Monday, March 30, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
उपायुक्त ने की रेड क्रॉस को दान देने की अपील  विशेष :आपदाएं और हमखबर का असर : हरकत में आया प्रशासन, मौके का बीडीओ नारकंडा ने किया मुआयनाराजधानी के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में कोरोना वायरस के दो संदिग्ध भर्तीकोरोना वायरस: हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के दो पॉजीटिव मामले सामने आए , हाई अलर्ट ।पोल खोल :कोरोना से कैसे बचेगा किंगलख़बर का असर : हमीरपुर जिला में सुजानपुर सहित सभी सार्वजनिक उत्सवों, मेलों इत्यादि का आयोजन स्थगित करने के आदेश पारित , डीसी ने दिए कड़े निर्देश एक दूसरे का मुँह ताक रहे विभाग, सुजानपुर में चल रहा अनाधिकृत मेला, दुकानों में गंदगी की भरमार, डबल्यू॰एच॰ओ॰ एवं सरकार की गाइड लाइन की कोई परवाह नहीं।
-
पंजाब

बज्मे हबीब की ओर से शायरी की खूबसूरत महफिल का आयोजन

December 10, 2018 11:43 AM


लुधियाना, 

उर्दू अदब की इतिहासिक संस्था बज्मे हबीब के अध्यक्ष गुलाम हसन कैसर के निमंत्रण पर आज यहां फील्ड गंज में एक खूबसूरत महफिल-ए-शायरी का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता श्री डी.के सचदेवा उर्फ दानिश भारती ने की। इस अवसर पर मुख्य मेहमान हाजी बाबा हाफिज मुहम्मद इकराम का नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने सम्मान भी किया। शायरी की इस महफिल में वरुण आनंद, अशफाक अहमद, सागर सायालकोटी, तरसेम नूर, मनोहर विजय, हस्सान नसीराबादी, रजनीश वर्मा,राजिंदर राजन, काफिर जलंधरी, गुरचरण नारंग, बसित अली बेताब, सैम मुसाफिर ने अपना ताजा कलाम पेश किया। इस अवसर पर महफिल की अध्यक्षता करते हुए जनाब दानिश भारती ने कहा की लुधियाना शहर ने जहां स्वतंत्रता संग्राम और उद्योग में अपना नाम कमाया है वहीं शायरी की दुनिया में साहिर लुधियानवी जैसे सपूत इस धरती पर पैदा हुए, जिन्होंने साहित्य की दुनिया में अपने शहर को एक अलग पहचान दी है। दानिश भारती ने कहा कि साहिर के वतन में आज भी शायरी जिंदा हैं, लुधियानवीओं का शायरी सुनने का अंदाज भी बड़ा सम्मान जनक है। उन्होंने ने कहा कि बज्मे हबीब शहर की एक पुरानी और मशहूर अदब नवाज संस्था है जो की प्रसिद्ध मरहूम मौलाना मुहम्मद अहमद रहमानी ने देश के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी मौलाना हबीब उर रहमान लुधियानवी प्रथम के नाम पर 1956 में स्थापित की थी। दानिश ने कहा की बज्मे हबीब लुधियानवियों का एक गुलदस्ता है जिसकी खुशबू चारों ओर फैली हुई है। इस अवसर पर नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उस्मान रहमानी लुधियानवी ने सभी शायरों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि शायरी दिल की आवाज होती है इसे लफ्जों में ढालना हर एक के बस की बात नहीं, जो शायर होते हैं वह जिंदा दिल होते हैं। निडर और साफ छवि वाले शायर एक अच्छा समाज बनाने में मुख्य भूमिका निभाते हैं। नायब शाही इमाम ने कहा कि अगर हम इतिहास उठा कर देखें तो शायरी में सिर्फ इश्क और मजा ही नहीं है बल्कि यह शायर जंग-ए-आजादी में दिलों में गर्माहट पैदा करते भी नजर आते हैं। उस्मान रहमानी ने कहा कि आज जरुरत है कि नौजवान नसल में अच्छी शायरी के प्रति जागरूकता लाई जाए।

Have something to say? Post your comment
 
और पंजाब खबरें
लंगर लगाने और होली खेलने आदि संबंधी सेहत विभाग के निर्देश जारी मानिक डावर ने कुष्ठ आश्रम मे बड़ी धूमधाम से मनाया गणतंत्र दिवस का जश्न लुधियाना जामा मस्जिद के मुख्यद्वार पर शाही इमाम ने फहराया राष्ट्रीय ध्वज अब जीवन साथी ढूंढना हुआ और भी आसान; संजीव नागरा सी.ए.ए और यूपी पुलिस के अत्याचारों के खिलाफ आज पंजाब भर में मुसलमान काला दिवस मनाएंगे : शाही इमाम मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को नायब शाही इमाम ने सौंपा ज्ञापन सी.ए.ए और उत्तर प्रदेश पुलिस की गुंडागर्डी हरगिज बर्दाश्त नहीं की जाएगी - पंजाब भर में काला दिवस 3 जनवरी को मनाया जाएगा : शाही इमाम लुधियाना पुलिस ने छोटे काॅमर्शियल वाहनों को दी राहत, अब एक टन तक ढो सकेंगे सामान सोमवार से बिना हेल्मेट दोपहिया वाहन सवारों के कटेंगे चालान, यातायात उल्लंघन के लिए जीरो टॉलरेन्स नीति का ऐलान * शांतिपूर्वक ढंग से विरोध करने का अधिकार छीन संविधान की धज्जियां उड़ा रही है केंद्र सरकार : शर्मा/हांडा