Friday, April 23, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/cYVUOPti0BQ हिमाचल में अप्रैल माह में बर्फबारी ने पिछले 20 साल का रेकॉर्ड तोड़ाछात्र अभिभावक संघ ने ट्यूशन फीस में हुई 60% वृद्धि को घटाने की रखी मांगछात्र अभिभावक संघ ने ट्यूशन फीस में हुई 60% वृद्धि को घटाने की रखी मांगशिमला के संजोली में बारिश में गिरा 5 मंज़िला भवन,कोई जानी नुक्सान नही,बीते दिन ही खाली करवाया था भवन। https://youtu.be/YtMt-7bwLzQ भाजपा महिला मोर्चा द्वारा शिमला के KNH अस्पताल में रक्तदान शिविर का किया गया आयोजन |https://youtu.be/HPU3rgVIobA अध्यापक संघ बोला प्रदेश में पहली बार हुआ अभिव्यक्ति की आजादी छीनने का प्रयास, सरकार अधिसूचना करें निरस्त नही तो संघ खटखटाएगा कोर्ट का दरवाजा https://youtu.be/N19nHHLdfeY हिमाचल में लॉक डाउन व कर्फ्यू के लिए डीसी को दी शक्तियां,लेकिन लॉक डाउन व कर्फ्यू लगाने से पहले सरकार से लेनी होगी अनुमतिकोरोना महामारी के कारन मंदिरों में लगी बंदिशों से प्रशाद विक्रेताओं का कारोबार हुआ चौपट ;प्रदेश सर्कार से लगायी मदद की गुहार
-
कारोबार

बड़ी खबर :एसजेवीएन अंतर्राष्ट्रीय सौर एलाईंस में शामिल हुआ

ब्यूरो हिमालयन अपडेट | February 05, 2021 09:58 PM

 

शिमला ,

एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नन्‍द लाल शर्मा ने माननीय विद्युत एवं नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) आर. के. सिंह की गरिमामयी उपस्थिति में अंतर्राष्‍ट्रीय सौर एलाईंस (आईएसए) के कारपोरेट सदस्‍य के रूप में शामिल होते हुए अंतर्राष्ट्रीय सौर एलाईंस (आईएसए) के महानिदेशक उपेन्द्र त्रिपाठी को 7.4 करोड़ रुपए (यूएसडी 1 मिलियन) का चेक भेंट किया। इस अवसर पर एसजेवीएन के निदेशक(सिविल) एस.पी. बंसल एवं निदेशक (वित्त)  ए.के. सिंह भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर  नन्‍द लाल शर्मा ने बताया कि, यह प्रतिष्ठित सदस्यता एसजेवीएन को सुरक्षित, सुविधाजनक, किफायती, निष्‍पक्ष तथा सततशील तरीके से सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ाने के लिए सदस्य देशों के बीच सहयोग जुटाने के लिए एक वैश्विक मंच प्रदान करेगी । उन्होंने अवगत करवाया कि, हमारे माननीय प्रधानमंत्री ने हाल ही में 'वन सन, वन वर्ल्ड, वन ग्रिड' (ओएसओडब्‍ल्‍यूओजी) के मंत्र के साथ सीमापार सौर ऊर्जा आपूर्ति को जोड़ने का आह्वान किया है। सौर ऊर्जा पर विशेष ध्यान देने के साथ आईएसए एकमात्र अंतरराष्ट्रीय निकाय है। अब तक 67 देशों ने आईएसए के फ्रेमवर्क समझौते को अंगीकृत किया है तथा इस समझौते पर 86 देशों ने हस्ताक्षर किए हैं।

 शर्मा ने आगे बताया कि, अब एसजेवीएन अपने कारपोरेट सदस्‍य के रूप में आईएसए की विभिन्न परियोजनाओं/ योजनाओं/कार्यक्रमों से जुड़ा होगा, जो एसजेवीएन को ब्रांड दृश्यता तथा व्यावसायिक लाभ दोनों प्रदान करेगा। इसका लाभ तत्काल एवं दीर्घावधि स्‍वरूप का होगा, जिसमें विभिन्‍न अन्‍य देशों में व्‍यवसाय विस्‍तार के लिए नवीनतम प्रौद्योगिकियों, अनुसंधान एवं विकास, नवाचार और अवसरों पर अपडेट शामिल हैं। एसजेवीएन ने आने वाले वर्षों में अतिरिक्‍त क्षमतागत बढ़ोत्‍तरी के महत्‍वाकांक्षी लक्ष्यों को निर्धारित किया है।


अंतरराष्ट्रीय सौर एलाईंस (आईएसए) की परिकल्पना सौर संसाधन संपन्न देशों के एलाईंस के रूप में की गई थी ताकि उनकी ऊर्जा जरूरतों को पूरा किया जा सके । अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) का लक्ष्‍य जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता को कम करने हेतु सौर ऊर्जा के कुशल दोहन के लिए कार्य करना है तथा इसका उद्देश्य सार्वभौमिक ऊर्जा पहुंच की उपलब्धि एवं जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने की दिशा में अपने प्रयासों में सदस्य देशों तथा अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों का समर्थन करना है ।

Have something to say? Post your comment
और कारोबार खबरें
त्रिमंडल ने लक्ष्‍मी विलास बैंक के डीबीएस बैंक इंडिया लिमिटेड में विलय की योजना को मंजूरी दी टुटु व्यापार मंडल ने ऑनलाइन कंपनीयों को होम डिलीवरी की छूट देने पर सरकार को घेरा सरकार द्वारा दूध के दाम बढ़ाने पर जताया आभार एसजेवीएन ने अरुणाचल प्रदेश की संभावित जलविद्युत क्षमता के दोहन में रुचि व्‍यक्‍त एसजेवीएन सर्वश्रेष्‍ठ जलविद्युत कंपनी के सीबीआईपी अवार्ड 2020 से सम्मानित हिमाचल सरकार ने 10095 करोड़ के समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए मर्जर के खिलाफ देश भर में आज बैंक रहे बंद बंजार के बागबान पदम देव ने अनार से की आर्थिकी सुदृढ़ हाईब्रीड मक्की बीज ने मालामाल किए किसान,सुदृड़ हुई आर्थिकी उद्योग मंत्री ने जीएसटी परिषद की 37वीं बैठक में भाग लिया