।। अनावश्यक घर से बाहर न निकलें।
इसके अलावा सरकारी कार्यालयों में आयोजित होने वाली बैठकें भी वीडियो कॉंफ्रेंस के जरिए करने को तरजीह दें। प्राइवेट संस्थानों में काम करने वाले लोग जितना संभव हो सके घर से ही काम करें।
सरकारी कार्यालयों में आने से परहेज करें
    अपनी समस्याओं अथवा मांगों को लेकर सरकारी कार्यालयों में आने की बजाए फोन अथवा समाधान के ऑन लाईन माध्यम को तरजीह दें। डीसी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों से अतिआवश्यक बात करने के लिए जिला आपदा प्रबंधन केंद्र के दूरभाष नम्बर 01905-226201,202,203,204 पर कॉल की जा सकती है। समस्याओं के ऑन लाईन समाधान के लिए मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हैल्पलाईन 1100 का प्रयोग करें। कोरोना वायरस से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी लेने अथवा सूचना देने के लिए स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नम्बर 104 पर फोन कर सकते हैं ।  
ये उपाय अपनाएं
अपने हाथों को बार-बार धोएं - हर बार जब आप घर या कार्यालय में प्रवेश करते हैं,जब आप खांसते या छींकते हैं और खाने से पहले हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं, अथवा हैंड सेनिटाइजर का प्रयोग करें। खाँसते या छींकते समय कोहनी या टिशू पेपर के साथ अपना मुँह और नाक ढँक लें, इस्तेमाल किए गए टिशू पेपर को तुरंत डस्टबिन में डाल दें और अपने हाथ धो लें। बार बार आंख, नाक व मुंह को न छुएं।
यदि किसी व्यक्ति को खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ के लक्षण हांे तो उसे थ्री लेयर मास्क का प्रयोग करना चाहिए जोकि इन्फैक्शन को फैलने से रोकने में सहायक है। उन्हें तुरंत डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। इसके अलावा किसी कोरोना वायरस संदिग्ध व्यक्ति की देखभाल करने वाले लोगों को भी मास्क पहनना चाहिए। यदि आप स्वस्थ हैं तो आपको मास्क पहनने की जरूरत नहीं है।
सर्दी या फ्लू जैसे लक्षणों वाले किसी भी व्यक्ति के साथ निकट संपर्क से बचें। यदि आप या आपके बच्चे को बुखार, खांसी या सांस लेने में कठिनाई हो, तो शीघ्र चिकित्सा सहायता लें।

Have something to say? Post your comment
 
और हेल्थ और लाइफस्टाइल खबरें
डॉक्टर सोनम नेगी ने संभाला जिला स्वास्थ्य अधिकारी शिमला का कार्यभार कैंसर मरीजों को फोन पर निशुल्क मिलेगी डॉक्टरी सलाह हिमाचल प्रदेश के लिए बुरी खबर, कोरोना के 4 नए मामले आनी में खाद्य एवं आपूर्ति निगम ने खाद्यान्न भंडारण स्थल को किया सेनाटाइज महिला मंडल पावी की महिलाओं ने वैश्विक आपदा कोविड-19 से निपटने के लिए मुख्यमंत्री राहतकोष में ज़मा किए 3100 की राशि मुख्यमंत्री ने राज्य औषधी नियंत्रक को दिए आवश्यक दवाइयां उपलब्ध करवाने के निर्देश चवाई बाज़ार में किया सेनिटाइजर का छिड़काव भाजपा अपने स्थापना दिवस पर कोरोना पर करेगी प्रहार: डा. बिन्दल हिमाचल में एक दिन में कोरोना वायरस के सात नए मामले, 10 पहुंची मरीजों की संख्या स्वास्थ्य विभाग की 431 टीमें घर-घर जाकर करेंगी स्क्रीनिंग