Sunday, May 31, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
हिमाचल

चेतावनी के बाद भी डटे रहे एनएच 05 पर व्यापारी

December 13, 2018 05:42 PM

 

रामपुर बुशहर, 

प्रशासन की बार बार चेतावनी के बाद भी एनएच 05 पर लवी मेला में आए व्यापारी डेरा जमाए हुए हैं। इससे विशेष कर यातायात व्यवस्था को सुचारु रखने में पुलिस को खासी मशकक्त करनी पड़ रही थी, बार बार लगने वाले जाम से लोगों को परेशानी पेश आ रही है। सड़क किनारे दुकान सजाए बैठे व्यापारियों के खिलाफ प्रशासन ने कड़ा कदम उठाते हुए उनका कुछ सामान पुलिस की सहायता से जफ्त कर लिया तथा उन्हें देर रात तक सड़क व मेला मैदान खाली करने की कड़ी चेतावनी दी। प्रशासन ने चेतावनी दी है कि यदि फिर भी व्यापारी डटे रहते हैं तो उनके खिलाफ और सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। जफ्त किए गए सामान की नीलामी पांच 6 दिनों के बाद कर दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि अधिकारिक तौर पर अंतर्राष्ट्रीय लवी मेले का आयोजन 11 नवंबर से लेकर 14 दिसंबर तक किया जाता है लेकिन दूर दूर से आए व्यापारियों को पूरे नवंबर माह तक अपनी दुकाने लगाने की इजाजत दी जाती है। लेकिन व्यापारी नवंबर के बाद भी डटे रहते हैं जब तक उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती वे डेरा जमाए रहते हैं। लोगों की मांग है कि भविष्य में व्यापारियों को दुकाने लगाने की तिथि नश्चित की जानी जरूरी है ताकि मेले का स्वरूप भी बना रहे और जनता को परेशानी भी न उठानी पड़े।

एसडीएम रामपुर नरेंद्र चौहान ने बताया कि लवी मेला में आए व्यापारियों को 2 दिसंबर तक दुकानें लगाने की इजाजत दी गई थी लेकिन उनके विशेष आग्रह पर 5 दिसंबर तक का अतिरिक्त समय दिया गया था लेकिन व्यापारी बार बार चेतावनी के बाद भी डटे रहे। प्रशासन ने जनहित में निर्णय लेते हुए कड़ा कदम उठाया क्योंकि मेला मैदान के साथ लगते कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों को दिक्कत पेश आ रही थी इसके अलावा यातायात व्यवस्था में भी व्यवधान पैदा हो रहा था। व्यापारियों को देर शाम तक सामान समेटने का सख्त आदेश दिया गया है आदेश पर अमल न करने वालों पर और सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें