Monday, February 17, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
टौणी देवी स्कूल की चारदीवारी को उपायुक्त से 25 लाख रुपए मिले, प्रिंसिपल व एसएमसी ने जताया आभारसमीरपुर की दहलीज़ से मिला देशभक्ति का पाठ आज भी याद रखते हैं अनुराग ठाकुर, मिलने वालों का लगा रहा ताँता हमीरपुर : हादसे में न सीखने वाला बचा न सिखाने वाला , पहाड़ी से लुढ़की नई इनोवा गाड़ीप्रेम कौशल ने कहा : “गाली गलौज की राजनीति बंद करने पर सीएम जयराम का स्वागत, अन्य भाजपा नेता भी लें सबक़”हमीरपुर : जेबीटी कमीशन में बीएड को शामिल करने का विरोध, धरना प्रदर्शन कर उपायुक्त के माध्यम से भेजे ज्ञापन हमीरपुर के सीआईडी इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल प्रेज़िडेंट पुलिस मेडल से सम्मानित, ऊना के चुरड़ू गाँव से हैं सम्बंधितये हाथ हमको दे दे ठाकुरआसमान की बुलंदियों पर उड़ता नजर आएगा मडावग का विक्रम !
-
हिमाचल

मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग की वेबसाइट व कैलेण्डर किया जारी

January 15, 2019 08:28 PM
  शिमला,
 
राज्य सरकार ने पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए अनेक पहल की हैं और लगभग 1900 करोड़ रुपये की एशियाई विकास बैंक की सहायता से प्रदेश के कम पहचान वाले व अनछुए क्षेत्रों का पर्यटन की दृष्टि से दोहन किया जा रहा है। 
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां पर्यटन विभाग का वेबसाइट व कैलेण्डर जारी करते हुए यह बात कही। इस वेबसाइट को ीपउंबींसजवनतपेउण्हवअण्पद पर जाकर खोला जा सकता है।
विभाग द्वारा तैयार किया गया कैलेण्डर विभिन्न चित्रों जैसे रिवालसर झील मण्डी, टाऊन हाल शिमला, फाग मेला किन्नौर, शिमला जाती हुई ट्रेन, तीर्थन घाटी कुल्लू, स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाए गए चीड़ की पत्तियों के उत्पाद, शिमला का रिज मैदान, जजुराना पक्षी, डायना पार्क में पर्वतीय बाइकिंग, मण्डी, कुल्लू दशहरा, सिरमौर जिले का चूड़धार और कुल्लू घाटी के होम स्टे का मिश्रण है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि यह वेबसाइट शत-प्रतिशत मोबाइल फोन मित्र है, इसमें सभी उपकरणों के लिए एक समान कोड बेस है तथा इसके संचालन के लिए मोबाइल में अलग से साईट की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि इस साईट में फुल स्क्रीन इमेज गैलरी भी है, जिसके द्वारा पर्यटन से सम्बन्धित चित्र देखे जा सकते हैं तथा इस वेबसाइट में आसानी से जोड़ने, संपादित करने, मिटाने के लिए एकीकृत विषयवस्तु प्रबन्धन प्रणाली है।
उन्होंने कहा कि इस वेबसाईट में सुरक्षा के अनूठे प्रावधान जैसे कि लॉग-इन ब्रूट फोर्स प्रोटेक्शन, इंट्रूजन डिटेक्शन प्रणाली, कोर कोड तथा बोटस को रोकने व निदान के लिए केपचा है।
उन्होंने अधिकारियों को प्रदेश की पर्यटन क्षमता का प्रचारयू-ट्यूब, टविटर, इंस्टाग्रां, फेस बुक आदि जैसे सोशल मीडिया में करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस वेबसाइट के माध्यम से नई जगहों व गंतव्यों का प्रचार करने के अतिरिक्त इसका समय-समय पर अद्यतन करने के निर्देश दिए, जिससे कि प्रदेश में आ रहे लोगों को सही जानकारी उपलब्ध हो सके। उन्होंने पर्यटकों की सुविधा के लिए प्रदेश के होटलों व होम-स्टे को सही तरीके से जोड़ने पर बल दिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रकृति ने हिमाचल प्रदेश को असीम पर्यटन क्षमता से नवाजा है तथा इसका पूरी तरह से दोहन राज्य के लिए न केवल लाभप्रद साबित हो सकता है, बल्कि इससे राज्य के बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार और स्वरोजगार के अवसर पैदा होंगे।
अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी और राम सुभग सिंह, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव संजय कुंडू, निदेशक पर्यटन सी.पी. वर्मा, एचपीटीडीसी की प्रबंध निदेशक कुमुद सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव विनय सिंह, अतिरिक्त निदेशक पर्यटन मनोज कुमार, रविन्द्र मखैक सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।    
Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
टौणी देवी स्कूल की चारदीवारी को उपायुक्त से 25 लाख रुपए मिले, प्रिंसिपल व एसएमसी ने जताया आभार हमीरपुर के सीआईडी इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल प्रेज़िडेंट पुलिस मेडल से सम्मानित, ऊना के चुरड़ू गाँव से हैं सम्बंधित हिमाचल प्रदेश पुलिस में प्रमोशन 4 एसपी और 4 एएसपी बने राज्यपाल ने किया 58 व्यक्तियों को अलंकृत शिवरात्रि महोत्सव-2020 के लिए ऑडिशन 10 से हिमाचल का 23 साल का फौजी जवान शहीद शिक्षा व सामाजिक क्षेत्र में सराहनीय योगदान के लिए"भारत गौरव पुरस्कार" से सम्मानित हुए डॉ, मुकेश शर्मा राज्यपाल ने राज्य लोक सेवा आयोग की ई-गवर्नेंस परियोजना को प्रभावी बनाने पर बल दिया मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन के नाम और लोगो के लिए सुझाव आमंत्रित धर्मेन्द्र राणा नगर परिषद नालागढ़ के अध्यक्ष निर्वाचित