Sunday, May 31, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
कर्मचारी

राजपुरा परियोजना में स्थाई रोजगार न मिलने पर भड़के युवा

December 20, 2018 08:50 PM

 

रामपुर बुशहर, 

उपमंडल रामपुर की राजपुरा परियोजना में स्थाई रोजगार न मिलने से ग्रामीण भड़क गए हैं। वीरवार को प्रभावितों ने उपमंडलाधिकारी रामपुर को ज्ञापन सौंप सात दिनों में स्थाई रोजगार देने की मांग रखी है, यदि ऐसा नहीं हुआ तो परियोजना का निर्माण कार्य बंद कर दिया जाएगा। जिसकी जिम्मेवारी स्थानीय प्रशासन और परियोजना प्रबंधन की होगी।

जिन लोगों की परियोजना में जमीनें गई है वे परियोजना निर्माण से सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने उपमंडलाधिकारी रामपुर को सौंपे ज्ञापन में कहा कि प्रबंधन सरकार की नीतियों के हिसाब से प्रभावितों को रोजगार नहीं दे रहा है जबकि इसमें 13 परिवारों की जमीनें अधिग्रहण की गई। ऐेसे में परियोजना प्रबंधन ने इन परिवारों के सदस्यों को 40 सालों के लिए रोजगार देने का वादा किया था और आज प्रभावितों को स्थाई रोजगार देने में परियोजना प्रबंधन आनाकानी कर रहा है। परियोजना प्रभावितों में जवाहर लाल, शेर सिंह, ईश्वर सिंह, जिया लाल, प्यारे लाल, लायक राम, मोहन सिंह, देवेंद्र सिंह, कौशल्या देवी, नरोत्तम देवी, सुरेखा, जगदीश आदि ने कहा कि परियोजना का निर्माण कार्य अप्रैल 2015 से बंद था। जिसके बाद कुछ सप्ताह पूर्व ही दोबारा से काम शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि परियोजना प्रबंधन के साथ लेंड लूजर के साथ समझौता हुआ था, जिसमें परिवार के  एक सदस्य को परियोजना में स्थाई रोजगार देने की बात कही गई है। लेकिन परियोजना प्रबंधन द्वारा ऐसा नहीं किया गया जिसे लेकर प्रभावितों में भारी रोष है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को तो रोजगार उपलब्ध करवाया गया और कुछ को नहीं दिया जा रहा है। इससे गु्स्साए प्रभावितों ने कहा कि यदि एक सप्ताह के भीतर रोजगार देने का निर्णय नहीं लिया गया तो परियोजना का काम पूरी तरह से ठप्प कर दिया जाएगा।

परियोजना प्रबंधक विजय कौशल ने कहा कि अभी परियोजना का काम शुरू नहीं हो पाया है। जैसे की काम शुरू होगा तो प्रभावितों को नियमों के अनुसार रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा।

Have something to say? Post your comment
 
और कर्मचारी खबरें
सभी पंजीकृत निर्माण मज़दूरों को जल्दी सहायता प्रदान करने की मांग पत्रकारों की विभिन्न मांगों को लेकर प्रेस क्लब शिमला ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को सौंपा ज्ञापन 31 जनवरी, 1 व 2 फरवरी को 150 पदों हेतु साक्षात्कार आंगबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका के पदों के लिए इंटरव्यू 19 दिसंबर को बागवानी विभाग में प्रयोगशाला सहायक के भरे जाएंगे 5 पद रामपुर बुशहर में पेन्शन जागरूकता अभियान का आयोजन 8 जनवरी को हड़ताल करेंगे मज़दूर--डॉ कशमीर ठाकुर पुलिस भर्ती के लिए साक्षात्कार 30 सितम्बर से होंगे शुरू पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित कोर्ट कर्मचारी की मृत्यु पर न्यायिक परिसर में रखा दो मिनट का मौन