Sunday, May 31, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजलीहिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर में ऑनलाईन फेसबुक लाइव के माध्यम से अध्ययन केंद्र का विधिवत उद्घाटन
-
कर्मचारी

परियोजना प्रबंधन से खफा कॉन्ट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | March 07, 2019 07:01 PM

 

रामपुर बुशहर, 

412 मेगावाट रामपुर हाइड्रो प्रोजेक्ट पावर स्टेशन कॉन्ट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन परियोजना प्रबंधन से खासे खफा चल रहे है। प्रबंधन को सौंपे मांग पत्र पर बातचीत न करने पर विरोध जताते हुए गुरूवार को मजदूरों ने सीटू के बेनर तले बायल, परियोजना पावर हाउस, दत्तनगर व झाकड़ी में रैली निकाली। रैली को सम्बोधित करते हुए सीटू जिला शिमला कमेटी अध्यक्ष बिहारी सेवगी व यूनियन के सचिव रिंकू राम ने कहा कि 412 मैगावाट प्रबंधक वर्ग व ठेकेदारों को यूनियन के द्वारा अपनी मांगों को लेकर 14 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा था। जिसमें परियोजना के मजदूरों के लिए प्रमोशन पालिसी बनाई जाने, मजदूरों के लिए रेगुलर स्टाफ की तर्ज पर जूते बर्दी के लिए भत्ता दिये जाने, हर वर्ष मजदूरों के वेतन में वार्षिक इंक्रीमिंट लगाए जाने, रेगुलर स्टाफ की तर्ज पर मजदूरों के लिए बसें निरमंड और कोयल से बायल के लिए लगाने व मजदूरों को ट्रेड लगाना आदि मुख्य मांगे शामिल थी। लेकिन प्रबंधक वर्ग के द्वारा मजदूरों के द्वारा दिये मांग पत्र पर बातचीत की कोई पहल ही नही की जा रही है। उलटा परियोजना प्रबंधन द्वारा यूनियन के शीर्ष नेतृत्व को डराने का प्रयास किया जा रहा है।

 

सीटू नेताओं ने कहा कि इस प्रोजेक्ट में ठेका मजदूर पिछले 11 -12 सालों से काम कर रहे हैं परन्तु उन्हें अभी तक कोई प्रोमोशन नहीं दिया गया है और न ही न्यूनतम वेतन के अलावा कोई सालाना इंक्रीमेंट मजदूरों को दिया गया है। जबकि प्रोजेक्ट का पूरा काम कॉन्ट्रैक्ट वरकर्स के द्वारा किया जा रहा है। फिर भी परियोजना द्वारा मजदूरों का शोषण किया जा रहा है। यूनियन ने कहा कि यदि प्रबन्धक वर्ग के द्वारा मजदूरों की मांगों को अनदेखा किया गया तो आने वाले समय में मजदूर उग्र आंदोलन पर उतारू हो जाएगें। इस मौके पर राजकुमार, हेम राज, पुष्प राम, घनश्याम, आभे राम, पवन शर्मा, शेर सिंह, दुर्वासा, शीला, सुरजीत, बालकृष्ण, भूप सिंह, खेम राज, लोकेश, कला देवी, संतोष, पुष्पा, सरोज, तिलक राज, सेवा दासी, शीला, राम लाल, बलविंदर के अलावा कई अन्य मजदूर मौजूद रहे।

 

 

 

 

Have something to say? Post your comment
 
और कर्मचारी खबरें
सभी पंजीकृत निर्माण मज़दूरों को जल्दी सहायता प्रदान करने की मांग पत्रकारों की विभिन्न मांगों को लेकर प्रेस क्लब शिमला ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को सौंपा ज्ञापन 31 जनवरी, 1 व 2 फरवरी को 150 पदों हेतु साक्षात्कार आंगबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका के पदों के लिए इंटरव्यू 19 दिसंबर को बागवानी विभाग में प्रयोगशाला सहायक के भरे जाएंगे 5 पद रामपुर बुशहर में पेन्शन जागरूकता अभियान का आयोजन 8 जनवरी को हड़ताल करेंगे मज़दूर--डॉ कशमीर ठाकुर पुलिस भर्ती के लिए साक्षात्कार 30 सितम्बर से होंगे शुरू पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित कोर्ट कर्मचारी की मृत्यु पर न्यायिक परिसर में रखा दो मिनट का मौन