Tuesday, February 25, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
( ब्रेकिंग ) हमीरपुर: दीवार पर पोस्टर लगाकर पूर्व सैनिक ने महिला प्रधान के ख़िलाफ़ लिखे अश्लील शब्द , दो अन्य लोगों के ख़िलाफ़ भी लिखे जातिसूचक शब्द, मैड़ के कश्मीर सिंह के ख़िलाफ़ FIR दर्ज।हिमाचल प्रदेश भाजपा ने की प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणामुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को जाता है बदला-बदली के दौर को ख़त्म करने का श्रेय : नरेंद्र ठाकुरब्रेकिंग : शिक्षा विभाग उठाएगा एसिड पीड़ित छात्राओं के इलाज का ख़र्च , जाँच के बाद निष्कासित होगा आरोपित छात्र , पीड़ित परिवार को नहीं मिली एफ़आईआर की कॉपी(ब्रेकिंग) हमीरपुर : मर्डर केस में पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी आमिर खान, गिरफ़्तारी के बाद पुलिस ने तेज़ की जाँच Breaking News : नारकंडा में कार दुर्घटनाग्रस्त एक की मौतएसिड प्रकरण : आरोपी के ख़िलाफ़ रविवार को एफ़आईआर नंबर 13/2020 दर्ज, उटपुर पीएचसी से पुलिस ने लिए एमएलसी, आई जाँच में तेज़ी।एसिड प्रकरण : राम भरोसे सरकारी स्कूलों की विज्ञान प्रयोगशालाएँ , चपड़ासी से प्रोमोट हो लैब अटेंडेंट दे रहे सेवाएँ, हाई स्कूलों में नहीं है लैब अटेंडेंट की पोस्ट
-
हिमाचल

दुर्गम पंचायत , यहाँ एक वार्ड से दूसरे वार्ड तक का सफ़र है 26 किमी

December 06, 2018 04:08 PM


हमीरपुर,
ज़िला के टौणी देवी विकासखंड के तहत आने वाली ग्राम पंचायत चारियाँ दी धार की राहें अत्यंत दुर्गम हैं। यहाँ एक वार्ड से दूसरे वार्ड तक सड़क का सफ़र 26 किमी है। लोग खड्डों नालों के बीच से इसलिए पैदल नहीं चलना चाहते क्योंकि तेंदुए , साँप व अजगर जान के दुश्मन बने बैठे हैं ।क़ाबिलेग़ौर है कि भराईयाँ दी धार ,चारियाँ दी धार , लंबरा दी धार, रांगडेयाँ दी धार व पुरली वार्डों में बसी यह पंचायत दुर्गम एवं विकट भौगोलिक स्थिति होने के कारण सड़क एवं पंचायत घर से महरूम है। पंचायत की आबादी क़रीब 1900 है जिनमें से 1384 वोटर हैं। दुर्गम पंचायत के ग्रामीण आज भी मुख्य सड़क से 10 किलोमीटर से ज्यादा की चढ़ाई उबड़ खबड़ रास्तो से चढ़ कर गंतव्य तक पहुँचते हैं। लोग अपने जीवन की रोजमर्रा की आम जरूरतों को घर तक पहुंचाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। सबसे ज्यादा मुश्किलों का सामना तब करना पड़ता है जब किसी के परिवार मे कोई व्यक्ति बीमार पड़ जाता है। ऐसी स्थिति मे स्थानीय लोगों को उस व्यक्ति या महिला को पीठ पर या फिर चारपाई पर उठा कर मुख्य सड़क तक लाना पड़ता है। पंचायत के बीच एक सड़क बनाने का काम लंबरा दी धार से शुरू हुआ लेकिन अदालती कार्यवाही में उलझकर रह गया।बताते चलें कि सड़क सुविधा न होने व दुर्गम रास्ते होने के कारण पंचायत में सलेटपोश मकान अधिक हैं। शिक्षा के नाम पर पुरली व चारियाँ दी धार में दो मिडल स्कूल हैं।स्वास्थ्य सुविधा के लिए एक डिस्पेंसरी है लेकिन एक वार्ड से दूसरे वार्ड तक पहुँचने के लिए लोग ख़तरनाक रास्ते पार कर डिस्पेंसरी तक पहुँचते हैं।पंचायत के अधिकतर युवा सेना में भर्ती है । कुछ युवा निजी क्षेत्र में रोज़गार कमा रहे हैं। तेंदुए के डर से लोग भेड़ बकरी नहीं पाल सकते । उधर बंदरो के आतंक से पंचायत के लोगों ने फ़सल बीजना बंद कर दिया है।लोगों की माँग है कि पुरली व चारियाँ दी धार पंचायत को अलग अलग बना दिया जाए ताकि भौगोलिक दूरी कम हो सके ।

क्या कहते हैं पंचायत प्रधान

 
चारियाँ दी धार पंचायत के प्रधान विजयपाल का कहना है कि चारियाँ दी धार वार्ड से पुरली वार्ड तक का बस सफ़र 26 किमी है । पंचायत में विकास कार्य तो हुए हैं लेकिन अभी तक पंचायतघर का निर्माण नहीं हो पाया । विजयपाल का कहना है कि पंचायत में वार्डपंच, उपप्रधान एवं वर्तमान में प्रधान के पद पर रहते हुए उन्होंने पंचायत की समस्याओं को हल करने का भरसक प्रयास किया है। अगर पंचायत का बँटबारा हो जाए तो लोगों को भी फ़ायदा होगा ।

Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
कांग्रेस पार्टी अधिवक्ता सुरेंदर मोहन मैहता को बनाया चौपाल कांग्रेस अध्यक्ष विद्यार्थी परिषद ने पूर्णतः शिक्षा बंद कर गेट पर जड़े ताले। सज गए शिवालय, महाशिवरात्रि कल ,शिव मंदिर बारीं में कल पूजा , 22 को भण्डारा हिमाचल कैबिनेट: नई एक्साइज पॉलिसी को मंजूरी, श्रम एवं रोजगार विभाग में भरे जाएंगे 23 पद टौणी देवी स्कूल की चारदीवारी को उपायुक्त से 25 लाख रुपए मिले, प्रिंसिपल व एसएमसी ने जताया आभार हमीरपुर के सीआईडी इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल प्रेज़िडेंट पुलिस मेडल से सम्मानित, ऊना के चुरड़ू गाँव से हैं सम्बंधित हिमाचल प्रदेश पुलिस में प्रमोशन 4 एसपी और 4 एएसपी बने राज्यपाल ने किया 58 व्यक्तियों को अलंकृत शिवरात्रि महोत्सव-2020 के लिए ऑडिशन 10 से हिमाचल का 23 साल का फौजी जवान शहीद