Monday, April 19, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/OQPehgHx4H8 शहरी विकास मंत्री ने किया कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल डीडीयू का दौरा, बोले टेस्टिंग के बाद जल्द शुरू होगा ऑक्सीजन प्लांट,मुख्य सचिव ने सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए कृषि व बागवानी विभागों को कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिएहिमाचल में फ़र्ज़ी गाड़ियों के पंजीकरण को लेकर सीबीआई करे जाँच, मुख्यमंत्री कांग्रेस के नेताओं को धमकाना करें बन्द :अग्निहोत्री।प्रदेश में करोड़ो रूपये की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मुख्यमंत्री से मांगा श्वेतपत्र।हिमालयन अपडेट साहित्य सृजन की झारखंड इकाई के सफल नेतृत्व में विराट काव्य आयोजन हर्ष और उल्लास के साथ संपन्न आने वाले समय में नाइट कर्फ्यू और लॉक डाउन की संभावनाएं; मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर https://youtu.be/DuPN5b7gdiQ नीजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक मंच ने जिला प्रशाशन को सौंपा ज्ञापन,कार्यवाही की की मांग https://youtu.be/_2J8oLo8-jo कोरोना महामारी के चलते प्रदेश में सादगी से मनाया गया 73वा हिमाचल दिवस ।
-
अंदर की बात

मां ने ऐसेे - बेटी को पाला था : प्रीति शर्मा असीम

May 10, 2020 10:54 AM

मां ने ऐसेे - बेटी को पाला था।

खुद की सुध-बुध विसरा के,
निज सपनों को तिलांजलि दे।

अपनी बेटी की आँखों में,
सतरंगी सपने धरती थी।

परिवार को जोड़े एक सूत्र में,
लेकिन मुंह से उफ्फ न करती थी।

ममता की छाया में रखकर,
बेटी को जिंदगी की, कड़ी धूप में पाला था।

मां ने ऐसे - बेटी को पाला था।

उसके कामों की चक्की तो,
दिन -रात निरंतर चलती थी।

कितनी बंदिशें.,कितने निर्देश...
वो कहती नही थकती थी।

बेटी होना इतना बुरा है।
तब वो सोचा करती थी।

समाज -परिवार का डर ,दिखा कर रोक दिया।
जोर से हंसी या ऊंचा बोली तो टोक दिया।

वो पंख खोल के,कैसे उड़ती।
मां ने कायदों,कायदा खोल दिया।

अपने घर जा के करना "सब,"
वो हर बात पर कहती थी।

कैसे झूठे सपने दिखा,
किस भ्रम में बेटी को पाला था।

तुम तो हो पराया धन ,
यह कह- कह बेटी को पाला था।

अपनी बातों को,अपने सपनों को,
दिल में सहेज के चली गई।

जैसे मां थी, बेटी भी।
खुद को मार के खामोश रही।।

***
फिर बेटी न खामोश रही।
बेटी को पहचान देते हुए।

आत्मविश्वास के पथ पर आगे
बढ़ी।
बेटी के अधिकार के लिए,
वो कुप्रथाओं से आन लड़ी।।

उसके सपनों को रोका नहीं।
शिक्षा के लिए टोका नही।

बेटी कोई अभिशाप नही।
यह बोझ नही।
यह कंलक नही।

बेटी की शक्ति को पहचाना।
जीवनदायिनी बता उसको,
फिर मां ने ऐसे पाला था।।

उसके सपनों को उड़ान दे कर।
क्षितिज पर नाम बेटी का चमकाया था।

कितने अवरोधों से लड़,बेटी को विस्तार दें।
मां ने पूर्ण मातृत्व निभाया था।

फिर ऐसे बेटी-बेटी को पाला था।
फिर ऐसे बेटी-बेटी को पाला था।

 



Have something to say? Post your comment
और अंदर की बात खबरें
https://youtu.be/eqPBgZROQhY बेरोजगार कला अध्यापकों ने बोला विधानसभा के बाहर हल्ला https://youtu.be/KXdW-QtDJPg जय राम सरकार द्वारा पेश किया बजट मात्र दिखावा; राठौर जय राम सरकार द्वारा पेश किया बजट मात्र दिखावा; राठौर शिमला प्रेस क्लब के सदस्यों का होगा निःशुल्क सामूहिक बीमा* मज्याठ वार्ड भाग संख्या 7 की मासिक बैठक आयोजित , कई अहम विषयों पर हुई चर्चा जिनकी घर-गांव में कोई पूछ पहचान वह बीजेपी अध्यक्ष के अनुभव की न करें बात : विनोद ठाकुर ऐतिहासिक मौक़े पर सोनिया गांधी एवं वीरभद्र सिंह को भूलना संकीर्णता से परिपूर्ण : प्रेम कौशल धूमल अनुराग का जिक्र करके ऐतिहासिक पल को और भी यादगार बना गए प्रधानमंत्री: भाजपा पूर्व सीएम धूमल ने कहा : चारियाँ दी धार व पुरली पंचायत का पुनर्गठन प्रासंगिक,कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कँवर को पत्र लिख जनहित में उचित निर्णय लेने को कहा BDS डॉक्टर से IPS अफसर तक: मिलिये, हमीरपुर के नए SP कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन से