Wednesday, August 05, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
विशेष : अश्वमेध यज्ञ के समय निर्मित राम-सीता की मूर्तियाँ कुल्लू में हैं स्थापित, अयोध्या से कुल्लू का 370 साल पुराना रिश्तानाथपा झाकड़ी हाइड्रो पावर स्टेशन ने जुलाई माह के अपने पिछले सारे रिकार्ड को तोड़ते हुए सर्वाधिक मासिक विद्युत-उत्पादन का बनाया नया रिकॉर्डहिमाचल कैबिनेट : बड़ा फेरबदल, बिक्रम ठाकुर को मिला उद्योग के साथ परिवहन मंत्रालयGood News : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व परिवार वालों की रिपोर्ट नेगेटिवGood News : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व परिवार वालों की रिपोर्ट नेगेटिव ब्रेकिंग : कोरोना वायरस ने मुख्यमंत्री कार्यालय में दी दस्तक, उप-सचिव निकले कोरोना पॉजिटिवआगे-पीछे दुकानें आवंटित करने पर खोखा मार्केट यूनियन ख़फ़ा, हाईकोर्ट से लगाई शीघ्र न्याय प्रदान करने की गुहारबस में भी लगातार हैंड सैनिटाईजर का प्रयोग करें यात्री : डाक्टर विवेक शर्मा
-
राज्य

बाल-बालिका सुरक्षा योजना के तहत प्रतिमाह दिए जा रहे 2000 रुपए

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | August 01, 2020 04:09 PM
ऊना,
 
हिमाचल प्रदेश की जय राम ठाकुर सरकार बाल-बालिका सुरक्षा योजना के तहत अनाथ और असहाय बच्चों के पालन-पोषण तथा देखभाल के लिए पालक अभिभावकों को प्रति माह 2,000 रूपए की सहायता राशि प्रदान करती है। ऐसे बच्चों के नाम हर माह 500 रूपए की एफडीआर भी बनाई जाती है। कहीं ग़रीबी और अभाव, अनाथ और असहाय बच्चों से उनका बचपन न छीन ले, इसलिए जय राम सरकार उन्हें हर माह यह आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है। इन बच्चों को यह आर्थिक सहायता 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने तक प्रदान की जाती है। ये बच्चे बालिग होते ही एफडी में जमा धनराशि प्राप्त करने के हक़दार हो जाते हैं। एफडी में पहले हर माह 300 रुपए जमा किए जाते थे। लेकिन संवेदनशील जय राम सरकार ने 22 जुलाई, 2020 से इसे बढ़ाकर 500 रूपए प्रतिमाह कर दिया है। 
बाल-बालिका सुरक्षा योजना का मुख्य उद्देश्य अनाथ तथा असहाय बाल-बालिकाओं को जि़ला बाल संरक्षण अधिकारी की निग़रानी में पालन के लिए किसी संपन्न पारिवारिक वातावरण में रखना है ताकि उन्हें  बाल-बालिका आश्रमों में प्रवेश के लिए बाध्य न होना पड़े। योजना के तहत वर्ष 2016 से अब तक जि़ला ऊना के लगभग 200 बच्चों को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जा चुका है। वर्तमान में 148 बच्चे इस योजना का लाभ ले रहे हैं और इस पर 2.32 करोड़ रूपए की धनराशि व्यय की जा चुकी है।
बच्चों की पात्रता
जि़ला कार्यक्रम अधिकारी, आईसीडीएस सतनाम सिंह बताते हैं कि अनाथ और असहाय बच्चे इस योजना का लाभ ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त ऐसा बच्चा जिसके पिता का देहांत हो गया हो तथा मां ने दूसरी शादी कर ली हो और जो बच्चे की देखभाल नहीं करती हो या जिस बच्चे की मां का देहांत हो गया हो और पिता या माता-पिता दोनों जेल में हों या जिस बच्चे के माता-पिता दोनों एचआईवी पॉजि़टिव हों, इस योजना का लाभ लेने के पात्र हैं। 
माता-पिता की पात्रता
जि़ला बाल संरक्षण अधिकारी शाम लाल मल्होत्रा कहते हैं कि इस योजना का लाभ लेने वाले दंपत्ति एवं बच्चा दोनों हिमाचल के स्थाई निवासी होने चाहिए। पालक माता-पिता की कुल आयु 105 वर्ष से अधिक और दंपत्ति परिवार की आमदन 5,000 रूपए प्रतिमाह से कम नहीं होनी चाहिए। लेकिन अगर बच्चे का भरण-पोषण दादा-दादी या नाना-नानी कर रहे हैं, तो उन पर आयु तथा आमदन की शर्त लागू नहीं होगी। इस योजना में दंपत्ति तथा परिवार में रहने वाले सदस्यों को एचआईवी, टीबी तथा हेपेटाइटस-बी जैसी बिमारियों की चिकित्सा रिपोर्ट प्राप्त करनी होगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए पालना परिवार को बच्चे की बेहतर देखभाल की लिखित सहमति प्रदान करनी होगी। ऐसा न होने पर दत्तक ग्रहण एजेन्सी उनसे बच्चे वापिस ले सकती है।
अनिवार्य दस्तावेज़
इस योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेजों में पंचायत प्रमाण-पत्र, शपथ प्रमाण-पत्र, हिमाचली प्रमाण-पत्र, आधार कार्ड, स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र, मृत्यृ प्रमाण-पत्र, जन्म प्रमाण-पत्र, राशन कार्ड, परिवार की नकल, आय प्रमाण-पत्र, संयुक्त खाता नंबर (बच्चे सहित पालक माता या पिता) और दो पासपोर्ट साइज़ फोटो शामिल हैं। इन दस्तावेज़ों सहित जि़ला बाल संरक्षण अधिकारी कार्यालय या दूरभाष नंबर 01975-225850 तथा 9418115932 पर संपर्क किया जा सकता है।
Have something to say? Post your comment
और राज्य खबरें
कोविड केयर सेंटर सदयाणा में  वाटर प्यूरीफायर स्थापित  रोहाचड़ा से जुहड सड़क को पूरा कर बस चलाने की मांग मंडी में जल शक्ति अभियान के तहत जल प्रबन्धन पर जोर जिला ऊना के मेगा प्रोजेक्ट्स की नियमित मॉनिटरिंग आवश्यकः अनुराग ठाकुर सपनों का घरौंदा बनाने में शिवदयाल की मददगार बनी प्रधानमंत्री आवास योजना मंडी, कुल्लू, लाहौल-स्पिति के युवाओं को सेना में भर्ती का मौका लॉकडाउन से पैदा हुई विषम आर्थिक स्थितियों ने आम नागरिकों व छोटे तथा बड़े व्यापारियों का जनजीवन पूरी तरह प्रभावित राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने राजभवन में एक समारोह में नए मंत्रियों को दिलाई पद की शपथ  जाखू वार्ड में तीन कुल्लू में एसएसबी जवान और बिलासपुर में एक कोरोना संक्रमित कोरोना महामारी में भी लूट पाट कर रहे निजी विश्विद्यालय