Friday, April 23, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
हिमाचल में अप्रैल माह में बर्फबारी ने पिछले 20 साल का रेकॉर्ड तोड़ाछात्र अभिभावक संघ ने ट्यूशन फीस में हुई 60% वृद्धि को घटाने की रखी मांगछात्र अभिभावक संघ ने ट्यूशन फीस में हुई 60% वृद्धि को घटाने की रखी मांगशिमला के संजोली में बारिश में गिरा 5 मंज़िला भवन,कोई जानी नुक्सान नही,बीते दिन ही खाली करवाया था भवन। https://youtu.be/YtMt-7bwLzQ भाजपा महिला मोर्चा द्वारा शिमला के KNH अस्पताल में रक्तदान शिविर का किया गया आयोजन |https://youtu.be/HPU3rgVIobA अध्यापक संघ बोला प्रदेश में पहली बार हुआ अभिव्यक्ति की आजादी छीनने का प्रयास, सरकार अधिसूचना करें निरस्त नही तो संघ खटखटाएगा कोर्ट का दरवाजा https://youtu.be/N19nHHLdfeY हिमाचल में लॉक डाउन व कर्फ्यू के लिए डीसी को दी शक्तियां,लेकिन लॉक डाउन व कर्फ्यू लगाने से पहले सरकार से लेनी होगी अनुमतिकोरोना महामारी के कारन मंदिरों में लगी बंदिशों से प्रशाद विक्रेताओं का कारोबार हुआ चौपट ;प्रदेश सर्कार से लगायी मदद की गुहार
-
राज्य

पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधि लोगों को सड़क सुरक्षा नियमों के बारे शिक्षित करे

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | February 17, 2021 06:55 PM

बिलासपुर,

 

सड़क सुरक्षा हम सभी का दायित्व है और इसमें सभी की भागीदारी सुनिश्चित होना अनिवार्य है, विशेषकर युवा वर्ग को सड़क सुरक्षा नियमों के बारे में जागरूक होना आवश्यक है। यह बात विधायक सुभाष ठाकुर ने सदर बिलासपुर से नवनिर्वाचित पंचायत राज प्रतिनिधियों के लिए सड़क सुरक्षा माह के अंतर्गत अयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कही।
उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा माह का उद्देश्य आम जन को सड़क एवं यातायात सुरक्षा से सम्बन्धित नियमों की जानकारी देने के साथ-साथ दुर्घटना होने की स्थिति में संवेदनशीलता अपनाने के लिए प्रेरित करना है।
उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों को जीत के लिए बधाई दी और कहा कि पंचायत राज संस्थाएं लोकतंत्र का एक अभिन्न अंग है और लोगों को सही विषयों को उन तक पहंुचाना और उसके बारे में जागरूक करना पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियां का दायित्व है। उन्होंने कहा कि समस्त प्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को सड़क सुरक्षा नियमों के बारे शिक्षित करें और इन्हें जीवन में अपनाने के लिए प्रेरित करें।
उन्होंने पंचायती राज के नव निर्वाचित प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि मिलझुल कर युवाओं को जागरूक करें और उन्हें वस्तुतः जिम्मेदारियों के प्रति अगाह करें। उन्होंने कहा कि पंचायत राज संस्थाओं के प्रतिनिधि समाज का नेतृत्व कर रहे है, सड़क सुरक्षा नियमों का संदेश घर-घर तक पहंुचाने का प्रयास करें क्योंकि यही वास्तविक में समाज सेवा है तभी इसके सार्थक परिणाम सामने आएंगे।
उन्होंने कहा कि वाहन चलाते समय तथा सड़क पर पैदल चलते समय में सभी सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करके स्वयं भी सुरक्षित रह सकते है तथा दूसरों को भी सुरक्षा प्रदान कर सकते है। उन्होंने युवाओं से आहवान करते हुए कहा कि दोपहिया वाहन चलते समय हमेशा हलमेट का प्रयोग करें क्योंकि यह जीवन रक्षक है।
उन्होंने कहा कि अकसर सड़क दुर्घटनाएं मानवीय चूक के कारण होती है, तकनीकी खराबी के कारण बहुत कम सड़क दुर्घटनाएं होती है।
उन्होंने कहा कि देश में हर एक मिनट में एक सड़क दुर्घटना घटित होती है। दुर्घटनाओं में कमी लाने के उद्देश्य से ही इस प्रकार के अभियानों को चलाया जाता है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष एक माह तक चले सड़क सुरक्षा अभियान की सार्थकता तभी सिद्ध होगी जब सभी लोग सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करेंगे और दुर्घटनाओं में कमी आएगी।
उन्होंने आम जन से भी आहवान किया कि सड़क सुरक्षा नियमों को पूरी तत्परता और लगन से अपनाए और इस अभियान को जन आंदोलन के रूप में लें तभी अनहोनी सड़क दुर्घटनाओं को कम किया जा सकता है।  
इस अवसर पर उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं में पीड़ितों की सहायता करने के लिए कर्तव्यनिष्ठा से अपनी ड्यूटी का निर्वहन करने के लिए नेक व्यक्तियों को प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह् देकर सम्मानित किया।
क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी योगराज धीमान ने सड़क सुरक्षा माह के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि 18 जनवरी से 17 फरवरी तक चलाए गए सड़क सुरक्षा जागरूक माह के दौरान लोगों को सड़क सुरक्षा नियमों के बारे में विभिन्न गतिविधियों आयोजित करके लोगों को जागरूक किया गया ताकि समाज में जागृति लाई जा सके और समाज का प्रत्येक व्यक्ति सुरक्षित हो। उन्होंने बताया कि सड़क सुरक्षा नियमों के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए पैदल चलने वाले प्रत्येक व्यक्ति, वाहन चालकों, युवाओं के लिए कार्यशालाएं आयोजित की गई जिसमें सभी वर्गों को इस अभियान में सम्मिलित किया गया। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा समाज से जुड़ा हुआ है इसलिए इस अभियान में सबकी भागीदारी अनिवार्य है।
उन्होंने बताया कि दुर्घटना की स्थिति में समय पर प्राप्त स्वास्थ्य सहायता मानवीय जीवन को बचाने में महत्वपूर्ण है। दुर्घटना में घायल व्यक्ति की सहायता के विषय में आज भी लोगों अनेक भ्रांतियां है और इसके निवारण की ओर ध्यान दिया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि वाहन चलाते समय मोबाईल का प्रयोग न करें। नशे से दूर रहें, दोपहिया वाहन हमेशा हेलमेट पहन कर चलाएं। वाहन निर्धारित गति सीमा से तेज न चलाएं।
इस मौके पर नाट्य दल जन चेतना कलामंच के कलाकारों द्वारा गीत संगीत एवं नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सड़क सुरक्षा नियमों का पालन करने बारे संदेश दिया।  
इस अवसर पर जिला परिषद अध्यक्ष कुमार मुस्कान, मण्डल अध्यक्ष हंस राज ठाकुर, नगर परिषद अध्यक्ष कमलेन्द्र कश्यप, बीडीसी अध्यक्ष सीता धीमान, उपाध्यक्ष मस्त राम, जिला महामंत्री आशीष ढिल्लों, सदर महामंत्री प्यारे लाल, पवन, सीएमओ डाॅ. प्रकाश दडोच, बीडीओ भाग सिंह, डीपीओ शशिबाला, सुशील पुडीर, रेड क्राॅस सचिव अमित के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं पंचायती राज संस्थाओं के नव निर्वाचित प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Have something to say? Post your comment
और राज्य खबरें
प्रदेश सचिवालय के बाहर सामान्य वर्ग का महाधरना, किया चक्का जाम कोविड-19 के दृष्टिगत जिला दण्डाधिकारी रोहित जम्वाल ने किए आदेश जारी विधायक जीत राम कटवाल ने किया जिला स्तरीय बैसाखी नलवाड़ मेला झंडूता में बैलों का सांकेतिक पूजन आनी में 79.7 और निरमंड में 77.1 फीसदी रहा मतदान प्रतिशत 65 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं को पेंशन, जय राम सरकार के फैसले की सराहना इलैक्ट्राॅनिक वोटिंग मशीनों की प्रथम स्तरीय जांच पूर्ण नगर निगम निर्वाचन के दृष्टिगत उड़न दस्ते गठित लोगो को मास्क लगाने के लिए प्रेरित करें सामाजिक संस्थाएं व व्यापार मंडलः डीसी कोविड-19 के दृष्टिगत आवश्यक आदेश विद्यार्थी परिषद की दो दिवसीय प्रदेश कार्यकारिणी बैठक पालमपुर में संपन्न, शैक्षणिक क्षेत्र में व्याप्त समस्याओं को लेकर तय की आगामी रणनीति: विशाल वर्मा