Friday, June 05, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अनलॉक एक का मतलब है और अधिक सावधानी, एतिहात पोल खोल : स्वास्थ्य विभाग के बाद अब जल शक्ति विभाग में टैंडर घोटाला, मचा हड़कंपकोरोना काल में मार्गदर्शक बना गोगटा लोकमित्र केंद्र मडावग !अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,
-
देश

ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़

रजनीश शर्मा ( हमीरपुर ) 9882751006 | May 14, 2020 11:54 AM

हमीरपुर / रजनीश शर्मा

@ 9882751006 

लॉकडाउन के बावजूद हिमाचल में निजी स्कूलों की पैसों की भूख अभी ख़त्म नहीं हो रही है। प्रतिदिन अभिभावक स्कूलों से आ रहे फ़ीस जमा करवाने के फ़रमानों से दुःखी हैं। ऐसे में गाजियाबाद के शास्त्रीनगर स्थित विजय पब्लिक स्कूल का प्रबंधन बोर्ड हिमाचल के इन लोभवृति वाले पब्लिक स्कूलों को सबक़ सीखा रहा है। विजय पब्लिक स्कूल ने अपने स्कूल के बच्चों की लॉकडाउन के चलते अप्रैल ,मई , जून माह की फ़ीस माफ़ कर दी है। इतना ही स्कूल प्रबंधन अपने क़रीब 100 टीचिंग व नानटीचिंग स्टाफ़ को लगातार वेतन भी दे रहा है।

स्कूल प्रबंधन द्वारा इस संदर्भ में अभिभावकों को जारी 6 मई की सूचना इतनी तेज़ी से वायरल हुई कि इसकी एक प्रतिलिपि हमारे पास हिमाचल में भी पहुँच गई। क्या सच में ही स्कूल प्रबंधन ने अभिभावकों को राहत देने वाली यह सूचना जारी की है, इसकी पुष्टि के लिए हमने नोटिस में लिखे गए नम्बरों पर फ़ोन किया।

हमारा फ़ोन विजय पब्लिक स्कूल ज़ेड ब्लाक महिंद्रा एंकलेव,ग़ाज़ियाबाद की निदेशक ममता चौधरी ने उठाया।उन्होंने बताया कि स्कूल प्रबंधन ने प्रधानाचार्य वेणु नाग कौशिक एवं प्रशासक आराधना सिंह से मिलकर यह निर्णय लिया है कि कोविड-19 महामारी तथा लॉकडाउन के कारण सभी बच्चों की 3 माह ( अप्रैल , मई , जून ) की फ़ीस माफ़ कर दी जाए ।

ममता चौधरी ने बताया कि उनके लिए स्कूल स्टाफ़ सबसे महत्वपूर्ण है । इसीलिए बिना रुकावट के वह क़रीब सौ कर्मचारियों का वेतन हर माह उनके खातों में डाल रही है। उन्होंने कहा कि जब लोकहित का यह फ़ैसला लिया गया तो कई निजी स्कूलों की तरफ़ से उनको फ़ोन आए और इस निर्णय को वापिस लेने का दबाव भी बनाया गया। वह अपने फ़ैसले पर अडिग हैं तथा आगे भी इसे जारी रखा जाएगा।

ममता चौधरी जैसे विशाल हृदय वाली महिला ने लॉकडाउन के दौरान जहाँ फ़ीस माफ़ कर अभिभावकों को राहत दी है वहीं लगातार अपने स्टाफ़ को वेतन जारी कर लोककल्याण एवं लोकहित की वास्तविक भारतीय संस्कृति को भी व्यावहारिक रूप प्रदान किया है।

Have something to say? Post your comment
 
और देश खबरें
हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन कोरोना महामारी ने मीडिया जगत में खड़ी की अनेक चुनोतियाँ: उमेश उपाध्याय कोरोना महामारी के समय मीडिया की भूमिका’ पर वेबिनार 9 मई को नालागढ़ के मज़दूरों ने मुख्यमंत्री से की सहायता गुहार बॉलीवुड अभिनेता इरफान खान का निधन, 54 साल की उम्र में कैंसर के चलते तोड़ा दम आतंकियों से लोहा लेते हुए हिमाचल के दो जवान शहीद प्रदेशवासियों की हर संभव सहायता कर रही है सरकार: मुख्यमंत्री महिलाओं के सशक्तिकरण से ही सशक्त समाज का निर्माण संभव: सुरेश भारद्वाज सुजानपुर : होली उत्सव की तैयारियों को लेकर उपायुक्त ने किया उत्सव स्थल का निरीक्षण, अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश भारतीय जीवन बीमा निगम की हिस्सेदारी बेचने के विरोध में बिफरे बीमा कर्मी।