Sunday, June 16, 2024
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
-
हेल्थ और लाइफस्टाइल

जिला को टीबी मुक्त करने के लिए समीक्षा बैठक का आयोजन, क्षय रोगी के परिवार सहित कार्यस्थल पर भी लोगो की होगी जांच

-
ब्यूरो हिमालयन अपडेट 7018631199 | August 19, 2023 05:48 PM
 
 
 
 
बिलासपुर,
 
जिला बिलासपुर को टीबी मुक्त बनाने के लिए आज स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से बचत भवन में बैठक का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त बिलासपुर आबिद हुसैन सादिक ने की। इस अवसर पर उपायुक्त बिलासपुर आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि जिला में एक्टिव कैस फाइंडिंग अभियान फिर से चलाया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि इस बार क्षय रोगियों की पहचान होने पर उनके परिवार के सभी सदस्य सहित कार्यस्थल पर भी उनके साथ के लोगों की जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला के सभी बड़े उद्योगों और कार्य स्थलों में कैंप के माध्यम से रोगियों की पहचान की जाएगी। इसके अतरिक्त जिला के सभी शिक्षण संस्थानों में क्षय के प्रति जागरूक किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि क्षय रोगियों की पहचान करना बहुत बड़ी चुनौती है जिसके लिए उन्होंने आईसीआईसीआई फाउंडेशन के माध्यम से सीएसआर फंड से हैंड हेल्ड एक्स-रे मशीन आयत किया गया है। इस अत्याधुनिक मशीन के माध्यम से कुछ मिनटों में ही क्षय रोगियों की पहचान की जा सकती है। इस मशीन के माध्यम से जिला के सुदूर गांवों तक टीबी मरीजों की पहचान सुगम होगी ।
 
इस बैठक में उपायुक्त ने केमिस्ट एसोसिएशन से जिला को टीबी मुक्त करने के लिए सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि सभी औषधि विक्रेता दवाइयां बेचते समय इस्तेमाल किए जाने वाले बैग पर क्षयरोग से संबंधित आईसी सामग्री यानी सूचना शिक्षा संचार प्रिंट करे ताकि लोग जागरूक हो। इसके अतिरिक्त केमिस्ट एसोसिएशन को खांसी की दवाई बेचते समय मरीज की सूचना एकत्र करनी होगी जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग औषधि विक्रेता के लिए एक ऐप उपलब्ध करवाएगी। ऐप में दवाई खरीदने वाले व्यक्ति का नाम व पता जोड़ने पर स्वास्थ्य विभाग उसे व्यक्ति की जांच करेगा।
उन्होंने बताया कि टीबी रोग के उन्मूलन मरीजों को मंदिर न्यास के माध्यम से गोद लिया जाएगा इसके अतिरिक्त कॉर्पोरेट संस्थान सामान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि, गैर सरकारी संस्थान निक्षय मित्र
बनाकर से रोगियों की मदद की जाएगी। उन्होंने बताया कि सीएसआर के माध्यम से क्षय रोगियों को हाइजीन किट और न्यूट्रीशन किट दिए जाएंगे।
उन्होंने बताया कि जिला बिलासपुर में पंचायतों को क्षय रोग मुक्त करने के लिए अभियान चलाया जाएगा जिसके तहत पंचायतों में न्यूनतम 30 से 50 लोगों की जांच की जाएगी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी पंचायत में कैंप के माध्यम से लोगों की टीबी, मधुमय, उच्च रक्तचाप और एनीमिया की जांच की जाए।
 
बैठक में विशेष रूप से विश्व स्वास्थ्य संगठन के कंसलटेंट डॉक्टर रविंद्र ने भाग लिया।उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार प्रदेश को 2024 तक टीबी मुक्त करने के लिए
 स्वास्थ्य विभाग द्वारा विशेष अभियान पूरे जिले में पहले से चलाया है जिसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिले है। लेकिन लेकिन टीबी को जड़ से खत्म करना एक चुनौती हैं। जिसके लिए सभी विभागों सभी गैर सरकारी संगठनों को मिलकर कार्य करना होगा।उन्होंने बताया कि जिला में अभी 441क्षय रोगियों की पहचान कर उपचार चला है।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपाय को बिलासपुर डॉ निधि पटेल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रवीण कुमार, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉक्टर अधिकारी कुलदीप सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।
-
-
Have something to say? Post your comment
-
और हेल्थ और लाइफस्टाइल खबरें
योग के महत्व के बारे में किया जागरूक विश्व रेडक्रॉस दिवस पर ऊना में लगा रक्त दान शिविर मेदांता गुडगांव के विशेषज्ञों द्वारा नाथपा झाकड़ी पावर स्टेशन कर्मियों को दिया सीपीआर पर प्रशिक्षण आनी में सचेत संस्था के रक्तदान शिविर में 160 लोगों ने किया रक्तदान निरंकारी एकता दिवस में उपायुक्त मुकेश रेपसवाल  ने किया रक्तदान राजकीय  प्राथमिक पाठशाला महालियत में चिकित्सा शिविर आयोजित अच्छे  स्वास्थ्य के लिए योग जरूरी है वैसे ही स्वस्थ लोकतंत्र के लिए मतदान जरूरी है-ओम कांत ठाकुर कराणा में 53 लोगों के स्वास्थ्य की हुई जाँच आयुष  हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर के तत्वाधान में कार्यक्रम आयोजित रिज मैदान पर एक दिवसीय रक्तदान शिविर का आयोजन टौणी देवी में डायरिया : शिवरात्रि, व्रत, भंडारे या फिर जल शक्ति विभाग का दूषित पेयजल , जांच टीम ने जुटाए फैक्ट्स
-
-
Total Visitor : 1,65,85,759
Copyright © 2017, Himalayan Update, All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy