Monday, April 19, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/OQPehgHx4H8 शहरी विकास मंत्री ने किया कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल डीडीयू का दौरा, बोले टेस्टिंग के बाद जल्द शुरू होगा ऑक्सीजन प्लांट,मुख्य सचिव ने सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए कृषि व बागवानी विभागों को कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिएहिमाचल में फ़र्ज़ी गाड़ियों के पंजीकरण को लेकर सीबीआई करे जाँच, मुख्यमंत्री कांग्रेस के नेताओं को धमकाना करें बन्द :अग्निहोत्री।प्रदेश में करोड़ो रूपये की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मुख्यमंत्री से मांगा श्वेतपत्र।हिमालयन अपडेट साहित्य सृजन की झारखंड इकाई के सफल नेतृत्व में विराट काव्य आयोजन हर्ष और उल्लास के साथ संपन्न आने वाले समय में नाइट कर्फ्यू और लॉक डाउन की संभावनाएं; मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर https://youtu.be/DuPN5b7gdiQ नीजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक मंच ने जिला प्रशाशन को सौंपा ज्ञापन,कार्यवाही की की मांग https://youtu.be/_2J8oLo8-jo कोरोना महामारी के चलते प्रदेश में सादगी से मनाया गया 73वा हिमाचल दिवस ।
-
धर्म संस्कृति

अकादमी के मंच पर निर्गुण पद, गणगौर एवं निमाड़ी लोकगीतों का गायन

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | December 07, 2020 01:11 PM

शिमला,

हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी शिमला वर्तमान कोरोना काल में फेसबुक और यूट्यूब लाइव के माध्यम से रोजाना साहित्य कला संवाद कार्यक्रम का प्रसारण कर रही है। यह कार्यक्रम साहित्य, कला, भाषा, संस्कृति और सामयिक चिंतन के लिए समर्पित है। इस कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश और देश के विभिन्न भागों से आमंत्रित साहित्यकार, कलाकार, बुद्धिजीवी, पत्रकार, समाजसेवी विद्वान अपने विचार साझा करते हुए अपनी रचनाओं का पाठ कर चुके है। साहित्य कला संवाद कार्यक्रम के माध्यम से अब तक एक सौ नब्बे से अधिक सफल कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं जिनमें कलाकारो, साहित्यकारों, पत्रकारों तथा बुद्धिजीवियों द्वारा विभिन्न विषयों पर अपने विचार व्यक्त किए गए, व्याख्यान प्रस्तुत किए और अपनी रचनाओं का भी पाठ किया गया।

 

इस श्रंखला में रविवार, 06 दिसम्बर 2020 को प्रसारित 194वें एपिसोड में मध्यप्रदेश से सुमित शर्मा व मिशा शर्मा ने संगीत संध्या में भाग लिया।

सुमित शर्मा व मिशा शर्मा मध्यप्रदेश के भुआणा निमाड़ जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में रहते हैं एवं लोककवि संत सिंगाजी के निर्गुण पद, गणगौर एवं निमाड़ी लोकगीतों का गायन करते हैं जो कि 500 वर्ष पुरानी परंपरा है इस परंपरा को इन्होंने पुनर्जीवित किया है, इनके परिवार में कई पीढ़ियों से लोकगायन एवं लोकनाट्य की परंपरा रही है, वर्तमान में शर्मा दंपत्ति ग्वालियर घराने के मूर्धन्य गायक  विजय सप्रे  से शास्त्रीय संगीत की तालीम ले रहे हैं, 

 

मालवा-निमाड़ में अत्यंत प्रसिद्ध लोक कवि संत सिंगाजी महाराज ने अपने जीवनकाल में गृहस्थ होकर भी निर्गुण उपासना की। उनका तीर्थ, व्रत आदि में विश्वास नहीं था। उनका कहना था कि सब तीर्थ मनुष्य के मन में ही हैं। जिसने अपने अन्तर्मन को देख लिया, उसने सारे तीर्थों का फल प्राप्त ‍कर लिया। सिंगाजी महाराज ने अपनी अलौकिक वाणी से तत्कालीन समाज में व्यापक परिवर्तन किए।

 

हिमाचल अकादमी के सचिव डा. कर्म सिंह और सम्पादक हितेन्द्र शर्मा ने बताया कि साहित्य कला संवाद कार्यक्रम भविष्य में भी निरंतर रोज़ाना प्रसारित होता रहेगा। उन्होंने सभी दर्शको से हिमाचल अकादमी के फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल को अधिक से अधिक लाईक, सब्सक्रिप्शन और शेयर करने की अपील की है जिससे यह कार्यक्रम घर-परिवार तक पहुंच कर सभी सुधी दर्शको को लाभान्वित कर सके।

Have something to say? Post your comment
और धर्म संस्कृति खबरें
https://youtu.be/-5T6PJJk18wशिमला के राम मंदिर से निकली भगवान राम की शोभा यात्रा https://youtu.be/wGibqbyPgzo स्वर्ण आयोग के गठन की मांग को लेकर कल सचिवालय के बाहर महाधरना मंजीत शर्मा की अध्यक्षता में जाखू में मंदिर न्यास सदस्य समिति की बैठक का आयोजन किया गया https://youtu.be/qA4yu0-24Yc हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी एवं हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ द्वारा काव्य सम्मेलन आयोजित https://youtu.be/g3eAQpGciUg शिवरात्रि पर शिवालयों में दिखी भक्तों की लंबी कतारें, शिमला में शिव जी की निकाली गई बारात शिवरात्रि पर शिवालयों में दिखी भक्तों की लंबी कतारें, शिमला में शिव जी की निकाली गई बारात लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरें जनप्रतिनिधिः राज्यपाल 15 दिनों के स्वर्ग प्रवास के बाद देवालय लौटे देवता, मंदिरों में पूजा अर्चना शुरू चिंतपूर्णी नव वर्ष मेला के दौरान जिला में 31 दिसंबर, 2020 व 1 जनवरी, 2021 को लागू रहेगी धारा 144 -डीसी देवठन के बाद शिरगुल देवता मंदिर के कपाट पाँच माह के लिए बंद।