Friday, June 05, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अनलॉक एक का मतलब है और अधिक सावधानी, एतिहात पोल खोल : स्वास्थ्य विभाग के बाद अब जल शक्ति विभाग में टैंडर घोटाला, मचा हड़कंपकोरोना काल में मार्गदर्शक बना गोगटा लोकमित्र केंद्र मडावग !अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,
-
राज्य

मंडी में और तेज की गई रैंडम सैंपल लेने की प्रक्रिया

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | May 21, 2020 04:48 PM


मंडी,

 

उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार मंडी जिला में कोरोना संक्रमण को लेकर जांच के लिए रैंडम सैंपल लेने की प्रक्रिया को और तेज किया गया है। उन्होंने कहा कि जिला में रोजाना 100 से ज्यादा रैंडम सैंपल लेकर जांच की जा रही है, ताकि कोरोना का कोई भी मामला छिपा न रहे। उन्होंने ये जानकारी यहां पत्रकारों से बातचीत में दी।
उपायुक्त ने कहा कि उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में बाहरी राज्यों से लगभग 8500 लोग जिला मंडी में आए हैं । जो लोग बाहर के राज्यों से मंडी जिला में आ रहे हैं उन्हें नियमानुसार क्वारंटाइन किया जा रहा है और उनके सैंपल लिए जा रहे । जितने भी लोग कर्नाटक से आए थे लगभग उन सभी के सैंपल ले लिए गए हैं। मुबंई से भी जो लोग आए थे उनके भी सैंपल लिए जा रहे हैं।
हाल में दूसरों जिलों में मुबंई से आए लोगों के कोरोना पॉजिटिव मामले ज्यादा बढे़ हैं, इसलिए मंडी में भी मुंबई से आए लोगों के सैंपल प्राथमिकता पर लिए जा रहे हैं। ताकि यदि कोई व्यक्ति संक्रमित हो तो उसका शीघ्र पता चल सके। इनमें से किसी भी व्यक्ति में कोई लक्षण अभी तक नहीं पाए गए हैं।
मंडी जिला में चार पॉजिटिव मामले
उपायुक्त ने मंडी जिला में 20 मई को सामने आए कोरोना संक्रमण के 4 मामलों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि ये चारों मामले अलग अगल उपमंडल के हैं। इनमें थुनाग, बल्ह, गोहर और सदर उपमंडल से प्रत्येक से एक-एक मामला है।
इन चार मरीजों में से दो लोग जोनल अस्पात मंडी की फ्लू ओपीडी मंे आए थे। नियमानुसार जितने भी रोगी लक्षण सहित फ्लू ओपीडी में आते हैं उन सभी के सैंपल लिए जाते हैं, इनके सैंपल लेकर नेरचौक मेडिकल कॉलेज भेजे गए थे।
इसके अलावा एक मरीज होम क्वारंटाइन थी और जब फोन पर उसमें बुखार के लक्षणों का पता चला तो उनका सैंपल भी उनके घर से लिया गया। इसके अतिरिक्त एक अन्य मरीज जो बल्ह उपमंडल से है वह पहले ही नेरचौक अस्पताल में अन्य बीमारी की वजह से दाखिल थी। उनका भी वहां सैंपल लिया गया था।
ये चारों सैंपल पॉजिटिव आए हैं। रिपोर्ट मिलने के बाद नियमानुसार जिन क्षेत्रों से ये पॉजीटिव मामले आएं हैं उन क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन और उनके साथ लगते क्षेत्रों को बफर जोन घोषित कर दिया गया है।
संपर्क में आए लोगों के लिए जा रहे सैंपल
उपायुक्त ने कहा कि चारों मरीजों की प्राथमिक सम्पर्क सूची तैयार की गई है, जिसमें लगभग सभी के 10-10 व्यक्ति सम्पर्क में आए हैं जिनमें परिवार के सदस्य व अन्य लोग हैं। चूंकि इनमें से तीन मरीजों की अभी कोई ट्रैवल हिस्ट्री सामने नहीं आई है, इसलिए प्राथमिक तौर पर इनके सम्पर्क में आए सभी लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं ताकि पता चल सके कि कोई अन्य व्यक्ति तो संक्रमित नही है।
बाकी इन लोगों के प्राथमिक सम्पर्क में आए व्यक्तियों की प्राथमिकता के आधार पर पहचान की जा रही है ताकि उनके भी सैंपल शीघ्र लिए जा सकें।
कंटेनमैंट जोन में एक्टिव सर्विलेंस प्रशासन की टीमें
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि संबंध्तिा क्षेत्र में घोषित कंटेनमैंट जोन में प्रशासन की टीमें एक्टिव सर्विलेंस में जुट गई हैं। गांव, पंचायत, वार्ड स्तर पर ये टीमें पहले ही घोषित की गई हैं। ये टीमें इन क्षेत्रों में घर-घर जाकर सभी से पूछेंगी कि जो व्यक्ति पॉजिटिव आया है, उसके साथ किसी का पिछले 15 दिनों में कोई सम्पर्क तो नहीं रहा। इस दौरान यदि किसी व्यक्ति में संक्रमण के कोई लक्षण पाए जाते हैं तो उनका सैंपल लिया जाएगा।
दो दिन बंद रहेंगी 2 निजी अस्पतालों की ओपीडी
उपायुक्त ने कहा कि इसके अलावा नेरचौक अस्पताल में उपचाराधीन मरीज इससे पहले अपने ईलाज के लिए आस्था व मल्होत्रा निजी अस्पतालों में भी जा चुकी है, इसलिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से इन अस्पतालों को निर्देश दे दिए गए हैं कि वे एक-दो दिन के लिए अपनी ओपीडी को रोक दें। और खुद जांच करें कि उनके कितने लोग उस मरीज के सम्पर्क में आए हैं। उन सभी को आईसोलेट करें। उसके बाद पूरे अस्पताल को सेनेटाईज करें और उसके बाद स्थिति सामान्य रहती है तो पुनः कार्य शुरू कर सकते हैं।
दोहराए बचाव के उपाय
उपायुक्त ने कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों पर जोर देते हुए कहा कि मास्क अथवा फेस कवर का इस्तेमाल, सोशल डिस्टेंसिंग और बार बार हाथ धोने की आदत को अपनाकर इस वायरस से बचा जा सकता है।

