Saturday, February 27, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/XtZXmzukedcनगर निगम के चुनाव पार्टी चिन्ह पर करवाए जाने का कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राठौर ने किया स्वागतशराब और भांग का नशा ऐसा छाया की साधु ने तोड़े गाड़ी के शीशे,https://youtu.be/j8Ck3V67CNAफिर लोगों ने की जमकर पिटाईसुबह सुबह अवैध रूप से बिजली का प्रयोग करते विद्युत विभाग ने एक आरोपी दबोचा बड़ी खबर :एसजेवीएन अंतर्राष्ट्रीय सौर एलाईंस में शामिल हुआहमीरपुर जिला में हर्षोल्लास से मनाया गया 72वां गणतंत्र दिवस समारोह, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने की जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता, राष्ट्रध्वज फहराकर मार्चपास्ट की सलामी लीसमीक्षा : वार्ड पंच से लेकर जिला परिषद तक पटक डाले जनता ने , हेकड़ी , घमंड व बड़े नेताओं की धौंस हुईं जमींदोज पंचायत चुनाव : भीतरघात का ऑडियो वायरल, खूब हो रही चर्चाप्रथम चरण में हमीरपुर जिला में दिग्गजों ने किया मतदान, धूमल अनुराग ने समीरपुर , राजेंद्र राणा व अभिषेक राणा ने पटलांदर में किया मतदान
-
विशेष

संस्मरण - ऐतिहासिक शाम 22 मार्च 2020

हितेंद्र शर्मा | March 23, 2020 08:07 AM

शिमला,

पांच बजते ही शंखनाद, थालियों, घंटियों, और तालियों के साथ मंत्रमुग्ध जब मैंने आस-पड़ोस, गांव-शहर, प्रदेश-देश की ओर संचार माध्यमों से सभी को अपने प्रधानमंत्री की अपील का सम्पूर्ण सम्मान के साथ पालन करते देखा। मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो गया और आंखों से निरन्तर आंसू बहते जा रहे थे। इन पंक्तियों का स्मरण हुआ कि कुछ बात है कि हस्ती, मिटती नहीं हमारी, सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-ज़माँ हमारा, सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा। कोरोना वायरस के विरुद्ध पूरे देश की एकजुटता देख बेहद गर्व हुआ। इस महामारी से विश्व में अनेकों लोगों की मौतों से दिल आहत हैं। हमारे देश एंव प्रदेश की सरकार, प्रशासन, पुलिस और स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा दिन-रात हमारे बचाव के लिए निरन्तर संघर्ष किया जा रहा हैं। एक लेखक का हृदय ऐसा मंज़र देख कर भावुक हो रहा है।

सर्वे भवन्तु सुखिनः की भावना के साथ हम भारतीय सम्पूर्ण विश्व के सुखी और रोगमुक्त रहने की प्रार्थना के साथ किसी भी प्राणी को दुख का भागी न बनना ऐसी कामना करते हैं। हमारी समृद्ध संस्कृति एंव संस्कार प्रेरणा देते हैं कि एक स्वर में एकसाथ की प्रार्थना प्रभावशाली होती है। भय और अशांति के वर्तमान वातावरण में सबके कल्याण, सुख और शांति के लिए हम एकजुट होकर इष्टदेव से प्रार्थना कर रहे है। कोरोना वायरस के साथ संघर्ष करते एक भावुक लेखक की कल्पना, काश भारत देश का हर नागरिक नशाखोरी, भ्रष्टाचार एंव भेदभाव के खिलाफ भी दिमाग की घंटी और तालियों के माध्यम से युवा पीढ़ी को बचाने के लिए समाज में चिट्टे जैसे अनेकों वायरसों के खिलाफ भी शंखनाद करें।

स्वच्छता, वृक्षारोपण एंव प्रकृति के संरक्षण हेतु वर्तमान में संघर्ष करने की आवश्यकता है। हमारा वातावरण, जलस्रोत और आसपास स्वच्छता रखने के लिए हमें संघर्षरत रहना होगा। देशहित में शतप्रतिशत लोगों ने आज भी एकजुटता नहीं दिखाई, बहुत से लोगों ने अपने-अपने स्तर पर जनभावनाओं का खूब मजाक बनाया। आखिर यह लोग कौन है? दुर्भाग्य से यह घमंडी लोगों की एक अद्भुत प्रजाति है। जिनका एकमात्र मकसद हमेशा दूसरों को नीचा दिखाना रहता है ताकि उनका कद सबसे ऊँचा नज़र आए। ऐसे लोग समाज की भलाई के लिए कभी कार्य नहीं करते, समाजिक एकता में भी इन्हें अंधविश्वास दिखाई देता है। घमंड का वायरस कोरोना से भी खतरनाक है लेकिन इसके नतीजे काफी समय बाद आते हैं। यह धीरे-धीरे इंसान को बर्बाद कर खत्म कर देता है। विश्व वर्तमान में एक गंभीर संकट से गुजर रहा है। लेकिन तथाकथित बुद्धिजीवियों और संकुचित मानसिकता के लोगों द्वारा गंभीर परिस्थितियों में भी भारतीयों का मजाक बनाकर स्वयं को क्या सिद्ध करना है?

 
Have something to say? Post your comment
और विशेष खबरें
मडावग पंचायत भवन में एक दिवसीय चिकित्सा शिविर का आयोजन रोहडू क्षेत्र की महिलाओं ने सेब की चटनी से लहराया परचम भारयुक्त जीवन को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना ने किया भारमुक्त विशेष : अश्वमेध यज्ञ के समय निर्मित राम-सीता की मूर्तियाँ कुल्लू में हैं स्थापित, अयोध्या से कुल्लू का 370 साल पुराना रिश्ता कोरोना काल में मार्गदर्शक बना गोगटा लोकमित्र केंद्र मडावग ! सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल , पवन 6 महीने बाद घर लौटे बेटियों को गले तक नहीं लगाया 8 हजार फीट पर क्वारंटीन हुए हर जगह है माँ : इंदरपाल कौर चंदेल क्वारंटीन से निकलते ही कोरोना की लड़ाई में डटे आदित्य ना केवल गांव के लिए बल्कि प्रदेश के लिए मिसाल बने मनीष