Monday, February 24, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग : शिक्षा विभाग उठाएगा एसिड पीड़ित छात्राओं के इलाज का ख़र्च , जाँच के बाद निष्कासित होगा आरोपित छात्र , पीड़ित परिवार को नहीं मिली एफ़आईआर की कॉपी(ब्रेकिंग) हमीरपुर : मर्डर केस में पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी आमिर खान, गिरफ़्तारी के बाद पुलिस ने तेज़ की जाँच Breaking News : नारकंडा में कार दुर्घटनाग्रस्त एक की मौतएसिड प्रकरण : आरोपी के ख़िलाफ़ रविवार को एफ़आईआर नंबर 13/2020 दर्ज, उटपुर पीएचसी से पुलिस ने लिए एमएलसी, आई जाँच में तेज़ी।एसिड प्रकरण : राम भरोसे सरकारी स्कूलों की विज्ञान प्रयोगशालाएँ , चपड़ासी से प्रोमोट हो लैब अटेंडेंट दे रहे सेवाएँ, हाई स्कूलों में नहीं है लैब अटेंडेंट की पोस्टअपडेट: एसिड पीड़िता शिवांगी का बयान लिख वापिस लौटी पुलिस, आज स्कूल प्रशासन से होगी पूछताछ, सिर्फ़ उटपुर में ही हुआ पीड़िता का इलाज, टौणी देवी या हमीरपुर में इलाज की ख़बरें निकली झूठीसरकाघाट राजदेई वृद्धा मामला : हाई कोर्ट से राहत मिली एक आरोपी को , गाँव में घुसे 23, राजदेई भी बेटी संग बड़ा समाहल में, जान को ख़तराअपडेट: शिवांगी ने कहा , “ वॉर्निंग देकर आरोपी कमाण्डो ने फैंका एसिड” मौक़े पर पहुँची पुलिस
-
राज्य

भारत वर्ष में प्रतिवर्ष तम्बाकू के सेवन से 10 लाख लोगों की हो रही मौत- मनोज तोमर

May 31, 2018 09:31 PM

 भारत वर्ष में प्रतिवर्ष तम्बाकू के सेवन से  10 लाख लोगों की हो रही  मौत- मनोज तोमर


शिमला। 

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस’ पर निदेशालय स्वास्थ्य सुरक्षा एवं विनियमन प्रदेश द्वारा जागरूकता एवं परामर्श शिविर का आयोजन वर्षा शालिका, रिज मैदान शिमला में किया गया। इस शिविर का शुभारंभ करते हुए निदेशक स्वास्थ्य सुरक्षा एवं विनियमन  मनोज तोमर ने बताया कि भारत वर्ष में प्रतिवर्ष तम्बाकू के सेवन से लगभग 10 लाख लोगों की मौत हो जाती है। तम्बाकू के धुएं में 4000 हनिकारक व जहरीले रसायन होते हैं, जिनमें निकोटीन तार और कार्बनमोनोक्साईड सबसे हानिकारक है। 

उन्होंने बताया कि जन साधारण को तम्बाकू उपयोग के दुष्प्रभव के प्रति जागरूक करने के लिए इस शिविर में मुख्य चिकित्सा अधिकारी शिमला के सूचना, शिक्षा एवं सम्प्रेषण प्रभाग द्वारा प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। शिविर में सामान्य लोगों व तम्बाकू सेवन करने वालों के फेफड़ों की क्षमता जांचने के लिए सिप्ला कम्पनी द्वारा अति आधुनिक मशीन सपाईरोमिट्री द्वारा लगभग 450 लोगों की निशुल्क जांच की गई। निदेशक स्वास्थ्य सुरक्षा एवं विनियमन ने बताया कि वर्ष 2013 में हिमाचल प्रदेश को धूम्रपान मुक्त प्रदेश घोषित किया गया है, प्रदेश में गुटखा खैनी इत्यादि बेचने पर प्रतिबंध है। सार्वजनिक स्थानों में धूम्रपान वर्जित है और शिक्षा संस्थान के 100 गज के दायरे में तम्बाकू उत्पाद बेचना अपराध है। तम्बाकू उत्पादों के पैकेट के 85 प्रतिशत भाग को वैधानिक चेतावनी के बगैर विक्रय करना गैर कानूनी है। सिगरेट व अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम कोटपा एक्ट को प्रदेश में प्रभावी व सख्ती से अमल में लाया जा रहा है। 

Have something to say? Post your comment
 
और राज्य खबरें
महाकालेश्वर मंदिर में  शिवरात्रि के उपलक्ष्य पर भंडारे आयोजन  लोगों ने पुल की रेलिंग पर जालियां लगाने की मांग की 4 करोड़ रुपए से बनेगा बरनोह-रैंसरी बाईपासः वीरेंद्र कंवर करण औजला लगाएंगे ‘पंजाबी तड़का थिरकन में दिखेगी हिमाचली संस्कृति की झलक क्रिकेटर मिताली राज ने नशे के विरुद्ध साइक्लोथॉन को दिखाई हरी झंडी फरवरी: हिमाचल प्रदेश सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग ने लोगो को किया जागरूक किसानों के खेतों में जाकर काम करें विभाग के अधिकारीः वीरेंद्र कंवर  प्रदेश को स्वच्छ बनाए रखने के लिए लोगों की सहभागिता आवश्यक 12 हजार लोगों को रोजगार प्रदान कर रही हैं लघु औद्योगिक इकाईयां निरमंड खंड की पहली पसंद बने एंकर अजीत डोगरा