Tuesday, April 20, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/OQPehgHx4H8 शहरी विकास मंत्री ने किया कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल डीडीयू का दौरा, बोले टेस्टिंग के बाद जल्द शुरू होगा ऑक्सीजन प्लांट,मुख्य सचिव ने सूखे जैसी स्थिति से निपटने के लिए कृषि व बागवानी विभागों को कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिएहिमाचल में फ़र्ज़ी गाड़ियों के पंजीकरण को लेकर सीबीआई करे जाँच, मुख्यमंत्री कांग्रेस के नेताओं को धमकाना करें बन्द :अग्निहोत्री।प्रदेश में करोड़ो रूपये की गाड़ियों की रजिस्ट्रेशन मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने मुख्यमंत्री से मांगा श्वेतपत्र।हिमालयन अपडेट साहित्य सृजन की झारखंड इकाई के सफल नेतृत्व में विराट काव्य आयोजन हर्ष और उल्लास के साथ संपन्न आने वाले समय में नाइट कर्फ्यू और लॉक डाउन की संभावनाएं; मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर https://youtu.be/DuPN5b7gdiQ नीजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक मंच ने जिला प्रशाशन को सौंपा ज्ञापन,कार्यवाही की की मांग https://youtu.be/_2J8oLo8-jo कोरोना महामारी के चलते प्रदेश में सादगी से मनाया गया 73वा हिमाचल दिवस ।
-
हिमाचल

ग्राम पंचायत धर्मपुर, कोटबेजा, बारियां, सनवारा, भावगुड़ी, दाड़वा तथा टकसाल में 926 रोगियों की एनीमिया जांच

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | March 05, 2021 06:34 PM

सोलन,


आयुष विभाग द्वारा सोलन जिला के धर्मपुर विकास खण्ड में एनीमिया जागरूकता शिविरों की कड़ी में आज ग्राम पंचायत धर्मपुर, कोटबेजा तथा बारियां में 389 व्यक्तियों की जांच की गई। यह जानकारी जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने दी। 
उन्होंने कहा कि इन ग्राम पंचायतों ग्राम पंचायत धर्मपुर में 191, ग्राम पंचायत कोटबेजा में 120 तथा ग्राम पंचायत बारियां में 78 व्यक्तियों की स्वास्थ्य जांच की गई।
उन्होंने कहा कि गत दिवस ग्राम पंचायत सनवारा, भावगुड़ी तथा टकसाल में 537 व्यक्तियों की एनीमिया जांच की गई। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत सनवारा में 154, ग्राम पंचायत भावगुड़ी में 104, ग्राम पंचायत छाड़वा में 144 तथा ग्राम पंचायत टकसाल में 135 व्यक्तियों की जांच की गई।  
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य जांच में जिन रोगियों का हीमोग्लोबिन स्तर बहुत कम पाया गया उन्हें पूरी जांच के लिए परामर्श दिया गया। 
डाॅ. राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि इन शिविरों में लोगों को बताया गया कि एनीमिया रोग का पूर्ण निदान सम्भव है तथा उचित पोषाहार के माध्यम से सदैव एनीमिया से बचा जा सकता है। शरीर में रक्त की कमी के कारण एनीमिया होता है। एनीमिया के कारणों में सबसे प्रमुख कारण शरीर में आयरन की कमी है। जब आपके आहार में लौह तत्व पर्याप्त मात्रा में नहीं होता है, तब व्यक्ति एनीमिया पीड़ित हो जाता है। इसके अलावा अगर किसी भी कारण से शरीर में रक्त की कमी हो जाती है तो भी यह समस्या उत्पन्न होती है। चोट लगने पर खून निकलना, माहवारी या प्रसव में अधिक मात्रा में खून का बहना भी एनीमिया का एक कारण है। 
शिविर में लोगों से आग्रह किया गया कि अपने भोजन में नियमित आधार पर फल एवं सब्जियां लें। 
इस अवसर पर रोगियों को एनीमिया की निःशुल्क दवाएं भी वितरित की गईं।
आज आयोजित शिविरों में आयुर्वेदिक चिकित्सक डाॅ. मंजेश शर्मा, डाॅ. प्रियंका, डाॅ. सोनिया धीमान, डाॅ. प्रियंका किमटा, डाॅ. कामिनी, आयुर्वेद विभाग के कर्मचारी वर्धा ठाकरु, दिनेश, शंकर, सोनू, बबली, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा स्थानीय निवासी उपस्थित रहे।

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
मुख्यमंत्री जय राम का दौरा हास्य स्पद :-राजीव राणा सोलन का ठोडो मैदान आम जनता के लिए सुबह 9:00 से 6:00 बजे तक बंद कोरोना काल में सेवा कार्य के लिए ABVP ने बढ़ाए हाथ, डीसी को 55 वॉलंटियर कार्यकर्ताओं की सौंपी सूची। ऊना व हरोली में बने नये कंटेनमेंट जोन डीसी ने संयुक्त पटवार एवं कानूनगो महासंघ की मांगों पर की चर्चा सिद्धपुर में 15 करोड़ से बनाया जा रहा मशरूम प्रशिक्षण केंद्र - महेंद्र सिंह ठाकुर 16 मई को आयोजित होने वाली जेएनवी की प्रवेश परीक्षा स्थगित कण्डाघाट में कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में बैठक आयोजित मुख्यमंत्री ने बिलासपुर में कोविड और सूखे की स्थिति की समीक्षा की नगर पंचायत तलाई में स्वंय सहायता समूह वसूलेंगे कूडा शुल्क