Friday, November 22, 2019
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
तकनीकी विवि का दीक्षांत समारोह 28 को, 315 मेधावियों को मिलेंगी उपाधियांअनुराग ठाकुर स्पष्ट करें , रेल लाने में समर्थ हैं या नहीं :राजेंद्र राणा ......कहा , अनुराग के पास अब ख़ज़ाना भी है, कोई बहाना नहीं चलेगाबड़सर : बाप ने दिखाई हैवानियत, अपनी ही नाबालिग़ बेटी से करता रहा दुष्कर्म , मामला दर्ज, गिरफ़्तार करोड़ों की आमदनी -- भवन फटे हालजेसीसी की बैठक न बुलाई तो प्रदेश के कर्मचारी 12 दिसम्बर को करेंगे विधानसभा का घेराव : एनआर ठाकुर आख़िर हमीर उत्सव की हुई घोषणा, 6 से 7 दिसंबर तक आयोजित होगा हमीर उत्सव, लोगों में ख़ुशी की लहरएसबीआई चौपाल में स्टॉफ की कमी, पैसे जमा करवाने व निकालने में ग्राहको हो रही परेशानी हमीरपुर का पानी ठीक , दूध में गड़बड़, खाद्य एवं सुरक्षा विभाग की मोबाइल वैन कर रही टेस्टिंग
-
विशेष

नेरवा अस्पताल में लोगों की सेहत से खिलवाड़; आखिर कब तक ?

January 08, 2019 08:49 PM

नेरवा,

किसी भी दुर्घटना के होने के बाद नेरवा अस्पताल का विवादों में आना कोई नई बात नहीं है ! ऐसे समय में नेरवा अस्पताल का चोली दामन का साथ रहा है ! यही बात मंगलवार को नेरवा देइया मार्ग पर मंगलवार को हुए कार हादसे के बाद भी सामने आई ! हादसे के घायलों को जब नेरवा अस्पताल लाया गया तो अस्पताल में एक भी एमबीबीएस डॉक्टर मौजूद नहीं था ! नेरवा अस्पताल में इस समय कोई भी वरिष्ठ चिकित्सक तैनात नहीं हैं,वर्तमान में यहां  तीन चिकित्सक तैनात हैं व यह तीनों ही जूनियर हैं ! अस्पताल यह तीनों जूनियर चिकित्सक एमडी की परीक्षाएं देने के लिए बाहर गए हुए थे ! चिकित्स्कों की गैरहाजिरी में अस्पताल में तैनात दन्त चिकित्सक ने एक आयर्वेदिक चिकित्सक व दो स्टाफ नर्सों के साथ मिल कर घायलों को प्राथमिक उपचार दिया ! जिस वजह से स्थानीय लोग भड़क उठे है,लोगों में स्वास्थ्य विभाग के इस लापरवाही भरे रवैये के प्रति गुस्सा है  ! लोगो का आरोप है कि नेरवा अस्पताल में तैनात चिकित्सक जब परीक्षाएं देने गए थे तो अस्पताल में एमबीबीएस चिकित्सक की वैक्लपिक व्यवस्था क्यों नहीं की गई ! इसके आलावा हादसों के समय अस्पताल में स्टाफ की कमी भी सामने आती रहती है ! नेरवा व चौपाल दोनों अस्पतालों में स्टाफ नर्सों के छह छह पद है,परन्तु वर्तमान समय में नेरवा में दो और चौपाल में एक स्टाफ नर्स तैनात है ! नेरवा से एक स्टाफ नर्स को जरूरत पड़ने पर चौपाल डेपुटेशन पर भेज दिया जाता है ! मंगल वार को हादसे के बाद एमबीबीएस चिकित्सक की सेवायें न मिलने से क्षेत्रवासी भड़के हुए हैं व स्वास्थ्य मंत्री से मांग की है कि इस बात की जांच की जाए कि चिकित्स्कों के छुट्टी जाने पर यहां पर एमबीबीएस चिकित्सक की वैकल्पिक व्यवस्था क्यों नहीं की गई !

Have something to say? Post your comment
 
और विशेष खबरें
सराहकड़ ( हमीरपुर) : सरकार-प्रशासन से नहीं माँगी मदद, श्मशान घाट बनाने खुद उतर पड़े गांव वाले चौपाल के क़ुरग गाँव की 110 वर्षीय सुंदी देवी के निधन पर आसमान भी रोया , याददाश्त व मिलनसार स्वभाव के चलते इलाक़े में थी अलग पहचान, हमीरपुर पुलिस के फ़ेसबुक पेज पर ख़ूब शेयर हो रही ‘हिमालयन अपडेट’ की ख़बर, पुलिस को मिल रही बधाईयाँ शुभ मुहूर्त में करें करवाचौथ व्रत का पूजन देवकृपा से जड़ से उखड़े उल्टे पेड़ में भी रहती है हरियाली रामपुर के दत्तनगर हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट 412 मेगावाट ने किया सतलुज आराधना का आयोजन 9 औषिधियाँ जिसमे समाई है 9 दुर्गा माँ जमीन में जहर झोंकने की जरूरत नहीं, प्राकृतिक खेती लाएगी खुशहाली जवानी की दहलीज़ से पूर्व नशे की गर्त में जा रही युवा पीढ़ी राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय संजौली के एन.एस.एस यूनिट द्वारा ध्वनि प्रदूषण से राहत के लिए चलाया जागरूकता अभियान