Monday, April 19, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/OQPehgHx4H8 शहरी विकास मंत्री ने किया कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल डीडीयू का दौरा, बोले टेस्टिंग के बाद जल्द शुरू होगा ऑक्सीजन प्लांट,मुख्य सचिव ने सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए कृषि व बागवानी विभागों को कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिएहिमाचल में फ़र्ज़ी गाड़ियों के पंजीकरण को लेकर सीबीआई करे जाँच, मुख्यमंत्री कांग्रेस के नेताओं को धमकाना करें बन्द :अग्निहोत्री।प्रदेश में करोड़ो रूपये की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मुख्यमंत्री से मांगा श्वेतपत्र।हिमालयन अपडेट साहित्य सृजन की झारखंड इकाई के सफल नेतृत्व में विराट काव्य आयोजन हर्ष और उल्लास के साथ संपन्न आने वाले समय में नाइट कर्फ्यू और लॉक डाउन की संभावनाएं; मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर https://youtu.be/DuPN5b7gdiQ नीजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक मंच ने जिला प्रशाशन को सौंपा ज्ञापन,कार्यवाही की की मांग https://youtu.be/_2J8oLo8-jo कोरोना महामारी के चलते प्रदेश में सादगी से मनाया गया 73वा हिमाचल दिवस ।
-
देश

लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था में बातचीत ही वह सर्वश्रेष्‍ठ माध्‍यम है जो विचार-विमर्श को विवाद में परिणत नहीं होने देता: राष्‍ट्रपति कोविंद

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | November 25, 2020 07:01 PM



राष्‍ट्रपति ने पीठासीन अधिकारियों के 80वें अखिल भारतीय सम्‍मेलन का केवडिया में उद्घाटन किया

 
 दिल्ली ,

राष्‍ट्रपति  रामनाथ कोविंद ने  गुजरात के केवडिया में पीठासीन अधिकारियों के 80वें अखिल भारतीय सम्‍मेलन का उद्घाटन करते हुए कहा कि लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था में बातचीत का माध्‍यम ही वह सर्वश्रेष्‍ठ माध्‍यम है जो विचार-विमर्श को विवाद में परिणत नहीं होने देता।

राष्‍ट्रपति ने कहा कि संसदीय लोकतंत्र में सत्तारूढ़ दल के साथ-साथ विपक्ष की भी बहुत महत्‍वपूर्ण भूमिका होती है इसलिए इन दोनों के बीच सामंजस्‍य, सहयोग और सार्थक विचार-विमर्श बहुत जरूरी है। पीठासीन अधिकारियों की यह जिम्‍मेदारी है कि वे सदन में जन प्रतिनिधियों को स्‍वस्‍थ बहस के लिए अनुकूल माहौल प्रदान करें और सभ्‍य व्‍यवहार तथा विचार-विमर्श को प्रोत्‍साहित करें।

राष्‍ट्रपति ने कहा कि निष्‍पक्षता और न्‍याय हमारी संसदीय लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था का आधार है। सदन में अध्‍यक्ष का आसन-गरिमा और कर्तव्‍य पालन का पर्याय है। इसके लिए पूरी ईमानदारी और न्‍याय की भावना होना जरूरी है। यह निष्‍पक्षता, न्‍यायपरायणता और सद्व्‍यवहार का भी प्रतीक है और पीठासीन अधिकारियों से यह आशा की जाती है कि वे अपने कर्तव्‍य पालन में इन आदर्शों का ध्‍यान रखेंगे। राष्‍ट्रपति ने कहा कि लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था लोगों के कल्‍याण के लिए सबसे प्रभावी व्‍यवस्‍था साबित हुई है। अत: संसद और विधानसभा का सदस्‍य होना बहुत गर्व की बात है।

उन्‍होंने कहा कि लोगों की बेहतरी और देश की प्रगति के लिए सदस्‍यों और पीठासीन अधिकारियों को एक-दूसरे की गरिमा का ध्‍यान रखना चाहिए। पीठासीन अधिकारी का पद एक सम्‍मानित पद है, संसद सदस्‍यों और विधानसभा के सदस्‍यों को खुद अपने लिए और संसदीय लोकतंत्र के लिए सम्‍मान अर्जित करना होता है।

