Friday, October 30, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
-
कविता
दिनकर

 

 हिंदी के महान साहित्यकार #23 सितंबर #जन्मदिन के  अवसर पर 

सिमरिया की माटी को ,
उस "दिनकर "
काव्य अवतारी को।
रोना छोड़ो*

धोना छोड़ो, सबका प्रिय बन जीते रहना।।रचनाकार:डॉ. रामबली मिश्र हरिहरपुरी   

*माँ सरस्वती का अर्चन हो*

माँ सरस्वती का अर्चन हो।
हंसवाहिनी का वंदन हो।।

भावनाएं

भावनाओं में पलते #मन ही मन गलते 

*सुन्दर मन की रचना करना*

जड़ प्रधान यह क्लिष्ट निरंकुश।
इसको चेतन करते रहना।।

हिंद की बेटी हिंदी

संस्कृत, पाली,प्राकृत, अपभ्रंश की,

पीढ़ी -दर -पीढ़ी ....सहेली हूँ।

हिंदी का विकास
  • फैला दो इस विश्व में,अब हिंदी का जाल।
    आये सबकी समझ में,हिंदी की औकात।।
हिंदी दिवस पर हिंदी के प्रति प्रेम को दर्शाती रचनाएं

राजकीय उच्च विद्यालय ठाकुरद्वारा कांगड़ा हिमाचल प्रदेश के  विद्यार्थियों 👉साक्षी👉 संजना 👉 गौरव 👉  पूजा 👉 सुहानी 👉 आकृति  👉 कशिश  👉 खुशबू  👉 राशि  की हिंदी के प्रति प्रेम को दर्शाती रचनाएं