Monday, April 19, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
मुख्य सचिव ने सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए कृषि व बागवानी विभागों को कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिएहिमाचल में फ़र्ज़ी गाड़ियों के पंजीकरण को लेकर सीबीआई करे जाँच, मुख्यमंत्री कांग्रेस के नेताओं को धमकाना करें बन्द :अग्निहोत्री।प्रदेश में करोड़ो रूपये की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मुख्यमंत्री से मांगा श्वेतपत्र।हिमालयन अपडेट साहित्य सृजन की झारखंड इकाई के सफल नेतृत्व में विराट काव्य आयोजन हर्ष और उल्लास के साथ संपन्न आने वाले समय में नाइट कर्फ्यू और लॉक डाउन की संभावनाएं; मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर https://youtu.be/DuPN5b7gdiQ नीजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक मंच ने जिला प्रशाशन को सौंपा ज्ञापन,कार्यवाही की की मांग https://youtu.be/_2J8oLo8-jo कोरोना महामारी के चलते प्रदेश में सादगी से मनाया गया 73वा हिमाचल दिवस ।हि.प्र. स्कूल शिक्षा बोर्ड और विश्वविद्यालय स्नातक स्तर की परीक्षाएं स्थगित
-
व्यक्ति विशेष

बारीं की 95 वर्षीय बोहरी देवी इस बार भी मतदान को तैयार, पिछले 60 वर्षों से हर चुनाव में किया मतदान

रजनीश शर्मा ( 9882751006) | January 04, 2021 06:32 PM
बारीं की 95 वर्षीय बोहरी देवी जोकि पंचायत चुनाव के लिए 19 जनवरी को मतदान करने को तैयार है।

रजनीश शर्मा / हमीरपुर 

पंचायत चुनावों को लेकर न केवल पहली बार वोट डालने वाले या महिला-पुरुषों में उत्साह दिख रहा है बल्कि यह उत्साह बुजुर्गों में भी दिख रहा है। कहीं बुजुर्ग बेटे या बहु का सहारा लेकर वोट डालने पोलिंग बूथ तक पहुंचने की बात कर रहे हैं तो कहीं किसी की पीठ पर लद कर वोट डालने की बात कर रहे हैं।

हमीरपुर जिले के टौणी देवी ब्लॉक के बारीं गाव की बुजुर्ग 95 वर्षीय बोहरी देवी पत्नी रामशरण पिछले 60 साल से हर चुनाव में मतदान कर अपने लोकतांत्रिक अधिकार का प्रयोग कर रही है। वह इस बार भी 19 जनवरी को बारीं स्कूल में स्थित पोलिंग स्टेशन पर मतदान करने के लिए तैयार है।

बोहरी देवी को यह भी पता है कि बारीं पंचायत से प्रधान पद के लिए कौन कौन चुनाव लड़ रहा है।इस उम्र में भी बोहरी देवी सारा काम करने की क्षमता रखती है। मतदान को लेकर इनकी जागरूकता उन लोगों के लिए सन्देश है जो मतदान करने से टलते हैं।

इस बारे में उनके पारिवारिक सदस्य सुनील उर्फ सन्नी ने बताया कि साधारण जीवन और संतुलित खानपान के कारण उनकी दादी अभी भी चुस्त दुरुस्त है। उन्होंने कहा कि बारीं और झानिक्कर सहित अन्य वार्डों के बुज़ुर्ग भी पंचायत चुनावों को लेकर जागरूक हैं तथा मतदान करेंगे।


इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोई भी बीमारी या परेशानी इन बुजुर्गों को वोट डालने से नहीं रोक सकती। बुजुर्गों की यही सोच है कि इस बार के प्रधान , उपप्रधान, पंच, बी डी सी और जिला परिषद सदस्य चुनने में वह अपना पूरा योगदान दे सकें। इन बुजुर्गों को देखकर सभी को वोट डालने की सीख लेनी चाहिए।

Have something to say? Post your comment