राष्‍ट्रपति ने कहा कि संसद और विधानसभाएं हमारी संसदीय व्‍यवस्‍था के मुख्‍य अंग हैं। उन पर देशवासियों के बेहतर भविष्‍य के लिए काम करने की महत्‍वपूर्ण जिम्‍मेदारी होती है। पिछले कुछ दशकों में आम जनता की आकांक्षाओं, इच्‍छाओं और जागरूकता में वृद्धि हुई है इ‍सलिए संसद और विधानसभाओं की भूमिका और जिम्‍मेदारियों पर पहले से ज्‍यादा ध्‍यान दिया जाने लगा है। जन प्रतिनिधियों से यह उम्‍मीद की जाती है कि वे लोकतंत्र के सिद्धांतों के प्रति पूरी तरह ईमानदारी बरतें। लोकतांत्रिक संस्‍थाओं और जन प्रतिनिधियों के सामने सबसे बड़ी चुनौती जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप आचरण करना है।

राष्‍ट्रपति ने इस बात पर प्रसन्‍नता जताई कि इस वर्ष के सम्‍मेलन का मुख्‍य विषय ‘कार्यकारिणी, विधायिका और न्‍यायपालिका के बीच सद्भावपूर्ण सामंजस्‍य – एक जीवंत लोकतंत्र के लिए अनिवार्य’ है। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य के तीनों स्‍तम्‍भों – कार्यकारिणी, विधायिका और न्‍यायपालिका – पूरे सामंजस्‍य के साथ काम कर रहे हैं और इस परंपरा की जड़ें भारत में बहुत गहरी हैं। उन्‍होंने विश्‍वास जताया कि इस सम्‍मेलन के दौरान होने वाले विचार-विमर्श से प्राप्‍त निष्‍कर्षों को आत्‍मसात करने से हमारी लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था और मजबूत होगी।

राष्‍ट्रपति ने कहा कि लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था, जन कल्‍याण, खासतौर से समाज के गरीब, पिछड़े और वंचित तबकों के उत्‍थान और देश की प्रगति के श्रेष्‍ठ लक्ष्‍य से परिचालित होती है। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि सरकार के तीनों मुख्‍य अंग इस लक्ष्‍य को प्राप्‍त करने के लिए साथ मिलकर काम करते रहेंगे।

Have something to say? Post your comment
और देश खबरें
हिमाचल में फ़र्ज़ी गाड़ियों के पंजीकरण को लेकर सीबीआई करे जाँच, मुख्यमंत्री कांग्रेस के नेताओं को धमकाना करें बन्द :अग्निहोत्री। प्रदेश में करोड़ो रूपये की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मुख्यमंत्री से मांगा श्वेतपत्र। हिमालयन अपडेट साहित्य सृजन की झारखंड इकाई के सफल नेतृत्व में विराट काव्य आयोजन हर्ष और उल्लास के साथ संपन्न चित्रगुप्त सामाजिक संस्थान के तत्वावधान में रंगोत्सव कवि-सम्मेलन का आयोजन https://youtu.be/ZBYtgLyYkb0 सदन में उठा राम स्वरूप शर्मा की आत्महत्या का मुद्दा, विपक्ष ने नेता ने सीबीआई जांच की उठाई मांग डॉ. ममता बनर्जी मंजरी की पुस्तक " मिहिर अथ कथा सुनाओं " का राज्यपाल ने किया लोकार्पण https://youtu.be/gxefkQ0uBtw अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं के सम्मान में रिज पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन, https://youtu.be/8nGvGcMGHZs प्रधानमंत्री ने 75 सौ वां जन ओषधि केंद्र देश को किया समर्पित विराट कवयित्री परिवार समिति ने बसंत पंचमी पर ऑनलाइन काव्य गोष्ठी आयोजित चहू ओर उड़ती धूल में कैसा वसंत;मधु सोसि