Tuesday, December 06, 2022
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
शिमला के संजौली में तेज रफ्तार कार ने राहगीर को मारी टक्कर,सीसीटीवी फुटेज वायरलज्ञानवापी मामले में अब भी मुस्लिम पक्ष द्वारा लटकाव, भटकाव वाली नीति; धर्म चंद्र पोद्दार हिमाचल प्रदेश 17वीं राज्य स्तरीय समन्वय समिति - हिमाचल प्रदेश की बैठक आयोजित 30 टीबी रोगियों को पोषण आहार वितरीत हिमालयन अपडेट समाचार पत्र एवं साहित्य सृजन मंच के तत्वावधान में भव्य राष्ट्रीय कवि सम्मेलन एवं सम्मान समारोह आयोजित पुरातन परम्पराएँ पूरी तरह से वैज्ञानिक एवं सूक्ष्म प्रभावों वाली; धर्म चंद्र पोद्दारनिःशुल्क विशेष स्वास्थ्य शिविर में जांचा 118लोगों का स्वास्थ्य समाज हित के कार्यों में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए हिमालयन अपडेट द्वार झारखण्ड के स्पूत पोद्दार को किया जाएगा सम्मानित
-
कविता
नई मोहब्बत

बोलना है तो कुछ बोलिए जनाब क्यों ऐसे चेहरे पर मुस्कान लिए फिरते हैं।

स्मृति

स्मृति के पथ पर ,जो शेष रह गया था

https://youtube.com/channel/UCKCT6PqdI1kkJU6jlYzF62g

ख्वाहिश

ख्वाहिश है मेरी जीतने की , मुझे हारना न सिखाइए।

https://youtube.com/channel/UCKCT6PqdI1kkJU6jlYzF62g

बाधा (चौपाई छंद )
गीता ज्ञान सकल उर धारे  , महिमा उनकी नाम सँवारे |
एक दिन

एक दिन वफ़ा , तुम को भी रास आएगी

कुछ भी नही

न कोई अपना , न कोई पराया।

मेरे शहर में ;राजीव डोगरा

आओ!कभी मेरे शहर में , तुमको  हर एक शख्स़ से , मोहब्बत करना सिखाए।

वह ईश्वर से मांगता है अपने प्रेम को; दीपाली शर्मा आयी मांँ स्वागत करो, छायी खुशी बहार; बिंदु प्रसाद रिद्धिमा माता रानी की देखो सवारी : रीना सिन्हा जगदंबे भवानी मैया तेरा त्रिभुवन में छाया राज है; सुनीता श्रीवास्तव जागृति दुर्गा माँ का आगमन ;रूणा रश्मि'दीप्त' आई एम सॉरी (माता वंदन) ; रेखा पांडेय दुर्गे माँ नवरात्रि में, आतीं हैं हर बार ;गीता चौबे गूँज लाल भगत सिंह भारत माँ का हरदम ही यूँ बोला. ;राजपाल यादव आइए होली का हुड़दंग कर लें ; सुधीर श्रीवास्तव छूटा वो घर , वो आँगन ;रीना सिन्हा कोई फर्क नहीं। कृष्ण कन्हैया खेलें होरी; रुणा रश्मि दीप्त होली खेलूं रे संग नन्दलाल ; डॉ विनय कुमार सिंह रंग दे मोहे गुलाल तेरे इश्क को;राधे मंजूषा कलम हाथ में थाम कर,लिखना है अपनी जज़्बात; विभा वर्मा वाची लिए लिखनी हाथ में हूँ सोच रही मैं आज ; निर्मला कर्ण मुझे बनाना है आशियाने का डिजाइन ; अनिता निधि बहुत दिनों से मैंने तो कुछ लिखा ही नहीं ; पूनम सिन्हा "प्रीत" कभी कभी खुद को खुश रखने के लिए अकेला रहना भी जरूरी है ;अनिता निधि थोड़ी सी नादान हैं थोड़ी सी अनजान हैं; नीता शेखर विषिका कह दे इसे दीवानगी या हमारी रवानगी ; सुनीता श्रीवास्तव, सब्बू वह अकेला गाछ ; अनिता रश्मि लिखने को तो बहुत कुछ है मगर, सोचती हूं ;माया शर्मा (नटखटी) उंगली में थामे पेंसिल क्या लिखूं, क्या उकेरू ;डाॅ उर्मिला सिन्हा ममता की तस्वीर उकेरूँ, निश्छल प्यार लुटाती अम्मा ;गीता चौबे गूँज अकेलापन क्या है? उम्मीदों का टूटना ; राधे मंजूषा उठो-उठो जागो-जागो,हुआ सबेरा, हुआ सबेरा; विभा वर्मा वाची जल्दी-जल्दी बस्ता लेकर , विद्यालय की ओर भागो जी ; शोभा प्रसाद मन के सच्चे दिल से भोले भाले ये बच्चे; डॉ.लाला पिंजरबद्ध पखेरु को जब, खुला आसमां मिल जाये ;दीन दयाल शुक्ला
Total Visitor : 1,36,69715
Copyright © 2017, Himalayan Update, All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy