Thursday, January 23, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
हमीरपुर : फ़र्ज़ी वेबसाइट बना लाखों की ठगी करने वाले दो आरोपी 24 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर, मास्टर माइंड संदीप को लाने पुलिस टीम हैदराबाद रवानाबलोह में महिलाओं ने प्रभात फेरी निकालकर दिया ‘बेटी बचाओ ,बेटी पढ़ाओ’ का संदेश, सरोज कुमारी ने दिलाई शपथहिमाचल : यहाँ तो पैदल चलना भी सुरक्षित नहीं, दो साल में हो चुकी 353 पैदल यात्रियों की मौत, हिमालयी राज्यों में पहले स्थान पर हिमाचल, दूसरे पर उत्तराखंड राज्य स्तरीय युवा उत्सव में कुल्लू का सराहनीय प्रदर्शनजगत प्रकाश नड्डा बने विश्व के सबसे बड़े राजनीतिक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष।हमीरपुर में विधायक नरेंद्र ठाकुर ने बच्चों को पल्स पोलियो ड्राप्स पिलाई, 282 पोलियो बूथों पर क़रीब 35 हज़ार बच्चों को पोलियो ड्राप्स पिलाने का लक्ष्यपरम्परागत दस्तकारों को आत्मनिर्भर कर रही मुख्यमंत्री दस्तकार प्रोत्साहन योजना, उपकरणों व औजारों की खरीद पर 75 प्रतिशत अनुदान का प्रावधानप्लास्टिक को जीवन में ना अपनाएँ, आओ सब मिलकर इस धरती को बचाएं......
-
विशेष

नेरवा अस्पताल में लोगों की सेहत से खिलवाड़; आखिर कब तक ?

January 08, 2019 08:49 PM

नेरवा,

किसी भी दुर्घटना के होने के बाद नेरवा अस्पताल का विवादों में आना कोई नई बात नहीं है ! ऐसे समय में नेरवा अस्पताल का चोली दामन का साथ रहा है ! यही बात मंगलवार को नेरवा देइया मार्ग पर मंगलवार को हुए कार हादसे के बाद भी सामने आई ! हादसे के घायलों को जब नेरवा अस्पताल लाया गया तो अस्पताल में एक भी एमबीबीएस डॉक्टर मौजूद नहीं था ! नेरवा अस्पताल में इस समय कोई भी वरिष्ठ चिकित्सक तैनात नहीं हैं,वर्तमान में यहां  तीन चिकित्सक तैनात हैं व यह तीनों ही जूनियर हैं ! अस्पताल यह तीनों जूनियर चिकित्सक एमडी की परीक्षाएं देने के लिए बाहर गए हुए थे ! चिकित्स्कों की गैरहाजिरी में अस्पताल में तैनात दन्त चिकित्सक ने एक आयर्वेदिक चिकित्सक व दो स्टाफ नर्सों के साथ मिल कर घायलों को प्राथमिक उपचार दिया ! जिस वजह से स्थानीय लोग भड़क उठे है,लोगों में स्वास्थ्य विभाग के इस लापरवाही भरे रवैये के प्रति गुस्सा है  ! लोगो का आरोप है कि नेरवा अस्पताल में तैनात चिकित्सक जब परीक्षाएं देने गए थे तो अस्पताल में एमबीबीएस चिकित्सक की वैक्लपिक व्यवस्था क्यों नहीं की गई ! इसके आलावा हादसों के समय अस्पताल में स्टाफ की कमी भी सामने आती रहती है ! नेरवा व चौपाल दोनों अस्पतालों में स्टाफ नर्सों के छह छह पद है,परन्तु वर्तमान समय में नेरवा में दो और चौपाल में एक स्टाफ नर्स तैनात है ! नेरवा से एक स्टाफ नर्स को जरूरत पड़ने पर चौपाल डेपुटेशन पर भेज दिया जाता है ! मंगल वार को हादसे के बाद एमबीबीएस चिकित्सक की सेवायें न मिलने से क्षेत्रवासी भड़के हुए हैं व स्वास्थ्य मंत्री से मांग की है कि इस बात की जांच की जाए कि चिकित्स्कों के छुट्टी जाने पर यहां पर एमबीबीएस चिकित्सक की वैकल्पिक व्यवस्था क्यों नहीं की गई !

Have something to say? Post your comment
 
और विशेष खबरें
हिमाचल : यहाँ तो पैदल चलना भी सुरक्षित नहीं, दो साल में हो चुकी 353 पैदल यात्रियों की मौत, हिमालयी राज्यों में पहले स्थान पर हिमाचल, दूसरे पर उत्तराखंड प्लास्टिक को जीवन में ना अपनाएँ, आओ सब मिलकर इस धरती को बचाएं...... युवा दिवस और युवाओं के लिए संदेश आज है विश्व हिंदी दिवस ;जाने क्यों मनाया जाता है विश्व हिंदी दिवस मनरेगा के तहत बंगाणा में विकास कार्यों पर दो वर्ष में खर्च हुए 26.54 करोड़ हिमाचल कवियों, लेखकों एंव साहित्यकारों के लिए खास रहा विश्व पुस्तक मेला 2020 देहरादून : स्कूली शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने टिहरी जिले के मुकेश डोभाल सहित नौ प्रिंसिपल और 54 शिक्षकों को किया सम्मानित जनश्रुतियों से कायम है अब भी हिमाचल की पुरातन ऐतिहासिक संस्कृति ब्रेकिंग) हमीरपुर : मायक़े में रह रही महिला रीना को वाहन ने मारी टक्कर, फुटपाथ पर अतिक्रमण के कारण सड़क किनारे चल रही थी राहगीर महिला, उपायुक्त ने लिया कड़ा एक्शन हमीर उत्सव पर विशेष : बेशक सबसे छोटा लेकिन विकास में सबसे आगे है हमीरपुर, देश की सीमाओं पर तैनात हैं यहाँ के हज़ारों नौजवान