Tuesday, July 07, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग: कलयुगी दादा ने अपनी 9 साल की पोती को बनाया हवस का शिकारशहादत : तिरंगे में लिपटे अमर शहीद अंकुश के पार्थिव शरीर को देख बिलख उठे हमीरपुरवासी, आसमान भी रोया, राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई , सीएम कल मिलेंगे परिजनों से तिरंगे में लिपटे अमर शहीद अंकुश का पार्थिव शरीर ले आज 10 बजे लेह से चण्डीगढ़ के लिए उड़ान भरेगा विशेष विमान, क़ड़ोहता के बरसेला नाला में होगी राष्ट्रीय सम्मान के साथ अंतिम विदाईअंकुश की शहादत से हमीरपुर गमगीन, हमीरपुर जिला के कड़ोहता ( भोरंज उपमंडल)का वीर सैनिक अंकुश शहीद हुआ , कड़ोहता में बेसब्री से हो रहा शहीद के पार्थिव देह का इंतज़ार ब्रेकिंग ) हमीरपुर : मानसिक परेशानी से घर से ग़ायब युवक की सातवें दिन जंगलबेरी में मिली डेड बॉडी,ब्रेकिंग : जिला सोलन के अर्की में कोरोना का पहला मामला आने से हड़कंप ब्रेकिंग: कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति गुरुग्राम से सीधे पहुंचा अस्पताल, मेडिकल कॉलेज नेरचौक में मची अफरातफरी अनलॉक एक का मतलब है और अधिक सावधानी, एतिहात
-
हिमाचल

मंडी में प्रवासी श्रमिकों-बेरोजगारों की मदद को हैल्प डेस्क स्थापित

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | June 29, 2020 07:04 PM

मंडी,

मंडी जिला में प्रवासी श्रमिकों एवं बाहरी राज्यों से वापिस लौटे लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए काउंसलिंग केंद्र एवं हैल्प डेस्क स्थापित किए गए हैं । जिला स्तरीय हैल्प डेस्क, जिला श्रम अधिकारी कार्यालय में बनाया गया है और उनको डेस्क प्रभारी का जिम्मा दिया गया है। सभी बीडीओ, जिला प्रबंधक उद्योग, आईटीआई के प्राचार्य और नेहरू युवा केंद्र के समन्वयक इसके सदस्य बनाए गए हैं।

उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने इस बारे जानकारी देते हुए कहा कि ये केंद्र एवं हैल्प डेस्क प्रवासी मजदूरों एवं वापिस लौटे लोगों के सामने आए रोजगार के संकट को दूर करने में मददगार होंगे। उनकी ‘स्किल मैपिंग’ की जाएगी, ताकि कौशल के अनुरूप उन्हें जिला में चल रही विभिन्न योजनाओं के माध्यम से रोजगार प्रदान किया जा सके।  
उन्होंने कहा कि भारत के सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों का पालन करते हुए जिला में काउंसलिंग केंद्र एवं हैल्प डेस्क स्थापित किए गए हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने कोरोनाकाल में प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य लौटने में हर सम्भव सहायता प्रदान करने के साथ ही जो लोग बाहर से वापिस अपने घरों को आए हैं, उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए काउंसलिंग केंद्र एवं हैल्प डेस्क स्थापित करने के निर्देश दिए थे।
उपायुक्त ने कहा कि इन केन्द्रों का मुख्य उदेश्य बाहर से वापिस आए लोगों को आर्थिक गतिविधियों में जोड़ना है। प्रशासन ने इन केंद्रों में तैनात अधिकारियों के साथ वापिस आए लोगों का डाटा साझा किया है। ये केन्द्र हर व्यक्ति से सम्पर्क कर उनकी स्किल मैंपिंग करेंगे, ताकि प्रशासन के पास एक डाटा बेस तैयार हो जाए और यह जानकारी रहे कि जिला में किस-किस फील्ड में कितने स्किल्ड लोग हैं। इससे उनके कौशल के अनुरूप उन्हें जिला में चल रही विभिन्न योजनाओं के माध्यम से रोजगार प्रदान किया जा सकेगा।  
उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय हैल्प डेस्क के अलावा ब्लॉक स्तर पर संबंधित बीडीओ के नेतृत्व में काउंसलिंग केंद्र एवं हैल्प डेस्क स्थापित किए गए हैं। एसईबीपीओ इसके सदस्य बनाए गए हैं। ताकि तुरन्त रोजगार की आवश्यकता वाले मामलों में मनरेगा के माध्यम से रोजगार मुहैया करवाया जा सके।

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें