Thursday, May 28, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
राज्य

पैट अध्यापकों को 19 की मंत्रीमंडल बैठक में नियमित करे सरकार

January 14, 2019 02:49 PM
आनी
 
प्राथमिक सहायक अध्यापक संघ के प्रदेश अध्यक्ष रजत शर्मा ने  यहां जारी एक ब्यान में कहा कि पैट अध्यापक  पिछले 16 वर्षों से प्रदेश के दूरदराज क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे रहे ,मगर कोई भी सरकार उन्हें अभी तक नियमित नही कर पाई हैं। संघ के अध्यक्ष ने कहा कि प्राथमिक सहायक अध्यापक वर्तमान में प्रदेश के अंदर सर्वाधिक शोषित वर्ग है जो कि पिछले 16 वर्षों से विभिन्न दूरदराज क्षेत्रो के स्कूलों में  ज्ञान की लौ जला रहे हैं । लेकिन वावजूद इसके प्रदेश के 3400 प्राथमिक सहायक अध्यापक आज भी नियमितीकरण से वंचित हैं। उन्होंने कहा की 2003 से लेकर 2007 के मध्य में पूरे प्रदेश में प्राथमिक सहायक अध्यापकों की भर्ती एक निर्धारित चयन प्रक्रिया के माध्यम से एस डी एम के साक्षात्कार के बाद की गई ।  भर्ती में विज्ञापन के माध्यम से सभी को सूचित किया गया तथा योग्य उम्मीदवारों से आवेदन मांगे गए। तत्पश्चात एसडीएम के नेतृत्व में मैरिट के आधार पर योग्यतम उम्मीदवारों का चयन किया गया। उन्होंने कहा कि प्राथमिक सहायक अध्यापकों की भर्ती में ग्रामीण विद्या उपासकों की भर्ती प्रक्रिया को ही अपनाया गया लेकिन सभी ग्रामीण विद्या उपासक  सरकार द्वारा 2012 में नियमित कर दिए गए , जिसका संघ स्वागत करता है मगर सरकार ने 3400 प्राथमिक सहायक अध्यापकों को नियमित न कर उनसे सौतेला व्यवहार किया है ,जिससे पैट अध्यापक अपने भविष्य को लेकर बेहद चिंतित है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष रजत शर्मा  ने कहा कि  प्राथमिक विद्यालयों में इससे पूर्व भी इस प्रकार की भर्तियां सरकार करती रही है तथा सभी को क्रमबद्ध तरीके से नियमित कर दिया गया लेकिन अभी तक 3400 प्राथमिक सहायक अध्यापकों का भविष्य अधर में लटका है। विशेष बात यह भी है कि प्राथमिक सहायक अध्यापकों की नियुक्ति में पूरे प्रदेश के अंदर सरकार द्वारा एक निश्चित रोस्टर प्रक्रिया को भी अपनाया गया तथा एक पारदर्शी तरीके से इनका चयन हुआ है। पैट के अध्यक्ष रजत शर्मा ने सभी प्राथमिक सहायक अध्यापकों को विश्वास दिलाया कि  वर्तमान सरकार उनकी  मुद्दे पर गम्भीर है और संघ आश्वस्त हैं कि आगामी 19 तारीख की मंत्रिमंडल की बैठक में 3400 प्राथमिक सहायक अध्यापकों को नियमितीकरण का तोहफा देगी।
पैट के अध्यक्ष रजत शर्मा ने प्रदेश सरकार से आग्रह किया कि सभी प्राथमिक सहायक अध्यापकों को नियमितीकरण का तोहफा ग्रामीण विद्या उपासकों की तर्ज पर 19 तारीख कि मंत्रिमंडल की बैठक में दिया जाए। यह सभी अध्यापक कनिष्ट बुनियादी अध्यापक के पद के लिए सभी प्रकार की योग्यताएं पूरी करते हैं।  पैट अध्यापकों ने वर्तमान सरकार  के मुख्यमंत्री  जयराम ठाकुर  तथा  शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज पर विश्वास भी व्यक्त किया  कि आगामी 19 तारीख की मंत्रिमंडल की बैठक में सरकार सभी प्राथमिक सहायक अध्यापकों को नियमितीकरण का तोहफा प्रदान कर इनके 16 वर्ष के बनवास को समाप्त करेंगे तथा इनके  भविष्य को सुरक्षित करेगी।
Have something to say? Post your comment
 
और राज्य खबरें