Tuesday, March 02, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/XtZXmzukedcनगर निगम के चुनाव पार्टी चिन्ह पर करवाए जाने का कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राठौर ने किया स्वागतशराब और भांग का नशा ऐसा छाया की साधु ने तोड़े गाड़ी के शीशे,https://youtu.be/j8Ck3V67CNAफिर लोगों ने की जमकर पिटाईसुबह सुबह अवैध रूप से बिजली का प्रयोग करते विद्युत विभाग ने एक आरोपी दबोचा बड़ी खबर :एसजेवीएन अंतर्राष्ट्रीय सौर एलाईंस में शामिल हुआहमीरपुर जिला में हर्षोल्लास से मनाया गया 72वां गणतंत्र दिवस समारोह, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने की जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता, राष्ट्रध्वज फहराकर मार्चपास्ट की सलामी लीसमीक्षा : वार्ड पंच से लेकर जिला परिषद तक पटक डाले जनता ने , हेकड़ी , घमंड व बड़े नेताओं की धौंस हुईं जमींदोज पंचायत चुनाव : भीतरघात का ऑडियो वायरल, खूब हो रही चर्चाप्रथम चरण में हमीरपुर जिला में दिग्गजों ने किया मतदान, धूमल अनुराग ने समीरपुर , राजेंद्र राणा व अभिषेक राणा ने पटलांदर में किया मतदान
-
हिमाचल

बिना अध्यापक कैसे जलेगी शिक्षा की लौ

October 28, 2018 06:35 PM

 

 
आनी,
आनी विधासभा क्षेत्र के छात्रों का भविष्य अंधकार में लटक गया है। बेहतरीन शिक्षा देने के सरकार भले ही लाखों दावे कर ले लेकिन इन दावों की धरातल पर पोल खुलती नजर आ रही है। बात चाहे प्राथमिक शिक्षा संस्थानों  की हो या फिर उच्चतर शिक्षा संस्थानों की हर जगह यही आलम है कि शिक्षकों के दर्जनों पद रिक्त पड़े हैं। स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी के चलते अभिभावकों का शिक्षा विभाग व सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है। इस कारण बच्चों की  पढ़ाई प्रभावित हो रही है।
यही हाल आनी विधानसभा के आनी और निरमंड खण्ड के विद्यालयों का भी है । बीते दिनों पहले निदेशक,उच्च शिक्षा से पहले आनी खण्ड के च्वाई और निरमंड में शिक्षकों की तैनाती के आदेश ज़ारी हुए थे । आदेशों के अनुसार आनी के रावमावि चवाई में भौतिकी विज्ञान तथा निरमंड खण्ड के रावमावि देऊगी में गणित,रसायन विज्ञान व अर्थशास्त्र जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर अध्यापकों ने तैनाती देनी थी । लेकिन काफ़ी समय बीत जाने के बाद भी ऐसा नहीं हो पाया है । इससे बच्चों का भविष्य अधर में लटका है । स्कूल में बच्चों के कम आंकड़े से भी अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकारी स्कूलों की क्या स्थिति है। लेकिन विभाग व सरकार इस दिशा में कोई ठोस कदम उठाती नजर नहीं आ रही है। अविभावकों का आरोप है कि राजनीति में ऊंची पहुंच के कारण अक्सर ऐसे मामले सामने आते हैं । आदेशों के बाबजूद भी अध्यापक अपनी एडजस्टमेंट के चक्कर मे लगे रहते हैं जिससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है । कई अध्यापक वर्षों से एक ही स्थान पर लगे मोह को नहीं छोड़ना चाहते।  
 जमा दो विद्यालय चवाई की एसएमसी के अध्यक्ष शेर सिंह भारती का कहना है कि स्कूल एसएमसी कई बार  इस स्कूल को अध्यापक मुहैया करवाने के लिए शिक्षा विभाग से गुहार लगा चुके हैं लेकिन अभी तक स्थिति जस की तस बनी हुई है, ऐसे में अब जब विद्यालय में भौतिकी विज्ञान पद पर नियुक्ति के आदेश प्राप्त हुए थे, तो काफी समय बीत जाने पर भी अध्यापक ने अभी अपनी नियुक्ति नहीं दी है। जिससे स्कूल प्रबंधन समिति और अभिवावकों में शिक्षा विभाग के प्रति वेहद रोष है। 
 
Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
भूट में आग की भेंट चढ़ा तीन कमरों का मकान अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव मंडी-2021 ट्रेडर वैल्फेयर फंड गठित करने पर विचार करेगी सरकारः जय राम ठाकुर निजी बसों में म्यूजिक/स्टीरियो सिस्टम बजाने पर होगी कार्यवाई स्वच्छता पुरस्कार मुल्यांकन हेतु खण्ड स्तर पर गठित कमेटियों की कार्याशाला आयोजित मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर कल आएंगे भरवाईं मंडी में कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण शुरू विकास खण्ड चम्बा, सलूणी और मैहला के नव-निर्वाचित ग्राम पंचायत प्रधानों के लिए 6 दिवसीय बुनियादी प्रशिक्षण शिविर शुरु https://youtu.be/SB47DzWAuAA विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे निलबिंत कांग्रेस विधायक, सीएम को बताया पूरे प्रकरण का मास्टर माइंड, जिला ऊना में 60 वर्ष से अधिक व 45 वर्ष से अधिक बीमार व्यक्तियों को लगेगा कोविड टीकाः एडीसी