Tuesday, February 25, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
( ब्रेकिंग ) हमीरपुर: दीवार पर पोस्टर लगाकर पूर्व सैनिक ने महिला प्रधान के ख़िलाफ़ लिखे अश्लील शब्द , दो अन्य लोगों के ख़िलाफ़ भी लिखे जातिसूचक शब्द, मैड़ के कश्मीर सिंह के ख़िलाफ़ FIR दर्ज।हिमाचल प्रदेश भाजपा ने की प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणामुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को जाता है बदला-बदली के दौर को ख़त्म करने का श्रेय : नरेंद्र ठाकुरब्रेकिंग : शिक्षा विभाग उठाएगा एसिड पीड़ित छात्राओं के इलाज का ख़र्च , जाँच के बाद निष्कासित होगा आरोपित छात्र , पीड़ित परिवार को नहीं मिली एफ़आईआर की कॉपी(ब्रेकिंग) हमीरपुर : मर्डर केस में पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी आमिर खान, गिरफ़्तारी के बाद पुलिस ने तेज़ की जाँच Breaking News : नारकंडा में कार दुर्घटनाग्रस्त एक की मौतएसिड प्रकरण : आरोपी के ख़िलाफ़ रविवार को एफ़आईआर नंबर 13/2020 दर्ज, उटपुर पीएचसी से पुलिस ने लिए एमएलसी, आई जाँच में तेज़ी।एसिड प्रकरण : राम भरोसे सरकारी स्कूलों की विज्ञान प्रयोगशालाएँ , चपड़ासी से प्रोमोट हो लैब अटेंडेंट दे रहे सेवाएँ, हाई स्कूलों में नहीं है लैब अटेंडेंट की पोस्ट
-
कर्मचारी

परियोजना प्रबंधन से खफा कॉन्ट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | March 07, 2019 07:01 PM
रामपुर बुशहर : मांगो को लेकर रैली निकालते यूनियन के मजदूर

 

रामपुर बुशहर, 

412 मेगावाट रामपुर हाइड्रो प्रोजेक्ट पावर स्टेशन कॉन्ट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन परियोजना प्रबंधन से खासे खफा चल रहे है। प्रबंधन को सौंपे मांग पत्र पर बातचीत न करने पर विरोध जताते हुए गुरूवार को मजदूरों ने सीटू के बेनर तले बायल, परियोजना पावर हाउस, दत्तनगर व झाकड़ी में रैली निकाली। रैली को सम्बोधित करते हुए सीटू जिला शिमला कमेटी अध्यक्ष बिहारी सेवगी व यूनियन के सचिव रिंकू राम ने कहा कि 412 मैगावाट प्रबंधक वर्ग व ठेकेदारों को यूनियन के द्वारा अपनी मांगों को लेकर 14 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा था। जिसमें परियोजना के मजदूरों के लिए प्रमोशन पालिसी बनाई जाने, मजदूरों के लिए रेगुलर स्टाफ की तर्ज पर जूते बर्दी के लिए भत्ता दिये जाने, हर वर्ष मजदूरों के वेतन में वार्षिक इंक्रीमिंट लगाए जाने, रेगुलर स्टाफ की तर्ज पर मजदूरों के लिए बसें निरमंड और कोयल से बायल के लिए लगाने व मजदूरों को ट्रेड लगाना आदि मुख्य मांगे शामिल थी। लेकिन प्रबंधक वर्ग के द्वारा मजदूरों के द्वारा दिये मांग पत्र पर बातचीत की कोई पहल ही नही की जा रही है। उलटा परियोजना प्रबंधन द्वारा यूनियन के शीर्ष नेतृत्व को डराने का प्रयास किया जा रहा है।

 

सीटू नेताओं ने कहा कि इस प्रोजेक्ट में ठेका मजदूर पिछले 11 -12 सालों से काम कर रहे हैं परन्तु उन्हें अभी तक कोई प्रोमोशन नहीं दिया गया है और न ही न्यूनतम वेतन के अलावा कोई सालाना इंक्रीमेंट मजदूरों को दिया गया है। जबकि प्रोजेक्ट का पूरा काम कॉन्ट्रैक्ट वरकर्स के द्वारा किया जा रहा है। फिर भी परियोजना द्वारा मजदूरों का शोषण किया जा रहा है। यूनियन ने कहा कि यदि प्रबन्धक वर्ग के द्वारा मजदूरों की मांगों को अनदेखा किया गया तो आने वाले समय में मजदूर उग्र आंदोलन पर उतारू हो जाएगें। इस मौके पर राजकुमार, हेम राज, पुष्प राम, घनश्याम, आभे राम, पवन शर्मा, शेर सिंह, दुर्वासा, शीला, सुरजीत, बालकृष्ण, भूप सिंह, खेम राज, लोकेश, कला देवी, संतोष, पुष्पा, सरोज, तिलक राज, सेवा दासी, शीला, राम लाल, बलविंदर के अलावा कई अन्य मजदूर मौजूद रहे।

 

 

 

 

Have something to say? Post your comment
 
और कर्मचारी खबरें