Wednesday, June 03, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
पोल खोल : स्वास्थ्य विभाग के बाद अब जल शक्ति विभाग में टैंडर घोटाला, मचा हड़कंपकोरोना काल में मार्गदर्शक बना गोगटा लोकमित्र केंद्र मडावग !अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़
-
कर्मचारी

सभी पंजीकृत निर्माण मज़दूरों को जल्दी सहायता प्रदान करने की मांग

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | April 10, 2020 09:16 PM

शिमला,

निर्माण एवं मनरेगा मज़दूरों को राज्य श्रमिक कल्याण बोर्ड शिमला से दो महीनों की सहायता राशी जारी हो गई है।निर्माण मज़दूर फेडरेशन के राज्य महासचिव औऱ ज़िला परिषद सदस्य भूपेंद्र सिंह ने बताया कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए जारी लॉकडाउन के कारण हिमाचल सरकार व राज्य श्रमिक कल्याण बोर्ड ने पंजीकृत मज़दूरों को मार्च और अप्रैल माह के लिए प्रत्येक मज़दूर के खाते में चार हज़ार रुपये जारी कर दिये हैं। ये सहायता राशि अभी तक हिमाचल प्रदेश के 56552 पंजीकृत मज़दूरों को जारी की गई है और उसके लिए 11.32 करोड़ रुपये बोर्ड ने जारी कर दिए हैं।भूपेंद्र सिंह ने बताया कि हालांकि यूनियन ने पांच पांच हज़ार प्रत्येक मज़दूर को जारी करने की मांग की थी लेकिन बोर्ड़ ने जो चार हज़ार रुपये जारी किये है यूनियन इसका स्वागत करती है।भूपेंद्र सिंह ने कहा कि अभी तक जो राशी जारी की गई है वो कुल पंजीकृत लगभग डेढ़ लाख मज़दूरों में से अभी लगभग आधे से भी कम मज़दूरों को ही जारी की गई है इसलिये यूनियन की मांग है कि जल्दी सभी मज़दूरों को ये राशी जारी की जाए। हालांकि बोर्ड ने सभी जिलों के श्रम अधिकारियों को ये निर्देश जारी किए हैं कि अभी सभी मज़दूरों के बैक खाते बोर्ड के पास नहीँ हैं इसलिये सभी मज़दूरों के खाते जल्दी बोर्ड को भेजे जायें। यूनियन ने इस बारे ये मांग की है कि जिन पंजीकृत मज़दूरों के खाते बोर्ड के पास शिमला कार्यालय में उपलब्ध नहीं हैं उनकी सूची जल्दी जारी की जाये ताकि बैक खाते जल्दी उपलब्ध करवाये जा सकें।इसके अलावा यूनियन ने ये भी सरकार से मांग की है कि बोर्ड की तर्ज़ पर मनरेगा मज़दूरों को भी अप्रैल माह का पांच हजार रुपये अग्रीम के रूप में जारी किया जाये औऱ उसे बाद में मज़दूरों के खातों में समायोजित किया जाये।

Have something to say? Post your comment
 
और कर्मचारी खबरें
पत्रकारों की विभिन्न मांगों को लेकर प्रेस क्लब शिमला ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को सौंपा ज्ञापन 31 जनवरी, 1 व 2 फरवरी को 150 पदों हेतु साक्षात्कार आंगबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका के पदों के लिए इंटरव्यू 19 दिसंबर को बागवानी विभाग में प्रयोगशाला सहायक के भरे जाएंगे 5 पद रामपुर बुशहर में पेन्शन जागरूकता अभियान का आयोजन 8 जनवरी को हड़ताल करेंगे मज़दूर--डॉ कशमीर ठाकुर पुलिस भर्ती के लिए साक्षात्कार 30 सितम्बर से होंगे शुरू पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित कोर्ट कर्मचारी की मृत्यु पर न्यायिक परिसर में रखा दो मिनट का मौन न्यू पेंशन स्कीम एम्प्लाइज असोसिएशन की बैठक 30 जून को