Monday, November 18, 2019
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
पंचायत उपचुनाव परिणाम : रणबीर ज्योली देवी तो सुरजीत बने सौर पंचायत के प्रधान, सतीश (दाँदड़ू) संजीव (बफड़ी)प्रकाश ( चमनेड) बामदेव (नौहगी) राकेश बने मण पंचायत के उपप्रधान क़ाज़ा से उठी नशीले पदार्थों के ख़िलाफ़ आवाज़, एडीएम ज्ञान सागर ने दिलाई शपथ समाज सेवा का सशक्त माध्यम है पत्रकारिता, पत्रकार स्वस्थ पत्रकारिता को अपनायें : हरिकेश मीणाब्रेकिंग : वृद्ध महिला से क्रूरता मामले में एसएचओ सरकाघाट और एक हेड कांस्टेबल लाइन हाजिरअसली डायन/ भूत कौन - 81 वर्षीय राजदेई, 71 वर्षीय कृष्णा देवी , 70 वर्षीय जयगोपाल या फिर 28 वर्षीय पुजारिन निशु असली डायन/ भूत कौन - 81 वर्षीय राजदेई, 71 वर्षीय कृष्णा देवी , 70 वर्षीय जयगोपाल या फिर 28 वर्षीय पुजारिन निशु हमीरपुर : उपायुक्त की पहल पर सज़ा साप्ताहिक बाजार, हाथों हाथ बिकी 5 क्विंटल हरी सब्जियांसराहकड़ ( हमीरपुर) : सरकार-प्रशासन से नहीं माँगी मदद, श्मशान घाट बनाने खुद उतर पड़े गांव वाले
-
कारोबार

उद्योग मंत्री ने जीएसटी परिषद की 37वीं बैठक में भाग लिया

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | September 21, 2019 01:05 PM

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैठक की अध्यक्षता की।

शिमला           

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश एक पर्वतीय राज्य है और यहां की भौगोलिक स्थिति अन्य राज्यों से भिन्न हैं। हमारे प्रदेश में सीमित संसाधन है। प्रदेश में ज्यादा बड़े व्यापारिक केन्द्र नहीं है। जीएसटी के एक मूल सिद्धांत के अनुसार ‘बिजनेस टू कंज्यूमर’ की व्यवस्था के तहत कर प्राप्ति का अधिकार बनता है, जिससे हमारा प्रदेश वंचित है।

उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश में बड़े व्यापार उद्योग न होने के कारण प्रदेश के लोग प्रदेश में उपयोग होने वाली बड़ी मशीनरी, कंमर्शियल व घरेलू वाहन, फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुडज इत्यादि की खरीद प्रदेश के साथ लगते बड़े महानगरों दिल्ली, चण्डीगढ़, पंजाब से करते हैं, जिससे प्रदेश के हिस्से में आने वाले जीएसटी का लाभ प्रदेश को नहीं मिल पाता जो कि जीएसटी की मूल भावना के विरूद्ध है।

उन्होंने प्रदेश के हितों की रक्षा की बात को दोहराते हुए कहा कि प्रदेश की आर्थिक स्थिति को और अधिक सुदृढ़ करने के लिए विभिन्न मामले केन्द्र सरकार से उठाए हैं। उद्योग मंत्री ने बैठक में कहा कि जीएसटी प्रणाली के तहत सभी प्रकार का कर सभी खरीद पर होना चाहिए, किंतु हमें ये अधिकार नहीं मिल पा रहा है।

उद्योग मंत्री ने बैठक की अध्यक्षता कर रही देश की केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एवं उपस्थित केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से अनुरोध किया कि प्रदेश में जीएसटी के मूल सिद्धांत एजैंडा आईटम नम्बर 7 (III) के अनुसार पूर्ण अधिकार का अनुमोदन करने का अनुरोध किया।

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को कुल्लू शॉल और कांगड़ा चाय भी भेंट की।

इस बैठक में प्रधान सचिव (आबकारी एवं कराधान) संजय कुंडू व आवकारी कराधान आयुक्त डॉ. अजय शर्मा उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
 
और कारोबार खबरें
हिमाचल सरकार ने 10095 करोड़ के समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए मर्जर के खिलाफ देश भर में आज बैंक रहे बंद बंजार के बागबान पदम देव ने अनार से की आर्थिकी सुदृढ़ हाईब्रीड मक्की बीज ने मालामाल किए किसान,सुदृड़ हुई आर्थिकी कॉर्पोरेट टैक्स को घटाकर 22 प्रतिशत किए जाने का निर्णय सराहनीयः मुख्यमंत्री कार्यशाला के बाद प्रतिष्ठित महिलाओं ने सूरज स्वीट्स एवं रेस्टोरेंट में किया लंच , जमकर की तारीफ केसीसी बैंक ने बरोहा में लगाया वित्तिय साक्षरता शिवि आज़ादी दिवस और रक्षा बंधन के लिए बाज़ारों में दिखा जोश टाटा ग्रुप ने हिमाचल में चुनिंदा क्षेत्रों में निवेश की इच्छा जताई सेब सीजन को लेकर प्रशासन ने कसी कमर