Monday, February 17, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
टौणी देवी स्कूल की चारदीवारी को उपायुक्त से 25 लाख रुपए मिले, प्रिंसिपल व एसएमसी ने जताया आभारसमीरपुर की दहलीज़ से मिला देशभक्ति का पाठ आज भी याद रखते हैं अनुराग ठाकुर, मिलने वालों का लगा रहा ताँता हमीरपुर : हादसे में न सीखने वाला बचा न सिखाने वाला , पहाड़ी से लुढ़की नई इनोवा गाड़ीप्रेम कौशल ने कहा : “गाली गलौज की राजनीति बंद करने पर सीएम जयराम का स्वागत, अन्य भाजपा नेता भी लें सबक़”हमीरपुर : जेबीटी कमीशन में बीएड को शामिल करने का विरोध, धरना प्रदर्शन कर उपायुक्त के माध्यम से भेजे ज्ञापन हमीरपुर के सीआईडी इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल प्रेज़िडेंट पुलिस मेडल से सम्मानित, ऊना के चुरड़ू गाँव से हैं सम्बंधितये हाथ हमको दे दे ठाकुरआसमान की बुलंदियों पर उड़ता नजर आएगा मडावग का विक्रम !
-
विशेष

हमीरपुर सीट : कैसे बीते तीन दिन , अनुराग कार्यकर्ताओं से लेते रहे फ़ीडबेक, माँ नयना देवी के दरबार भरी हाज़िरी , राम लाल ठाकुर विधानसभा क्षेत्र में रहकर करते रहे हार जीत का आंकलन

रजनीश शर्मा | May 22, 2019 03:45 PM


हमीरपुर , 
लोकसभा चुनाव में 19 मई को हुई वोटिंग के बाद हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशियों ने कार्यकर्ताओं संघ फ़ीडबेक लेते हुए तीन दिन निकाले । भाजपा के प्रत्याशी अनुराग ठाकुर 20 मई को अपने निवास स्थान समीरपुर में ही रहे ।उन्होंने मिलने के लिए आए हर कार्यकर्ता से बात की । अनुराग ठाकुर इस दौरान कार्यकर्ता से फ़ीडबेक लेने के साथ साथ पारिवारिक सदस्यों का हाल चाल पूछते भी नज़र आए । समीरपुर में उनके साथ पिता प्रेम कुमार धूमल भी प्रसन्न मुद्रा में कार्यकर्ताओं में मिलते रहे । इस दौरान हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के बिलासपुर , ऊना , देहरा , धर्मपुर , जसवां परागपुर तथा अन्य क्षेत्रों के बूथ प्रभारी , मंडल प्रमुख तथा पार्टी पदाधिकारी लगातार समीरपुर पहुँचते रहे । अनुराग ठाकुर 21 व 22 मई को बिलासपुर ज़िला के दौरे पर निकल गये । दौरान वह विभिन्न स्थानों पर कार्यकर्ताओं से मिले। 22 मई को उन्होंने माँ श्री नयना देवी के दरबार में पहुँच शीश नबाया । बुधवार शाम को वह वापिस हमीरपुर ज़िला स्थित अपने निवास स्थान समीरपुर में पहुँचे । मतगणना वाले दिन वह समीरपुर से हमीरपुर ज़िला मुख्यालय स्थित भाजपा कार्यालय में पहुँच कर मतगणना की पल पल की रिपोर्ट लेते रहेंगे
क्या कहते हैं अनुराग ठाकुर :- अनुराग ठाकुर के मुताबिक़ मतदाताओं के उत्साह को देखते हुए वह बड़े मार्जिन से जीत के लिए आश्वस्त हैं । उन्होंने कहा कि देश में मजबूत , स्थायी एवं शक्ति शाली सरकार बनाने के लिए जनता ने जनादेश दिया है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए पूर्ण बहुमत से सत्ता में लौट रही है।

उधर हमीरपुर संसदीय क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी राम लाल ठाकुर मतदान के बाद तीन दिन तक अपने विधानसभा क्षेत्र नयना देवी में ही व्यस्त रहे । वह इस बीच कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मिले ।मतदान के बाद आए एग्ज़िट पोल को लेकर ख़ूब चर्चा होती रही । राम लाल ठाकुर अख़बारों में छपे विश्लेषणों पर नज़र रखते रहे । 22 मई को कांग्रेस प्रत्याशी मतगणना केंद्रों में अपने काउंटिंग एजेंटों की लिस्ट को अंतिम रूप देने में व्यस्त दिखे। मतगणना वाले दिन 23 मई को वह देश भर से आने वाले लोकसभा चुनाव के रिज़ल्ट पर नज़र रखेंगे।

क्या कहते हैं राम लाल ठाकुर :- कांग्रेस प्रत्याशी राम लाल ठाकुर का कहना है कि मतदान के बाद के तीन दिन उन्होंने आम दिनों व आम रूटीन की तरह बिताए । उन्होंने लोकसभा चुनाव के दौरान हिमाचल की चारों सीटों पर हुई बम्पर वोटिंग को नए मतदाताओं का वोटिंग के प्रति उत्साह बताया। उन्होंने यह भी कहा कि चुनावों में सरकारी मशीनरी का प्रयोग कर मोदीकरण करने का प्रयास किया गया। उन्होंने स्वीप कार्यक्रमों पर भी सवाल उठाए ।

Have something to say? Post your comment
 
और विशेष खबरें
आसमान की बुलंदियों पर उड़ता नजर आएगा मडावग का विक्रम ! हमीरपुर जिला में 65,632 विद्यार्थियों को निःशुल्क वर्दी योजना, 37,402 विद्यार्थियों को निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें व 12,022 को मुफ्त स्कूल बैग का मिल रहा लाभ हिमाचल : यहाँ तो पैदल चलना भी सुरक्षित नहीं, दो साल में हो चुकी 353 पैदल यात्रियों की मौत, हिमालयी राज्यों में पहले स्थान पर हिमाचल, दूसरे पर उत्तराखंड प्लास्टिक को जीवन में ना अपनाएँ, आओ सब मिलकर इस धरती को बचाएं...... युवा दिवस और युवाओं के लिए संदेश आज है विश्व हिंदी दिवस ;जाने क्यों मनाया जाता है विश्व हिंदी दिवस मनरेगा के तहत बंगाणा में विकास कार्यों पर दो वर्ष में खर्च हुए 26.54 करोड़ हिमाचल कवियों, लेखकों एंव साहित्यकारों के लिए खास रहा विश्व पुस्तक मेला 2020 देहरादून : स्कूली शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने टिहरी जिले के मुकेश डोभाल सहित नौ प्रिंसिपल और 54 शिक्षकों को किया सम्मानित जनश्रुतियों से कायम है अब भी हिमाचल की पुरातन ऐतिहासिक संस्कृति