Wednesday, February 24, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/XtZXmzukedcनगर निगम के चुनाव पार्टी चिन्ह पर करवाए जाने का कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राठौर ने किया स्वागतशराब और भांग का नशा ऐसा छाया की साधु ने तोड़े गाड़ी के शीशे,https://youtu.be/j8Ck3V67CNAफिर लोगों ने की जमकर पिटाईसुबह सुबह अवैध रूप से बिजली का प्रयोग करते विद्युत विभाग ने एक आरोपी दबोचा बड़ी खबर :एसजेवीएन अंतर्राष्ट्रीय सौर एलाईंस में शामिल हुआहमीरपुर जिला में हर्षोल्लास से मनाया गया 72वां गणतंत्र दिवस समारोह, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने की जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता, राष्ट्रध्वज फहराकर मार्चपास्ट की सलामी लीसमीक्षा : वार्ड पंच से लेकर जिला परिषद तक पटक डाले जनता ने , हेकड़ी , घमंड व बड़े नेताओं की धौंस हुईं जमींदोज पंचायत चुनाव : भीतरघात का ऑडियो वायरल, खूब हो रही चर्चाप्रथम चरण में हमीरपुर जिला में दिग्गजों ने किया मतदान, धूमल अनुराग ने समीरपुर , राजेंद्र राणा व अभिषेक राणा ने पटलांदर में किया मतदान
-
हिमाचल

चौपाल के मड़ावग में तैयार हुआ सेब का पहला स्मार्ट बगीचा, मोबाइल से होता है नियंत्रित

बालम गोगटा, जिला ब्यूरो प्रमुख , हिमालयन अपडेट | November 06, 2020 08:04 PM

चौपाल,

कोरोना काल के दौरान हिमाचल के शिमला से करीब 88 किमी दूर चौपाल के मड़ावग में सेब का पहला स्मार्ट बगीचा तैयार किया गया है। उच्च न्यायालय शिमला में वकालत कर रहे युवा बागवान तेजस्वी डोगरा ने सेंसर और माइक्रोचिप का प्रयोग कर मोबाइल से नियंत्रित होने वाला बगीचा तैयार किया है। तेजस्वी का दावा है कि पूरी तरह मोबाइल की मदद से प्रबंधन और नियंत्रण वाला यह पहला बगीचा है। शिमला में रहते हुए वह अपने बगीचे का पूरा रखरखाव मोबाइल की मदद से कर सकते हैं। स्मार्ट बगीचे की यह तकनीक उन बागवानों के लिए बेहद लाभप्रद है जो नौकरी या अन्य वजहों से बगीचे से दूर शहरों में रहते हैं। तेजस्वी डोगरा ने अपने उच्च घनत्व वाले बगीचे ‘समृति बाग’ में इटली से आयातित रेड वोलेक्स और डार्क बैरन गाला क्वालिटी के 250 पौधे एम9 रूट स्टॉक पर लगाए हैं। बगीचे में लगा ड्रिप इरिगेशन सिस्टम मोबाइल से ऑन-ऑफ होता है। कीटनाशकों के छिड़काव और तापमान को नियंत्रित करने के लिए स्मार्ट ओवरहेड शावर लगाए गए हैं। इन्हें भी मोबाइल के जरिए कमांड देकर संचालित किया जा सकता है। इसके अलावा बगीचे को लाइव देखने के लिए 360 डिग्री पर घूमने वाले कैमरे लगाए गए हैं। कैमरों को मोबाइल से जोड़ा गया है ताकि बगीचे को लाइव मोबाइल पर देखा जा सके। बगीचे के मुख्य गेट को भी मोबाइल से जोड़ा गया है। मोबाइल के जरिए ही गेट को लॉक और अनलॉक करने की सुविधा है। बचपन के शौक से मिली कामयाबी : तेजस्वी

तेजस्वी डोगरा की प्रारंभिक शिक्षा शिमला के सेंट एडवर्ड स्कूल से हुई है। स्नातक और वकालत की डिग्री पंजाब यूनिवर्सिटी से की है। तेजस्वी का कहना है कि बचपन से ही उन्हें इलेक्ट्रॉनिक्स का शौक था। लॉकडाउन के दौरान घर पर रहना पड़ा तो बगीचे को स्मार्ट बनाने का आइडिया आया। कोडिंग और प्रोग्रामिंग की मदद से बगीचे को स्मार्ट बनाने में कामयाबी मिली।

 

 

 

 
Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
https://youtu.be/95lYK4cJ5zI 2022 के चुनावों को लेकर कांग्रेस ने कसी कमर:विक्रमादित्य आनी में जल्द बनेंगी बहुमंजिला पार्किंग सहारा योजना के तहत प्रदान किए जा रहे 3000 रुपए कलाकारों ने दी जनमंच तथा मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन 1100 की जानकारी  आनी में गीत संगीत कला मंच बंजार के कलाकारों ने क्षय रोग से बचने के लिए किया जागरूक भावी पीढ़ी को पारंपरिक विधाओं को सिखाएं ताकि उन्हें संस्कृति का सम्वर्धन करने की प्रेरणा मिल सके - रोहित जम्वाल https://youtu.be/X9sLbdW-qScभगत सिंह और विवेकानंद की प्रतिमा ना लगाने पर बिफरे DYFI कार्यकर्ता ईवीएम मशीनों की मेमरी व टैग हटाने का कार्य शुरु ग्राम पंचायत प्राथा, जगजीतनगर, गोयला तथा टकसाल में 391 रोगियों की एनीमिया जांच फोक मीडिया के कलाकारों ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां