Wednesday, January 20, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
पंचायत चुनाव : भीतरघात का ऑडियो वायरल, खूब हो रही चर्चाप्रथम चरण में हमीरपुर जिला में दिग्गजों ने किया मतदान, धूमल अनुराग ने समीरपुर , राजेंद्र राणा व अभिषेक राणा ने पटलांदर में किया मतदानसाहित्य संगम संस्थान नई दिल्ली द्वारा हुआ हिमाचल इकाई का भव्य उद्घाटनबारीं पंचायत में उपप्रधानी के लिए पांच के बीच फंसा जीत का पंजा बारीं की 95 वर्षीय बोहरी देवी इस बार भी मतदान को तैयार, पिछले 60 वर्षों से हर चुनाव में किया मतदानबमसन पंचायत समिति के लिए दो दिनों में भरे 90 नामांकन, ग्राम पंचायत बारीं में प्रधान पद के लिए जबरदस्त मुकाबलाBreaking : 37.9 किलोग्राम नशीले पदार्थ का फरार आरोपी हमीरपुर पुलिस ने दबोचा अफसोस रहेगा
-
व्यक्ति विशेष

बारीं की 95 वर्षीय बोहरी देवी इस बार भी मतदान को तैयार, पिछले 60 वर्षों से हर चुनाव में किया मतदान

रजनीश शर्मा ( 9882751006) | January 04, 2021 06:32 PM
बारीं की 95 वर्षीय बोहरी देवी जोकि पंचायत चुनाव के लिए 19 जनवरी को मतदान करने को तैयार है।

रजनीश शर्मा / हमीरपुर 

पंचायत चुनावों को लेकर न केवल पहली बार वोट डालने वाले या महिला-पुरुषों में उत्साह दिख रहा है बल्कि यह उत्साह बुजुर्गों में भी दिख रहा है। कहीं बुजुर्ग बेटे या बहु का सहारा लेकर वोट डालने पोलिंग बूथ तक पहुंचने की बात कर रहे हैं तो कहीं किसी की पीठ पर लद कर वोट डालने की बात कर रहे हैं।

हमीरपुर जिले के टौणी देवी ब्लॉक के बारीं गाव की बुजुर्ग 95 वर्षीय बोहरी देवी पत्नी रामशरण पिछले 60 साल से हर चुनाव में मतदान कर अपने लोकतांत्रिक अधिकार का प्रयोग कर रही है। वह इस बार भी 19 जनवरी को बारीं स्कूल में स्थित पोलिंग स्टेशन पर मतदान करने के लिए तैयार है।

बोहरी देवी को यह भी पता है कि बारीं पंचायत से प्रधान पद के लिए कौन कौन चुनाव लड़ रहा है।इस उम्र में भी बोहरी देवी सारा काम करने की क्षमता रखती है। मतदान को लेकर इनकी जागरूकता उन लोगों के लिए सन्देश है जो मतदान करने से टलते हैं।

इस बारे में उनके पारिवारिक सदस्य सुनील उर्फ सन्नी ने बताया कि साधारण जीवन और संतुलित खानपान के कारण उनकी दादी अभी भी चुस्त दुरुस्त है। उन्होंने कहा कि बारीं और झानिक्कर सहित अन्य वार्डों के बुज़ुर्ग भी पंचायत चुनावों को लेकर जागरूक हैं तथा मतदान करेंगे।


इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोई भी बीमारी या परेशानी इन बुजुर्गों को वोट डालने से नहीं रोक सकती। बुजुर्गों की यही सोच है कि इस बार के प्रधान , उपप्रधान, पंच, बी डी सी और जिला परिषद सदस्य चुनने में वह अपना पूरा योगदान दे सकें। इन बुजुर्गों को देखकर सभी को वोट डालने की सीख लेनी चाहिए।

 
Have something to say? Post your comment
और व्यक्ति विशेष खबरें