Sunday, May 31, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
हिमाचल

झाकड़ी में तेंदुए का खौफ खत्म

January 17, 2019 08:28 PM

 

रामपुर बुशहर, 

झाकड़ी पंचायत के लोगों ने तब राहत की सांस ली जब काफी दिनों से खुलआम धूम रहे तेंदुए को वन विभाग के कर्मियों ने पकड़ लिया।तेंदुए को पकडऩे के लिए वन विभाग के कर्मियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार देर रात को झाकड़ी पंचायत केलोगों ने यह जानकारी वन विभाग को दी कि तेंदुआ खुलाआम धूम रहा है। इसके बाद मौके पर वन विभाग की टीम जिसमें बीओ रामपुरकुंदन नेगी, फारेस्ट गार्ड ललित भारती, ताराचंद, मुन्ना लेंथरा, फारेस्ट कर्मी संजीव व लोचन शामिल रहे।

दो सप्ताह पहले मिली सूचना के आधार पर वन विभाग ने झाकड़ी में तेंदुए को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाया था। देर रात जब तेंदुआपिंजरे वाली जगह पर आया और पिंजरे के भीतर खाने की चीज को लेने गया तो पिंजरा बंद हो गया और तेंदुआ उसके भीतर फंस गया।जिसकी सूचना लोगों ने वन विभाग को दी। मौके पर पहुंची टीम ने पिंजरे को अपने कब्जे में लिया। दो घंटे की मशक्कत के बाद तेंदुए कोबेहोश कर लाया गया। जिसके बाद वन विभाग की टीम ने उसे रामपुर पहुंचाया।

बताया जा रहा है कि अब उसे टूटी कंडी भेज कर स्वस्थ की जांच की जाएगी इसके बाद फिर से जंगल में छोड़ दिया जाएगा।तेंदुए के पकडे जाने के बाद ग्रामीणों ने  राहत की सांस ली है। झाकड़ी पंचायत के प्रधान मस्तराम व उप प्रधान बीरबल कश्यप ने कहा किकाफी दिनों से झाकड़ी पंचायत तेंदुए के आंतक से परेशान थी। यहां तक कि महिलाएं खेत जाने से भी कतरा रही थी कि कहीं तेंदुआ उन परहमला न कर दे। तेंदुए के खौफ से ग्रामीणों का पूरा काम प्रभावित हो रहा था। उन्होंने वन विभाग का धन्यवाद किया है कि समय रहतेउन्होंने तेंदुए को पकड़ लिया।

Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें