Thursday, May 28, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
हिमाचल

आनी और चवाई में ऊना और सहारनपुर से पहुंचे 18 लोग

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | May 22, 2020 05:27 PM

लोगों में हड़कम्प, पुलिस ने संभाला मामला

आनी,

वीरवार देर शाम आनी के चवाई क्षेत्र और निगान में बाहरी क्षेत्रों से आये कुल 18 लोगो के आ जाने से लोगों में हड़कम्प मच गया। जिसके बाद पुलिस ने स्थिति को संभाला। जानकारी के अनुसार आनी के समीप निगान में चल रहे पेट्रोल पंप के निर्माण कार्य के लिए सहारनपुर से दो मैकेनिक लाये गए। जिनके निगान पहुंचने पर लोगों ने पुलिस को सूचित किया। जिन्हें निगान के स्कूल में क्वारंटाइन किया गया। जिसका लोगों ने विरोध किया। पुलिस को रात में ही निगान जाकर स्थिति को सम्भलना पड़ा और लोगों को समझाया गया। लोगों का कहना है कि एक ओर तो पेट्रोल पंप में पहले से काम कर रहे मजदूरों को दो महीने से इनके घर सहारनपुर वापिस नहीं भेजा जा सका। कभी अनुमति नहीं मिली और जब अनुमति मिली तो टैक्सी वालों को कहा गया कि वे वापसी पर 14 दिन क्वारंटाइन में रखे जाएंगे, जिसके बाद टैक्सी वालों ने इन्हें ले जाने से तौबा कर ली। मजबूरन ये मजदूर पिछले करीब 2 माह से घर जाने की गुहार लगा रहे हैं। लेकिन जा नहीं पा रहे। बावजूद इसके सहारनपुर से दो लोग यहां लाये जाते हैं, जो लोगों के गले नहीं उतर रहा। युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव चेतन चौहान ने इस विषय पर कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज करते हुए कहा कि यह पेट्रोल पंप स्थानीय विधायक के रिश्तेदार के नाम से है और रजनीतिक पहुंच के चलते दो लोगों को सहारनपुर से तो लाया गया, मगर जो मजदूर वापिस जाना चाहते हैं, उन्हें कोई प्रयास विधायक किशोरी लाल सागर ने नहीं किया । 

वहीं आनी खण्ड की शिल्ही पँचायत में ऊना से ट्रेवलर में 16 नेपाली मजदूर पहुंच गए। जिन्हें वन निगम के ठेकेदार द्वारा जंगल मे काम करने लाया गया। जो शिल्ही पंचायत के जंगलों में काम करने लाये गए हैं और शिगान गांव के साथ ठहरे। इनके आने की सूचना मिलते ही सोशल मीडिया पर अटकलों का दौर चला और लोगों ने पंचायत प्रधान से जानकारी हासिल की। लोगों का कहना है कि जब बाहरी राज्यों से आने वालों को 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रखा जाना जरूरी है और ऊना जैसे क्षेत्र से होकर आए मज़दूरो को मेडिकल चेकअप करवाये बिना सीधा गांव भेजना और ग्रामीणों के विरोध के बाद उनका अगले दिन मेडिकल चेकअप के लिए भेजना भी किसी के पल्ले नहीं पड़ रहा। 

वहीं इस बारे में डीएसपी आनी अनिल कुमार का कहना है कि ये मजदूर वीरवार को चवाई पहुंचे और पुलिस ने शुक्रवार को इनका मेडिकल चेकअप करवायाम है। 

वहीं एसडीएम आनी चेत सिंह ने कहा कि ये मजदूर पहले भी आनी क्षेत्र में काम करते थे, हाल ही में ऊना गए थे और अब ठेकेदार ने जंगल में काम करने इन्हें वापिस लाया। इन लोगों को हिदायत दी गयी है कि ये जंगल मे ही काम करेंगे और आम जनता के बीच नहीं घूमेंगे। जबकि निगान वाले मामले में एसडीएम चेत सिंह का कहना है कि इन दो लोगों को क्वारंटाइन पर रखा गया है। ये लोग समाज से दूरी बनाते हुए अपना काम करेंगे। जिससे संक्रमण के संभावित खतरे से बचा जा सके।

Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
मुख्यमंत्री ने बाहरी राज्यों से आए लोगों पर निगरानी रखने को कहा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में आज आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक, लिए गए कई अहम फैसले पिछले 24 घंटों के दौरान जिला में पहुंचे 377 लोग- उपायुक्त  मुख्यमंत्री ने दिए क्वारंटीन केन्द्रों में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश वीरवार को निगान दलाश फीडर और शुक्रवार को निरथ नित्थर एचटी लाइन में रहेगी बिजली बाधित जल शक्ति विभाग के कांट्रेक्टर्ज ने किया अंशदान वेद ठाकुर बने भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश सह प्रवक्ता  हिमाचल भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने दिया अपने पद से इस्तीफा मोहर सिंह भारद्वाज को भाजयुमो सह मीडिया प्रभारी बनाए जाने पर खुशी जताई हिमाचल सरकार के प्रयासो से बाहरी राज्यों में फंसे 1.40 लाख लोगों की घर वापसी हुई सुनिश्चत