Have something to say? Post your comment
 
और राज्य खबरें
सधोट सड़क चोलथरा से सरकाघाट वाया कोठी व रसायन गल्लू डिविजन की सड़कें खस्ताहाल पिछले 24 घंटों के दौरान 290 लोगों ने किया चंबा जिला की सीमा में प्रवेश हरि राम के निधन पर शोक की लहर  योग को जीवन का हिस्सा बनाएं : गोविंद ठाकुर बस अड्डों पर तैनात रहेंगे पुलिस और स्वास्थ्य कर्मी: डीसी घर घर पर ही मनाई जायेगी कबीर प्रगट दिवस सुरेश भारद्वाज ने आज गंज बाजार स्थित स्नातन धर्म सभा के राधे भवन धर्मशाला में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ प्रधानमंत्री की मन की बात के संदेश को सुना। भाजपा प्रदेश के मुख्यप्रवक्ता रणधीर शर्मा ने केंद्र सरकार मोदी-2.0 के 1 वर्ष पूरे होने पर दी बधाई जिला सिरमौर में पहली बार सरकारी एजेंसियों द्वारा स्ट्राॅबेरी की खरीद से स्ट्राॅबेरी उत्पादकों को मिली राहत केंद्र सरकार जल्द से जल्द राज्य सरकार के अंतर्गत अनुसूचित जाति के छात्रों को स्कॉलरशिप का प्रबंध करवाएं आकाश नेगी