Tuesday, April 23, 2024
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक आदर्श विद्यालय तकलेच में विश्व पृथ्वी दिवस के उपलक्ष में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया।आबकारी विभाग ने 6805 लीटर अवैध शराब बरामद कीराज्यपाल ने परवाणु में जल जनित रोगों की रोकथाम एवं नियंत्रण संबंधी उपायों की समीक्षा कीप्रदेश में क़ानून व्यवस्था की स्थिति लचर, महिलाओं पर बढ़ रहे अपराध के मामले : डॉ सीमा ठाकुर सरकार उठाएगी पीड़ित बिटिया के इलाज का पूरा खर्च : मुख्यमंत्रीराज्यपाल ने परवाणु में जल जनित रोगों की रोकथाम एवं नियंत्रण संबंधी उपायों की समीक्षा कीसीएम के सुजानपुर दौरे ने भरा कार्यकर्ताओं में जोश , एकजुटता देख सुक्खू का खिला चेहरा मेरा वोट मेरा भविष्य" थीम पर 28 अप्रैल को आयोजित होगी साइकिल रैली
-
दुनिया

सिंगापुर से शिक्षा की नवीन शिक्षण विधियाँ सीखकर लौटे आनी के टीजीटी अध्यापक राजेश शर्मा

-
ब्यूरो 7018631199 | March 17, 2024 08:25 PM
 
आनी,
शिक्षा खंड आनी के अंतर्गत राजकीय माध्यमिक पाठशाला करेढ में कार्यरत टीजीटी अध्यापक राजेश शर्मा. सिंगापुर में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित छः दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला  में शिक्षा की नवीन शिक्षण विधियों का व्यवहारिक ज्ञान लेकरअ वापिस  अपने गृह क्षेत्र लौट आए हैं।प्रदेश  सरकार के सौजन्य से शिक्षा विभाग के  तत्वावधान में आयोजित इस अंतर्राष्ट्रीय अध्यापक प्रशिक्षण कार्यशाला में पूरे जिला कुल्लू से टीजीटी अध्यापक के तौर पर आनी खंड से राजेश शर्मा का नाम चयनित हुआ था। जबकि कार्यशाला में पूरे हिमाचल से प्राथमिक. माध्यमिक. उच्च तथा जमा दो स्तर पर करीब 100 अध्यापकों ने भाग लिया। प्रशिक्षण प्राप्त कर लौटे टीजीटी अध्यापक राजेश शर्मा ने बताया कि यह प्रशिक्षण सिंगापुर देश के शिक्षण संस्थान प्रिंसिपल अकादमी की ओर से  कक्षा कक्ष की नई तकनीकों के बारे में आयोजित किया गया था।
इस सेमिनार में संस्थान के  शिक्षा प्रमुख  डॉ. यो. के. को जोसेम ने आज की 21 वीं सदी में शिक्षण शास्त्र और कक्षा कक्ष में छात्रों की प्रभावशाली सहभागिता किस तरह से हो. इसके लिए  संज्ञानात्मक एव्ं संरचनात्मक मनोवैज्ञानिक सिद्धांतों का व्यवहारिक उपयोग की बहुत सारी गतिविधियां बताई. जबकि एजुकेशन कंसल्टेंट मिस्टर सिमोम रिनॉल्ड ने हिमाचल के 100 अध्यापकों को नवीन शिक्षण विधियों की व्यवहारिक जानकारी प्रदान की।
अध्यापकों ने इस दौरान सिंगापुर के झंगुआ प्राईमरी स्कूल का विजिट भी किया। जहाँ उन्होंने स्कूल के इंफ्रास्ट्रक्चर से लेकर. मैथड ऑफ टीचिंग को करीबी से जाना। उन्होंने जाना कि स्कूली बच्चों को किस तरह लर्निग इटर्स्टिंग और प्रैक्टिकल ज्ञान दिया जाए। 
 इस अंतर्राष्ट्रीय शिक्षण भ्रमण् के लिए कुल्लू जिला से एकमात्र टीजीटी अध्यापक राजेश कुमार शर्मा का भाग लेना पूरे  आनी वाह्य सिराज क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। गौर हो कि टीजीटी अध्यापक राजेश शर्मा वर्ष 2002 से शिक्षा क्षेत्र में अपनी  सराहनीय सेवाएं दे रहे हैं। इन्होंने  शिक्षा विभाग में सभी प्रकार के प्रशिक्षण कार्य में भी स्रोत व्यक्ति के रूप में लंबे समय तक काम किया है।जबकि  टीएलएम प्रतियोगिता में जिला तथा  राज्य  स्तर पर स्थान हासिल किया है। राजेश शर्मा ने राष्ट्रीय स्तर पर सीसीआरटी गोवाहाटी. आरआईई अजमेर. एनसीआरटी. एनआईवी  देहरादून तथा सीआरसी सुंदरनगर में भी प्रशिक्षण लिया है। वहीं सतत संमग्र  मुलयाकांन लागू होने पर पुस्तक संकलन में भी भूमिका निभाई। इनके पढ़ाए हुए कई स्कूली बच्चे नवोदय में चयनित हुए हैं. जबकि कई बच्चे छात्रवृत्तियां भी ले रहे हैं। हाल ही में इनके स्कूल की एसएमसी . जिला स्तर पर द्वितीय स्थान पर बेस्ट एसएमसी रही है। राजेश शर्मा ने सिंगापुर में  अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्राप्त प्राप्त प्रशिक्षण को अपने मेजबान विद्यालय के अलावा पूरे खंड के विद्यालयों में शिक्षण कार्य में नवीन शिक्षण विधियों को अपनाने पर बल दिया। इस अंतर्राष्ट्रीय प्रशिक्षण के लिए राजकीय आदर्श जमा दो विद्यालय आनी के प्रधानाचार्य अमर चन्द चौहान. मिडल स्कूल करेढ़ की एसएमसी अध्यक्षा प्रभा भारती तथा स्कूल संरक्षक बेली राम शर्मा तथा समाजसेवी घनश्याम शर्मा ने राजेश शर्मा को बधाई दी है।
-
-
Have something to say? Post your comment
-
और दुनिया खबरें
-
-
Total Visitor : 1,64,62,546
Copyright © 2017, Himalayan Update, All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy