Saturday, June 15, 2024
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
-
विशेष

https://youtu.be/tr-vDx7MtS8 अब कोरोना ने रोके शिमला-कालका रेल के पहिये भी ।

-
Anil K. Jamwal | के.जम्वाल 7018631199 | May 08, 2021 09:41 PM
Anil K. Jamwal

शिमला,

 हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों ने रोके अब रेल के भी पहिये । विश्व ध्रोहर कैहलाई जाने वाली कालका-शिमला रेल मार्ग पर भी लोकडॉन एवं कोरोना कर्फ्यू का खासा असर देखने को मिल रहा है । जिसके चलते कल से शिमला -कालका रेल लाइन पर ट्रेनों की आवाजाही पर रोक लग गएगी । कारण यही बताया जा जा रहा है कि कोरोना के चलते लोगों ने रेल में सफर करना बंद कर दिया है जिसके चलते रेलगाड़ी लंबे समय से खाली ही दौड़ रही हैं तथा रेल चालक को हर राज्य की एस.ओ.पी तथा दिशा निर्देशों का भी पालन करना पड़ता है सवारी ना होने के चलते भारतीय रेलवे ने फिलहाल के लिए यह निर्णय लिया है कि शिमला कालका रेल मार्ग पर 7 जिलों में से अब केवल एक ही रेल चलाई जाएगी जोकि कालका हावड़ा के साथ शिमला कालका रेल कनेक्ट है कुछ समय के लिए केवल यही एकमात्र रेल चलेगी यदि स्थिति और खराब होती है तो जैसे ही कालका हावड़ा के पहिए हम ते हैं वैसे ही शिमला कालका वाली रेल भी आने वाले समय में बंद कर दी जाएगी ।

 वहीं हिमालयन अपडेट से बात करते हुए स्टेशन अधीक्षक जोगिंदर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना से ही वैश्विक महामारी के चलते कोरोना की पहली लहर के बाद जब देश एवं प्रदेश में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई थी तत्पश्चात रेलवे के व्यवसाय में भी तथा यात्रियों में भी इजाफा देखने को मिला था क्योंकि जहां एक और हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला एवं पर्यटक स्थल की ओर पर्यटकों का आकर्षण बढ़ता हुआ देख रहा था तो जहां एक और रेलवे जगत में भी आर्थकी के सुधार को देखते हुए संतोष जगा था कि अब हालात सुधर ते हुए नजर आएंगे परंतु जैसे ही कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर प्रबल हुई उसके बाद देश एवं प्रदेश में फिर एक बार स्थिति चिंताजनक उत्पन्न हो गई है और लोगों की आवाजाही में भी रोक लेती नजर आ रही है जिसके चलते दिन प्रतिदिन यात्रियों की संख्या में कमी देखने को मिल रही है जिसके चलते भारतीय रेलवे उत्तर भारत ने यह फैसला लिया है कि फिलहाल के लिए एक रेल को छोड़कर अन्य रेलों के पहिए कल से थमते हुए नज़र आएंगे ।

 

-
-
Have something to say? Post your comment
-
और विशेष खबरें
उप राजिक मोहर सिंह छींटा सेवानिवृत वन चौकीदार से BO बनने तक का संघर्षपूर्ण सफर । नाम सक्षम ठाकुर योगा में हिमाचल और परिवार का नाम कर रहा ऊँचा विदेश से नौकरी छोड़ी, सब्जी उत्पादन से महक उठा स्वरोजगार सुगंधित फूलों की खेती से महकी सलूणी क्षेत्र के किसानों के जीवन की बगिया मौत यूं अपनी ओर खींच ले गई मेघ राज को ।हादसास्थल से महज दो किलोमीटर पहले अन्य गाड़ी से उतरकर सवार हुआ था हादसाग्रस्त आल्टो में । पीयूष गोयल ने दर्पण छवि में हाथ से लिखी १७ पुस्तकें. शिक्षक,शिक्षार्थी और समाज; लायक राम शर्मा हमें फक्र है : हमीरपुर का दामाद कलर्स चैनल पर छाया पुलिस जवान राजेश(राजा) आईजीएमसी शिमला में जागृत अवस्था में ब्रेन ट्यूमर का सफल ऑपेरशन किसी चमत्कार से कम नहीं लघुकथा अपने आप में स्वयं एक गढ़ा हुआ रूप होता है। इसे यूँ भी हम कह सकते हैं - गागर में सागर भरना
-
-
Total Visitor : 1,65,83,925
Copyright © 2017, Himalayan Update, All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy