Thursday, May 28, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
हिमाचल

बोर्ड द्वारा व सर्विस कमेटी में मानी गई मांगों को जानबूझकर लटकाया जा रहा है नेक राम ठाकुर ने लगाया आरोप

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | May 22, 2020 06:48 PM

शिमला,

हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत परिषद तकनीकी कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष दूनी चंद ठाकुर व प्रदेश महामंत्री  नेक राम ठाकुर ने अपने संयुक्त बयान में कहा कि ऊहल तृतीय चरण चूल्हा विद्युत गृह के 12-13 मेगावॉट विद्युत उत्पादन से पेनस्टाक का कांच की तरह टुकड़े टुकड़े होने पर अपनी गहरी चिंता जताई है तथा कहा है कि विद्युत गृह की कुल स्थापित क्षमता जो 100 मेगावॉट निर्धारित की है असामान्य देरी के उपरान्त तैयार हुई इस परियोजना से रोजाना 2400000 लाख (चौबीस लाख ) यूनिट विद्युत उत्पादन की उम्मीद थी जिससे बोर्ड को प्रतिमाह 20 करोड़ की राजस्व प्राप्ति हुई अपेक्षित थी। लेकिन परीक्षण दौर मे ही इसकी असफलता से कर्मचारियों की उम्मीदों को गहरा धक्का लगा है। इस घटना से विषम परिस्थितियों मैं अपनी जान जोखिम में कार्य कर रहे कर्मियों के होसंले प्रस्त हुए हैं साथ ही लोगों की नजरों में इस घटना के बाद विभाग की किरकिरी हुई है । परियोजना के( डिज़ाइन) निर्माण, निरीक्षण एवं परिचालन में कहां खामी रही है यह जांच का विषय है । लेकिन इतना तो तह है कि इस परियोजना मैं कार्यरत अधिकारियों / अभियन्ताओं मैं कई स्तरों पर बड़ी चूक हुई है । इन तत्थों को झुठलाया नही जा सकता है ।अब पेनस्टाक के पुनर्निर्माण एवं मुरमत के लिए महीनों लगेंगे तथा करोड़ों रुपये का अतिरिक्त खर्च के साथ इस परियोजना की लागत जो अब तक 1680 करोड के आसपास थी बड़कर 1800 करोड़ होने का अनुमान है जिससे बोर्ड की माली हालत और भी खराब हो जाएगी ।
प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि 100 मेगावॉट का लोड झेलने की जगह 12-13 मेगावॉट में ही पेनस्टाक का फट जाना परियोजना मैं प्रयोग घटिया किस्म के माल को दर्शाता है। वही दूसरी तरफ कुछ की किलोमीटर दूर स्थित शानन विद्युत गृह जो 1932 मैं पुराने अभियन्ताओं ने तैयार किया था 85 वर्ष के बाद भी इसमें कोई भी विकार नही दिखा बोर्ड के आज के अभियन्ताओं को उससे सीख लेने की जरूरत है।
ठाकुर ने हिमाचल आदेश सरकार से मांग की है कि चूल्हा परियोजना में घटित इस दुखद घटना की गम्भीरता को देखते हुए इसकी जांच उच्च स्तरीय कमेटी से करवाई जाए तथा दोषी अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर सख्त कार्यवाही अमल मैं लाई जाए।
प्रदेश महामंत्री  नेक राम ठाकुर  ने ये भी आरोप लगाया कि बोर्ड द्वारा व सर्विस कमेटी में मानी गई मांगों को जानबूझकर लटकाया जा रहा है। जबकि आये दिन उच्च अधिकारियों के पदौन्नति के आदेश जारी हो रहे हैं।इससे तकनीकी कर्मचारियों के साथ भेदभाव करने का रवैया स्पस्ट नजर आता है । उन्होंने नवनियुक्त बोर्ड प्रवन्ध निर्देशक से आग्रह किया है कि बोर्ड की इस तरह की कार्यप्रणाली पर रोक लगाई जाए।

Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
मुख्यमंत्री ने बाहरी राज्यों से आए लोगों पर निगरानी रखने को कहा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में आज आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक, लिए गए कई अहम फैसले पिछले 24 घंटों के दौरान जिला में पहुंचे 377 लोग- उपायुक्त  मुख्यमंत्री ने दिए क्वारंटीन केन्द्रों में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश वीरवार को निगान दलाश फीडर और शुक्रवार को निरथ नित्थर एचटी लाइन में रहेगी बिजली बाधित जल शक्ति विभाग के कांट्रेक्टर्ज ने किया अंशदान वेद ठाकुर बने भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश सह प्रवक्ता  हिमाचल भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने दिया अपने पद से इस्तीफा मोहर सिंह भारद्वाज को भाजयुमो सह मीडिया प्रभारी बनाए जाने पर खुशी जताई हिमाचल सरकार के प्रयासो से बाहरी राज्यों में फंसे 1.40 लाख लोगों की घर वापसी हुई सुनिश्चत