Friday, April 03, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
ब्रेकिंग : लॉक डाउन ( 14 अप्रैल ) तक निजी स्कूल नहीं कर सकते मासिक फ़ीस व एडमिसन फ़ीस जमा करने की डिमांड , होगी सख़्त कार्यवाही, शिक्षा विभाग ने जारी की नोटिफ़िकेशनलाकडाऊन का उल्लंघन, नशा कारोबारी सक्रियभाजपा के ब्यानवीर संकट के समय में सकारात्मक दृष्टिकोण का परिचय दें : प्रेम कौशलब्रेकिंग : 14 कश्मीरी मज़दूर बाड़ी- फ़रनोल के पास फँसे , राशन ख़त्म , ठेकेदार नहीं कर रहा हिसाब किताब , मज़दूर घर लौटने को अड़ेभोरंज में रणजीत सिंह और मुख्तियार सिंह दुकानदारों पर एफ़आईआर दर्ज, वसूल रहे थे फलों और सब्ज़ियों के अधिक मूल्यनवाँ नौशहरा में 80 जरूरतमंदों को बांटा राशनहिमाचल प्रदेश में अब सरकारी स्कूल और सरकारी दफ्तर 14 अप्रैल तक बंदउपायुक्त ने की रेड क्रॉस को दान देने की अपील 
-
हिमाचल

बिना अध्यापक कैसे जलेगी शिक्षा की लौ

October 28, 2018 06:35 PM

 

 
आनी,
आनी विधासभा क्षेत्र के छात्रों का भविष्य अंधकार में लटक गया है। बेहतरीन शिक्षा देने के सरकार भले ही लाखों दावे कर ले लेकिन इन दावों की धरातल पर पोल खुलती नजर आ रही है। बात चाहे प्राथमिक शिक्षा संस्थानों  की हो या फिर उच्चतर शिक्षा संस्थानों की हर जगह यही आलम है कि शिक्षकों के दर्जनों पद रिक्त पड़े हैं। स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी के चलते अभिभावकों का शिक्षा विभाग व सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है। इस कारण बच्चों की  पढ़ाई प्रभावित हो रही है।
यही हाल आनी विधानसभा के आनी और निरमंड खण्ड के विद्यालयों का भी है । बीते दिनों पहले निदेशक,उच्च शिक्षा से पहले आनी खण्ड के च्वाई और निरमंड में शिक्षकों की तैनाती के आदेश ज़ारी हुए थे । आदेशों के अनुसार आनी के रावमावि चवाई में भौतिकी विज्ञान तथा निरमंड खण्ड के रावमावि देऊगी में गणित,रसायन विज्ञान व अर्थशास्त्र जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर अध्यापकों ने तैनाती देनी थी । लेकिन काफ़ी समय बीत जाने के बाद भी ऐसा नहीं हो पाया है । इससे बच्चों का भविष्य अधर में लटका है । स्कूल में बच्चों के कम आंकड़े से भी अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकारी स्कूलों की क्या स्थिति है। लेकिन विभाग व सरकार इस दिशा में कोई ठोस कदम उठाती नजर नहीं आ रही है। अविभावकों का आरोप है कि राजनीति में ऊंची पहुंच के कारण अक्सर ऐसे मामले सामने आते हैं । आदेशों के बाबजूद भी अध्यापक अपनी एडजस्टमेंट के चक्कर मे लगे रहते हैं जिससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है । कई अध्यापक वर्षों से एक ही स्थान पर लगे मोह को नहीं छोड़ना चाहते।  
 जमा दो विद्यालय चवाई की एसएमसी के अध्यक्ष शेर सिंह भारती का कहना है कि स्कूल एसएमसी कई बार  इस स्कूल को अध्यापक मुहैया करवाने के लिए शिक्षा विभाग से गुहार लगा चुके हैं लेकिन अभी तक स्थिति जस की तस बनी हुई है, ऐसे में अब जब विद्यालय में भौतिकी विज्ञान पद पर नियुक्ति के आदेश प्राप्त हुए थे, तो काफी समय बीत जाने पर भी अध्यापक ने अभी अपनी नियुक्ति नहीं दी है। जिससे स्कूल प्रबंधन समिति और अभिवावकों में शिक्षा विभाग के प्रति वेहद रोष है। 
Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
किसी भी सहायता के लिए टोल फ्री नम्बर 1077 पर काॅल करेंः मुख्यमंत्री प्रेस क्लब शिमला ने 38 गरीब लोगों को बांटी खाद्य सामग्री मुख्यमंत्री ने दिए अधिकारियों को आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त भण्डार सुनिश्चित करने के निर्देश केवल पिछले 4 दिनों में भाजपा के प्रयासों से 40234 लोगों को भोजन कराया गया, 19986 राशन की किटें बांटी गई, इससे 117192 लोग लाभान्वित हुए व इस कार्य में 4797 कार्यकर्ता लगे : भाजपा आनी बाजार में पंचायत ने करवाया सेनिटाईज़र्स का छिड़काव सोलन जिला में एक्टिव केस फाइंडिग अभियान 03 से 08 अप्रैल तक- के.सी. चमन रस्म पगड़ी करने की जगह सीएम राहत कोष में दिया 21 हजार का चैक जरूरतमंद की सहायता को  दान कर डाली गुलक की मनी  पेंशन निकालने में नहीं होगी कोई दिक्कतः डीसी  कुल्लू जिला मुस्लिम वेलफेयर ने अनपुरणा चेरिटेबल को दिए 25 हजार