Friday, July 10, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
नादौन पुलिस स्टेशन हिमाचल का सर्वश्रेष्ठ थाना घोषित , 47 पंचायतों की क़रीब एक लाख जनता को बेहतर सुरक्षा, व 19 मानकों पर तय हुई रैंकिंगब्रेकिंग: कलयुगी दादा ने अपनी 9 साल की पोती को बनाया हवस का शिकारशहादत : तिरंगे में लिपटे अमर शहीद अंकुश के पार्थिव शरीर को देख बिलख उठे हमीरपुरवासी, आसमान भी रोया, राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई , सीएम कल मिलेंगे परिजनों से तिरंगे में लिपटे अमर शहीद अंकुश का पार्थिव शरीर ले आज 10 बजे लेह से चण्डीगढ़ के लिए उड़ान भरेगा विशेष विमान, क़ड़ोहता के बरसेला नाला में होगी राष्ट्रीय सम्मान के साथ अंतिम विदाईअंकुश की शहादत से हमीरपुर गमगीन, हमीरपुर जिला के कड़ोहता ( भोरंज उपमंडल)का वीर सैनिक अंकुश शहीद हुआ , कड़ोहता में बेसब्री से हो रहा शहीद के पार्थिव देह का इंतज़ार ब्रेकिंग ) हमीरपुर : मानसिक परेशानी से घर से ग़ायब युवक की सातवें दिन जंगलबेरी में मिली डेड बॉडी,ब्रेकिंग : जिला सोलन के अर्की में कोरोना का पहला मामला आने से हड़कंप ब्रेकिंग: कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति गुरुग्राम से सीधे पहुंचा अस्पताल, मेडिकल कॉलेज नेरचौक में मची अफरातफरी
-
क्राइम

हिमाचल की सीमाओं की चौकसी बढ़ाकर नशा तस्करों पर कार्यवाही करे सरकार : इंटक

रजनीश शर्मा  | September 18, 2019 03:27 PM

 

कहा : जब स्थानीय पुलिस पकड़ रही मामले तो बार्डर एरिया में इतनी ढील क्यों

हमीरपुर ,
जिला हमीरपुर में बढ़ते नशे के मामलों को लेकर जिला इंटक ने चिंता व्यक्त करते हुए प्रदेश सरकार से मांग की है कि प्रदेश की सीमाओं पर चौकसी बढ़ाई जाए, ताकि युवाओं तक नशे की खेप न पहुंचे। जारी प्रेस विज्ञप्ति में इंटक के जिलाध्यक्ष बुद्धि सिंह, महासचिव संदीप व प्रवक्ता श्याम ने हैरानी जताई कि मौत के सौदागरों को पकड़कर स्थानीय पुलिस अपनी जिम्मेवारी निभा रहे है लेकिन बार्डर एरिया पर नशे के तस्कर कैसे बच रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला में पिछले 2 सप्ताह में ही चिट्टा व चरस बरामदगी के आधा दर्जन के करीब मामले पकड़े गए हैं तथा एक कालेज छात्र की नशे की ओवरडोज से मौत भी हो गई लेकिन इसके बावजूद मामले थम नहीं रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब तो युवा नशे की अपनी आदत को पूरा करने के लिए अपने घरो का सामान बेचने के अलावा अन्य की वारदातों को भी अंजाम दे रहे हैं जोकि चिंताजनक है। अगर समय रहते इस पर अंकुश नहीं लगाया तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। इन इंटक नेताओं ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि नशा तस्करों को हिमाचल में नशा बेचने के लिए मदद कर रहे लोगों की भी पहचान कर कड़ी कार्यवाही की जाए क्योंकि इन लोगों को प्रशासन का भी डर नहीं रहा है तथा बूखौफ होकर मौत का सामान बेच रहे हैं।

Have something to say? Post your comment
और क्राइम खबरें